--Advertisement--

Movie Review: 'टॉयलेट: एक प्रेमकथा'

अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की फिल्म 'टॉयलेट: एक प्रेमकथा' सामाजिक मुद्दे पर बेस्ड है।

Danik Bhaskar | Aug 11, 2017, 10:41 AM IST

रेटिंग 2.5/5
स्टार कास्ट अक्षय कुमार, भूमि पेडनेकर, अनुपम खेर, सना खान
डायरेक्टर श्री नारायण सिंह
म्यूजिक विकी प्रसाद, मानस-शिखर
प्रोड्यूसर अरुणा भाटिया, शीतल भाटिया
जॉनर सोशल ड्रामा

अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर स्टारर फिल्म 'टॉयलेट: एक प्रेमकथा' सिनेमा हॉल में रिलीज हो गई है। वैसे तो अक्षय की ये फिल्म ट्रेलर के बाद से ही चर्चा में रही है। लेकिन कैसी बनी है ये फिल्म? आइए जानते हैं:

कहानी
यह कहानी गांव में रहने वाले केशव यानी अक्षय कुमार और जया यानी भूमि पेडनेकर की है। कहानी की शुरुआत केशव से होती है जो मांगलिक है। इसी वजह से उसकी शादी पहले भैंस से कराई जाती है यहीं उसकी मुलाकात जया से होती है। पहली की नजर में केशव को जया के प्यार हो जाता है और दोनों की लव स्टोरी आगे बढ़ती है। शादी के बाद जब जया, केशव के घर आती है तो उसे पता चलता है कि उसके घर में टॉयलेट नहीं है। ऐसे में ये बात उसे बहुत परेशान करती है। टॉयलेट न होने की वजह से केशव अपनी पत्नी को कभी दूसरों के घर, तो कभी ट्रेन में लेकर जाता है। एक दिन तंग आकर जया टॉयलेट की वजह से घर छोड़ देती है और कहती है कि वो तभी वापस आएगी जब घर में टॉयलेट होगा। अब केशव के घर में टॉयलेट बनेगी या नहीं? क्या जया वापस आएगी? ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

डायरेक्शन
फिल्म का डायरेक्शन अच्छा है। जैसा कि कहानी गांव की है ऐसे में सभी सीन्स रियल लोकेशन पर पिक्चराइज्ड किए गए हैं। फिल्म में एक खास मुद्दे की तरफ आपका ध्यान आकर्षित होता है लेकिन इसे और बेहतर तरीके से बता सकते थे। कहीं-कहीं कहानी थोड़ी बोर करती है हालांकि बैकड्रॉप ठीक है।

स्टारकास्ट की परफॉर्मेंस
फिल्म में अक्षय की एक्टिंग कमाल की है। वहीं भूमि ने भी उनका बखूबी साथ दिया है। कहानी दोनों के इर्द-गिर्द है ऐसे में पूरा फोकस इन पर रहता है। बाकी स्टार्स अनुपम खेर, सुधीर पांडे, देवेंदू शर्मा, अतुल श्रीवास्तव का काम अच्छा है। परफॉरमेंस के हिसाब से फिल्म बढ़िया है।

फिल्म का म्यूजिक
फिल्म का म्यूजिक कहानी के साथ-साथ चलता है। स्क्रीनप्ले में गाने अच्छे हैं हालांकि एक-दो को देखकर ऐसा लगता है कि उन्हें जबरदस्ती डाला गया है।

देखें या नहीं
अगर आप रियल मुद्दों पर सोशल ड्रामा फिल्म देखना पसंद करते हैं तो आप ये फिल्म देख सकते हैं।