--Advertisement--

Movie Review: 'टू स्टेट्स'

चेतन भगत के उपन्यास 'टू स्टेट्स' पर आधारित फिल्म टू स्टेट्स रिलीज़ हो गई है।

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2014, 05:06 PM IST
movie review: two states

कहानी: फिल्म की कहानी कृष मल्होत्रा (अर्जुन कपूर) और अनन्या स्वामीनाथन (आलिया भट्ट) के इर्द-गिर्द घूमती है।दोनों की मुलाकात आईआईएम, अहमदाबाद में होती है। दोनों एक-दूसरे से बेहद प्यार करने लगते हैं। कोर्स ख़त्म होते-होते दोनों शादी करने का फैसला कर लेते हैं, मगर असली मुसीबतों का दौर यहीं से शुरू होता है। आमतौर पर लड़का और लड़की राजी हों तो शादी हो जाती है, मगर इंडिया में ऐसा नहीं होता।

यहां लड़का लड़की को प्यार करता है। लड़की लड़के को प्यार करती है। लड़की के परिवार के लिए भी लड़के को प्यार करना जरूरी है। लड़के के परिवार को भी लड़की को प्यार करना जरूरी है। लड़के के परिवार को लड़की का परिवार पसंद आना भी जरूरी है तो लड़की की फैमिली को भी लड़के की फैमिली पसंद आना जरूरी है। कृष-अनन्या की लव स्टोरी में भी यहीं से ट्विस्ट आता है। दोनों की फैमिली एक-दूसरे को फूटी आंख तक देखना नहीं चाहती। ऐसे में, इनकी लव स्टोरी किस अंजाम तक पहुंच पाती है, यह देखने के लिए आपको सिनेमाघर का रुख करना पड़ेगा।

कैसी है एक्टिंग: पिछले दिनों आई कई बेसिर-पैर की फिल्मों के बीच 'टू स्टेट्स' दर्शकों के लिए एक राहत लेकर आई है। फिल्म में एक बढ़िया कहानी है और उससे भी ज्यादा दमदार कलाकारों की एक्टिंग है। अनन्या के किरदार में आलिया बेहतरीन लगी हैं। 'हाईवे' के बाद उन्होंने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वह एक एक्टिंग के मामले में बहुत आगे जाने वाली हैं।

इस फिल्म में उनकी परफॉरमेंस उन्हें बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्रियों की लिस्ट में लाकर खड़ा कर देगी। वहीं, 'इशकजादे' और 'गुंडे' जैसी फिल्मों में रफ-टफ किरदार निभाने वाले अर्जुन ने कृष के रोल में जान डाल दी है। एक सीधे-सादे मासूम से कृष के रूप में अर्जुन को देखकर आप उनसे इम्प्रेस हुए बिना रह नहीं पाएंगे। आलिया के साथ अर्जुन की केमिस्ट्री भी शानदार है। बाकी कलाकारों में रोनित रॉय, अमृता सिंह और रेवती ने भी अपने किरदारों के साथ न्याय किया है।

कैसा है निर्देशन: किसी नॉवेल पर फिल्म बनाना आसान नहीं होता, क्योंकि लोग फिल्म की कहानी से पहले से ही वाकिफ होते हैं। ऐसे में अभिषेक वर्मन तारीफ के काबिल हैं, जिन्होंने फिल्म का बिलकुल सटीक निर्देशन किया। अगर आपने चेतन भगत का नॉवेल पढ़ा भी है तो भी आप फिल्म से बोर नहीं होंगे। हां, जिन्होंने 'टू स्टेट्स' उपन्यास नहीं पढ़ा, उन्हें फिल्म देखने में और मजा आएगा।

क्या देखने लायक है फिल्म?

‘टू स्टेट्स’ एक कम्प्लीट फैमिली एंटरटेनिंग फिल्म है। फिल्म यूथ बेस्ड सब्जेक्ट पर आधारित है और इसमें मारधाड़, गाली-गलौच जैसा कुछ भी नहीं। अगर आपने नॉवेल पढ़ी है तो भी आप फिल्म को देख सकते हैं।

X
movie review: two states
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..