--Advertisement--

Movie Review: निराश नहीं करेगी ‘बाजीराव मस्तानी’

रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा स्टारर फिल्म में रणवीर सिंह ने मराठी योद्धा पेशवा बाजीराव का किरदार निभाया है।

Dainik Bhaskar

Dec 17, 2015, 11:39 PM IST
Movie Review bajirao mastani
फिल्म का नाम

बाजीराव मस्तानी

क्रिटिक रेटिंग

4

स्टार कास्ट

रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा

डायरेक्टर

संजय लीला भंसाली

प्रोड्यूसर

संजय लीला भंसाली

म्यूजिक डायरेक्टर

संजय लीला भंसाली

जॉनर

हिस्टोरिकल लव स्टोरी
'गोलियों की रासलीला रामलीला' जैसी शानदार हिट के बाद संजय लीला भंसाली एक बार फिर अपनी नई फिल्म 'बाजीराव मस्तानी' के साथ ऑडियंस के बीच हैं। इस फिल्म में उन्होंने मराठा पेशवा शासकों की भव्यता को सिनेमा के पर्दे पर दिखाने की कोशिश की है। इसे भंसाली ने अपनी सिग्नेचर स्टाइल में बनाया है। पर्दे पर फिल्म के सेट और कलाकारों द्वारा पहने गए कॉस्ट्यूम उसकी भव्यता को दिखाते हैं। एक्शन सीन्स को वीएफएक्स के जरिए फिल्माया गया है।
फिल्म की कहानी

रणवीर सिंह ने ग्रेट मराठा वॉरियर पेशवा बाजीराव का किरदार निभाया है। बाजीराव एक बढ़िया योद्धा और ऐसा शासक है, जो अपना साम्राज्य फैलाना चाहता है। प्रियंका ने बाजीराव की पत्नी काशीबाई का जबकि, दीपिका ने बाजीराव की दूसरी पत्नी मस्तानी का रोल प्ले किया है। फिल्म में लव स्टोरी प्रमुख एंगल है। मस्तानी से मुलाकात के बाद बाजीराव उसका दीवाना हो जाता है। वह मस्तानी से शादी कर उसे पुणे ले कर आता है। बाजीराव की लाइफ में मस्तानी का आना शाही पेशवा फैमिली को पसंद नहीं आता। बाजीराव की पहली पत्नी काशीबाई भी मस्तानी के दखल को लेकर परेशान हैं। कहानी में बाजीराव-मस्तानी और काशीबाई को लेकर एक जबरदस्त लव ट्राएंगल बनता है। इसी केंद्र में शाही फैमिली में शह-मात का खेल शुरू होता है। इन्हीं तीनों किरदारों पर पूरी फिल्म फोकस है।
कैसी है एक्टिंग और डायरेक्शन

रणवीर, दीपिका और प्रियंका ने उम्दा एक्टिंग की है, जबकि मिलिंद सोमण (पेशवा के एडवाइजर की भूमिका में) और तन्वी आजमी (बाजीराव की मां राधाबाई के रोल में) ने भी अपनी परफॉर्मेंस से फिल्म को नई ऊंचाई दी है। दीपिका और प्रियंका के बीच फिल्माए गए कई सीन कमाल के हैं। इसे देखकर पता चलता है कि वास्तव में क्यों फिल्म की कहानी बाजीराव और मस्तानी पर ही केंद्रित नहीं है। प्रकाश कपाड़िया के लिखे डायलॉग काफी दिन तक याद किए जाएंगे। कहानी के मुताबिक, भंसाली का निर्देशन भी अच्छा ही कहा जाएगा।
म्यूजिक
सभी गाने बेहतर बन पड़े हैं। स्टोरी डिमांड के मुताबिक, म्यूजिक पर मराठी असर साफ़ दिखता है। रिलीज से पहले ही पिंगा और मल्हारी जैसे गानें लोगों की जुबान पर चढ़े हुए हैं।
देखें या नहीं

थिएटर में रियलिस्टिक मूवी देखने वालों को यह पसंद नहीं आएगी। ये उन लोगों के लिए बेहद अच्छी फिल्म साबित होगी, जो बड़े पर्दे पर भव्य सिनेमा देखना चाहते हैं। ‘बाहुबली’ की सक्सेस के बाद स्क्रीन पर शानदार भव्यता देखने वालों को 'बाजीराव-मस्तानी' निराश नहीं करेगी।
X
Movie Review bajirao mastani
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..