रिव्यूज़

--Advertisement--

Movie Review: एक्स मैन: डेज ऑफ फ्यूचर पास्ट

सफलतम एक्स मेन सीरीज की हॉलीवुड फिल्म 'एक्स-मैन : डेज ऑफ फ्यूचर पास्ट' भारतीय मल्टीप्लेक्स में पहुंच गई है।

Dainik Bhaskar

May 24, 2014, 11:50 AM IST
Movie Review of x-men: days of future past
कहानी:
फिल्म म्यूटंट्स की वापसी की कहानी और उनके दुनिया के साथ तालमेल और संघर्ष को बयां करती है। फिल्म अपने पुराने ट्रैक म्यूटंट्स की जिंदगी के लिए जद्दोजहद और उनके अंत में जीतने की कहानी को ही दर्शाती है। मैग्नीटो (मैक्केलेन) और प्रोफेसर एक्स (स्टीवॉर्ट) यह जानकर साथ आते हैं कि म्यूटंट्स मुश्किल स्थितियों से गुजर रहे हैं।
प्रोफेसर एक्स वोल्वरीन को यह समझाने में कामयाब हो जाते हैं कि वोल्वरीन को म्यूटंट्स की भलाई के लिए समय में पीछे लौटकर 1973 में चाल्र्स जेवियर और एरिक लेन्सरर से संपर्क साधना चाहिए। इसके लिए केटी प्राइस वोल्वरीन को समय में पीछे लौटाने के लिए अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करती है।
इतना ही नहीं केटी प्राइस वोल्वरीन को मिस्टीक की आकार बदलने वाली अविश्वसनीय युद्ध कौशल भी देती है। दूसरी ओर म्यूटंट्स को खत्म करने के लिए सेंशेशनल्स को तैयार करने वाला डॉ. बोलिवर भी मिस्टीक की चमत्कारी शक्तियां हासिल करना चाहता है।
फिल्म में वोल्वरीन का किरदार पिछली फिल्मों से अलग है। इस बार वह ज्यादा कूटनीतिक, शांत, समझदार और धैर्य वाला इंसान है। हालांकि ये फिल्म पहले की सीरीज से बिल्कुल अलग और नई लग रही है। इस फिल्म में दो समानांतर ब्रह्मांड हैं और फिल्म में दोनों दुनिया को एक साथ लाने की चुनौती को एनिमेशन और ग्राफिक्स के साथ प्रस्तुत किया गया है। फिल्म को यंगस्टर्स का अच्छा रुझान मिल रहा है।
एक्टिंग: वोल्वरीन के रूप में इस सीरीज की फिल्मों में नजर आने वाले जैकमैन ने फिर से अपनी अदाकारी का लोहा मनवाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। इस फिल्म में वह कुछ बदले जरूर नजर आ रहे हैं, लेकिन उनकी एक्टिंग कहीं भी वोल्वरीन के किरदार को कमजोर नहीं पडऩे देते। इसके अलावा डॉ. बोलिवर ट्रास्क के किरदार में डिंकलेज ने भी शानदार अभिनय किया है।

डायरेक्शन:
फिल्म के निर्देशक ब्रायन सिंगर ने फिल्म की शुरुआत से ही एक्शन दृश्यों में कोई कमी नहीं छोड़ी है। फिल्म म्यूटंट्स और प्रहरियों के टकराव के सीन से शुरू की गई है, जो कि मजेदार बन पड़ा है। निर्देशक ने इस सीरीज की पुरानी फिल्मों से इतर उम्दा ग्राफिक्स का इस्तेमाल कर फिल्म को रोमांचक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। पूरी फिल्म में कहीं भी सिंगर की पकड़ ढीली पड़ती हुई नहीं दिखाई देती है।
क्यों देख सकते हैं फिल्म?
एक्स मैन सीरीज के दीवाने हैं तो जरूर यह फिल्म देखिए। फिल्म में हॉलीवुड की बेहद आधुनिक तकनीक के साथ ग्राफिक्स और सिंगर के डायरेक्शन में यह फिल्म अच्छी बन पड़ी है। बाकी म्यूटंट्स की काल्पनिक दुनिया का रोमांच तो आपको सिनेमाघर तक खींच ही ले आएगा।
X
Movie Review of x-men: days of future past
Click to listen..