विज्ञापन

MOVIE REVIEW: नई सोच के बावजूद कहानी से भटकी \'वेलकम टू कराची\' / MOVIE REVIEW: नई सोच के बावजूद कहानी से भटकी 'वेलकम टू कराची'

dainikbhaskar.com

May 29, 2015, 12:12 PM IST

रोहित शेट्टी के असिस्टेंट डायरेक्टर रह चुके आशीष आर मोहन 'खिलाड़ी नंबर 786 ' के बाद अब ‘वेलकम टू कराची’ लेकर आए हैं।

Welcome to Karachi
  • comment

(अरशद वारसी और जैकी भगनानी)

फिल्म का नाम वेलकम टू कराची

क्रिटिक रेटिंग

2/5

स्टार कास्ट

अरशद वारसी, जैकी भगनानी , लॉरेन गॉटलिब

डायरेक्टर

आशीष आर मोहन

प्रोड्यूसर

वाशु भगनानी

म्यूजिक डायरेक्टर

जीत गांगुली, रोचक कोहली

जॉनर

कॉमेडी ड्रामा
कहानी
'वेलकम टू कराची एक राजनीतिक व्यंग्य है।' इसकी कहानी दो दोस्तों शम्मी (अरशद वारसी) और केदार पटेल (जैकी भगनानी) के इर्द-गिर्द घूमती है। ये गुजरात के जामनगर के रहने वाले हैं। दोनों दोस्त एक ऐसे आदमी के लिए काम करते हैं, जिसके पास शादियों में दी जाने वाली एक बोट है। ये अमेरिका जाने का प्लान बनाते हैं। लेकिन एक हादसे की वजह से दोनों कराची पहुंच जाते हैं। उन्हें वहां भारतीय जासूस और दहशतगर्द समझा जाता है। दो अलग-अलग तरह के गुट उनका फायदा उठाते हैं। उनकी कुछ हरकतों की वजह से उन्हें पाकिस्तान में भी पहचान मिल जाती है। फिल्म में जहां कॉमेडी का तड़का है, वहीं दोनों किरदारों के डायलॉग्स में व्यंग्य भी छुपा है।
एक्टिंग
एक्टर अरशद वारसी की काबिलियत से कौन वाकिफ नहीं है। फिल्म देखकर ऐसा लगता है कि अरशद की क्षमता का और भी इस्तेमाल किया जा सकता था। हालांकि, अरशद का अभिनय भी फिल्म में जान नहीं फूंक नहीं सका। जैकी की एक्टिंग खराब नहीं, तो बहुत अच्छी भी नहीं कही जा सकती है। पिछली फिल्मों की तुलना में इस बार उनके अभिनय में सुधार है। वहीं, ISI की एजेंट बनी अभिनेत्री लॉरेन गॉटलिब को इस फिल्म में ज्यादा कुछ करने का मौका नहीं मिला।
फिल्म का डायरेक्शन
कई बार ऐसा होता है कि कहानी का आइडिया तो अच्छा होता है, लेकिन उसको कहने के तरीके और प्रस्तुतिकरण में जब कहीं चूक हो जाती है, तो फिल्म बिखराव की तरफ जाने लगती है। बेशक इस फिल्म की सोच तो अच्छी है, मगर हास्य और व्यंग्य के घालमेल में दर्शकों का मजा कहीं पीछे छूट गया है।
संगीत
फिल्म का संगीत अगर बेहतर नहीं है, तो बहुत खराब भी नहीं है। इसके गाने सुने जा सकते हैं। संगीतकार रोचक कोहली और जीत गांगुली ने इसके गानों को अपनी धुनों से पिरोया है।
फिल्म क्यों देखे
एक्टर अरशद वारसी के लिए ये फिल्म देखी जा सकती है। क्योंकि इसमें उनकी जबरदस्त कॉमिक टाइमिंग आपको देखने को मिलेगी।

X
Welcome to Karachi
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन