Movie Review: उंगली / Movie Review: उंगली

फिल्म चार लोगों के एक ग्रुप की भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई पर आधारित है।

dainikbhaskar.com

Nov 28, 2014, 08:47 AM IST
Ungli Movie Review
करप्शन के मुद्दे पर पहले भी 'सत्याग्रह', 'स्पेशल 26' और 'सिंघम रिटर्न्स' जैसी कई फिल्में आ चुकी हैं और इसी कड़ी में अब आई है 'उंगली', जो चार लोगों के एक गैंग की कहानी है। एक ऐसा गैंग जो करप्ट सिस्टम को सबक सिखाने के लिए अपना एक अलग रास्ता चुनता है। फिल्म का एक डायलॉग है 'जब घी सीधी और टेढ़ी दोनों उंगली से न निकले तो बीच का रास्ता अपनाना पड़ता है'। इस एक डायलॉग को फिल्म की पूरी थीम माना जा सकता है।
फिल्म की कहानी :
कहानी के अनुसार माया (कंगना रनोट), अभय ( रणदीप हुड्डा), तीस्था (नेहा धूपिया) और कलीम (अंगद बेदी) की एक गैंग है 'उंगली', जो करप्ट लोगों को सबक सिखाने के लिए तैयार की गई है। वे अपने उस दोस्त का बदला लेना चाहते हैं, जो एक करप्ट बिजनेसमैन की वजह से कॉमा में चला जाता है। इस दौरान 'उंगली' गैंग करप्ट लोगों को बहुत ही दिलचस्प सजाएं देता है। जैसे भ्रष्ट पुलिसवाले को नोट खिलाना। वे इनके वीडियोज बनाकर टीवी चैनल्स पर भी भेजते हैं, जिन्हें देखकर पुलिस-प्रशासन परेशान हो जाता है। पुलिस ऑफिसर्स के किरदारों में संजय दत्त और इमरान हाशमी कैसे उंगली गैंग से निपटते हैं, यह पढ़ने से ज्यादा देखने में मजा आएगा।
रेंसिल डिसिल्वा का निर्देशन :
रेंसिल डिसिल्वा का निर्देशन कई जगह लचर नजर आता है। इसे और भी कंट्रोल किया जा सकता था। फिल्म में कई सीन काफी लंबे कर दिए गए, जो बोझिल लगते हैं। हालांकि, फिल्म अंत तक दर्शकों को बांधे रखती है। कॉन्सेप्ट काफी अच्छा है, लेकिन रेंसिल को निर्देशन पर थोड़ा-सा ध्यान और देना चाहिए था।
कैसी है स्टार्स की एक्टिंग :

फिल्म में इमरान हाशमी, रणदीप हुड्डा और संजय दत्त ने अच्छी एक्टिंग की है, लेकिन 'क्वीन' और 'रिवॉल्वर रानी' में अपनी एक्टिंग से तारीफें बटोर चुकीं कंगना ने इस फिल्म में ऑडियंस को निराश किया है। बाकी स्टार्स की एक्टिंग भी ठीक-ठाक है।
बड़ा सवाल : देखें या नहीं?
'उंगली' एक इंट्रेस्टिंग कॉन्सेप्ट को लेकर बनाई गई है। फिल्म में इमरान, संजय और रणदीप ने काम भी अच्छा किया है। ऐसे में कम से कम एक बार इस फिल्म को देखा जा सकता है।
X
Ungli Movie Review
COMMENT