विज्ञापन

Movie Review: 'गॉडजिला'

Dainik Bhaskar

May 16, 2014, 05:55 PM IST

आज रिलीज हुई हॉलीवुड फिल्म 'गॉडजिला' का इसकी पिछली फिल्मों से कोई लिंक नहीं है। हर बार गॉडजिला के कारण आफत झेल रहे मानव इस बार गॉडजिला के कारण अपनी सभ्यता बचा पाते हैं।

movie review: the godzilla
  • comment
आज रिलीज हुई हॉलीवुड फिल्म 'गॉडजिला' का इसकी पिछली फिल्मों से कोई लिंक नहीं है। हर बार गॉडजिला के कारण आफत झेल रहे मानव इस बार गॉडजिला के कारण अपनी सभ्यता बचा पाते हैं।
फिल्म गॉडजिला का नया संस्करण मानव द्वारा धरती के साथ की गई ज्यादतियों और फिर पृथ्वी के प्रतिशोध का चित्रण करती है। यह परमाणु हथियारों के खतरे को सामने लाती है। विज्ञान फंतासी इन फिल्मों को 'क्लाइमेट फिक्शन' के नाम से जाना जाता है। इनमें रोमांच के साथ-साथ पर्यावरण के विनाश को केंद्र में रखा जाता है।

फिल्म की कहानी परमाणु कचरे के स्टोरेज की सुरक्षा पर केंद्रित है। हमने जो प्रकृति का विनाश किया है, गॉडजिला के रूप में प्रकृति हमें दंड देती है। इस ताने-बाने के साथ फिल्म 1999 में शुरू होती है, जब जापान के परमाणु रिएक्टर में भयानक तबाही मचती है, लेकिन इसका कारण किसी को नहीं पता।
15 साल बाद पता चलता है कि उस तबाही का कारण एक ऐसा दैत्याकार जीव है, जो रेडिएशन को खा-पीकर जीवित रहता है। वह परमाणु रिएक्टरों, बमों की तलाश में इंसानी बस्तियों में घुस जाता है। फिर मचती है ऐसी तबाही, जिसमें पूरी मानव सभ्यता बिलख पड़ती है।

इस बिग बजट फिल्म में स्पेशल इफेक्ट्स शानदार ढंग से फिल्माए गए हैं। फिल्म का रोमांच शुरू से अंत तक एक-सा रहता है। क्लाइमेक्स में सांसें रुक-सी जाती हैं। गॉडजिला और दैत्याकार जीव की लड़ाई रोमांचक है। बच्चों की छुट्टियां चल रही हैं, उन्हें गॉडजिला का रोमांच भाएगा, लेकिन फिल्म में कई किसिंग सीन भारत के ऑडियंस को बच्चों के साथ फिल्म देखने में असहज लगेगा।

X
movie review: the godzilla
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन