रिव्यूज़

--Advertisement--

Movie Review: शानदार

शाहिद कपूर और आलिया भट्ट की 'शानदार' दशहरे के मौके पर रिलीज़ हो गयी है.

Dainik Bhaskar

Oct 22, 2015, 10:59 AM IST
Movie Review: Shandaar

फिल्म का नाम

शानदार

क्रिटिक रेटिंग

2.5/5

स्टार कास्ट

शाहिद कपूर, आलिया भट्ट, पंकज कपूर, संजय कपूर, सुषमा सेठ और सना कपूर

डायरेक्टर

विकास बहल

प्रोड्यूसर

करन जौहर, अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवाने

म्यूजिक डायरेक्टर

अमित त्रिवेदी

जॉनर

ड्रामा-कॉमेडी

'क्वीन' फेम डायरेक्टर विकास बहल की एक और फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। यहां हम बात कर रहे हैं शाहिद कपूर और आलिया भट्ट स्टारर फिल्म 'शानदार' की। ट्रेलर की रिलीज के बाद इस फिल्म से काफी उम्मीदें थीं, लेकिन फिल्म में ट्रेलर जैसी बात नहीं है। डेस्टिनेशन वेडिंग की थीम पर बनी इस फिल्म में शाहिद और आलिया के अलावा पंकज कपूर, सना कपूर और संजय कपूर भी अहम किरदार में हैं। जानते हैं कैसी है फिल्म:

फिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी में कुछ नयापन नई है। या यूं कहें कि पुराने सब्जेक्ट को ही नए तरीके से पेश किया है। फिल्म में दो परिवार है अरोड़ा और फंडवानी, दोनों ही दिवालिया हो चुके हैं, लेकिन दोनों एक-दूसरे का यह राज नहीं जानते। अपनी किस्मत को फिर से रोशन करने के लिए दोनों परिवारों के बीच एक बिजनेस डील होती है, जिसे 'शानदार' नाम दिया जाता है और इसके तहत विपिन अरोड़ा (पंकज कपूर) की बेटी ईशा (सना कपूर) की शादी फंडवानी परिवार के वारिश के भाई (विकास वर्मा) के साथ तय की जाती है, जिसके लिए दोनों परिवार विदेश जाते हैं। अब बात करते हैं आलिया और शाहिद कपूर की। आलिया (आलिया भट्ट) विपिन की नाजायज बेटी हैं, जो अरोड़ा परिवार के साथ ही रहती हैं। आलिया को इनसोमनिया है , जिसे लेकर विपिन हमेशा चिंतित रहते हैं। वेडिंग डेस्टिनेशन पर आलिया की मुलाकात जगजिंदर जोगिंदर (शाहिद कपूर) से होती है और दोनों एक-दूसरे से प्यार करने लगते हैं।हालांकि, उनका मिलना विपिन को नहीं सुहाता और वे हमेशा उन्हें अलग करने की कोशिश में लगे रहते हैं। यानी कि फिल्म में दो कहानियां हैं और दोनों का अंजाम क्या होता है, यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।
विकास बहल का डायरेक्शन
बतौर डायरेक्टर विकास बहल की यह तीसरी फिल्म है। इससे पहले उन्होंने 'क्वीन' (2014) और नितेश तिवारी के साथ 'चिल्लर पार्टी'(2011) को डायरेक्ट कर चुके हैं। 'क्वीन' में उनका डायरेक्शन जबरदस्त था। ऐसे में इस फिल्म से कई उम्मीदें जुड़ना स्वाभाविक था। हालांकि, विकास उन उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए। फिल्म एंटरटेनिंग है, मगर कहानी उतनी दमदार नहीं। फिल्म में वही सारे मसाले हैं, जिन्हें हम कई बार देख चुके हैं। इसके अलावा, कई जगह फिल्म बोर भी करने लगती है।

स्टार कास्ट और एक्टिंग

शाहिद कपूर और आलिया भट्ट की केमिस्ट्री शानदार है। बाप-बेटी के किरदार में पंकज कपूर और आलिया भट्ट की ट्यूनिंग भी मजेदार है। शाहिद कपूर की बहन सना कपूर की यह पहली फिल्म है। हालांकि, वे अपने रोल में फिट बैठी हैं। संजय कपूर की एक्टिंग में खास नहीं है।
फिल्म का संगीत
फिल्म का संगीत पहले ही दर्शकों की जुवान पर चढ़ चुका है। 'गुलाबो', 'रायता फैल', 'नींद न मुझको आए' और 'शाम शानदार' जैसे गाने अच्छे हैं। इसके अलावा, फिल्म में एक कव्वाली भी है 'सेंटल वाली मेंटल', जो ठीकठाक है।

देखें या नहीं

फिल्म की कहानी में नयापन नहीं हैं, लेकिन शाहिद-आलिया और पंकज कपूर की केमिस्ट्री एंटरटेन करती है। यानी कि फिल्म सिर्फ और सिर्फ शाहिद और आलिया के फैन्स के लिए है। बाकी लोग भी चाहें तो अपनी रिस्क पर एक बार देख सकते हैं।
X
Movie Review: Shandaar
Click to listen..