--Advertisement--

UPSC में फेल हुए तो चले गए थे डिप्रेशन में, कुछ ऐसी है TV के रामदेव की कहानी

एक्टर क्रांति झा बायोपिक 'एम. एस. धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी' में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त के किरदार में दिख चुके हैं।

Danik Bhaskar | Feb 16, 2018, 03:38 PM IST
'स्वामी रामदेव' के सेट पर क्रांति झा। 'स्वामी रामदेव' के सेट पर क्रांति झा।

मुंबई. ये हैं(ऊपर फोटो में) एक्टर क्रांति झा, जो बायोपिक 'एम. एस. धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी' में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त के किरदार में दिख चुके हैं।कभी आईपीएस बनने का सपना देखने वाले क्रांति इन दिनों वे टीवी सीरियल 'रामदेव' में नजर आ रहे हैं। हाल ही में DainikBhaskar.com से खास बातचीत में क्रांति ने अपनी लाइफ और रोल के बारे में बताया। डॉक्टर पिता के बेटे, बनना चाहते थे आईपीएस...

- क्रांति बिहार के भागलपुर के रहने वाले हैं। उनके पिता देवचंद्र झा डॉक्टर थे। उनका कई जगह ट्रांसफर हुआ।इसलिए क्रांति की पढ़ाई देश के कई स्कूलों से हुई है। ग्रैजुएशन उन्होंने हिंदू कॉलेज से किया है।
- क्रांति के पिता चाहते थे कि वे आईपीएस ऑफिसर बनें। यहां तक कि क्रांति सिविल एग्जाम्स में बैठ चुके हैं। सिर्फ 4 नंबर से उनका UPSC में सिलेक्शन होते-होते रह गया था।
- UPSC में सिलेक्शन न होने की वजह से क्रांति डिप्रेशन में चले गए थे और इससे उबरने के लिए वे मुंबई आ गए।
-उन्होंने यहां मॉडलिंग में किस्मत आजमाई और फिर कभी पलटकर नहीं देखा। उन्हें एक ऐड के लिए पहली सैलरी के तौर पर सिर्फ 300 रुपए मिले थे।
- फिल्मों की बात करें तो क्रांति 'एम.एस. धोनी...' के अलावा रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण स्टारर 'राम लीला' में भी नजर आ चुके हैं।


4-5 लुक टेस्ट के बाद हो गए थे रामदेव के रोल के लिए सिलेक्ट, पढ़ें आगे की स्लाइड्स...

4-5 लुक टेस्ट के बाद हो गए थे रामदेव के रोल के लिए सिलेक्ट

 

- क्रांति बताते हैं, "मेरा मानना है कि भगवान भी चाहते थे कि मैं यह रोल करूं।  जब मैंने पहली बार ऑडिशन दिया तो रिजेक्ट हो गया था। लेकिन 3-4 लुक टेस्ट देने के बाद मुझे स्वामी रामदेव के किरदार के लिए फाइनल कर लिया गया।"
- "यकीन मानिए, यह मेरे लिए सपने के सच होने जैसा है। मैं बाबा की जिंदगी से काफी रिलेट करता हूं। मैं उनकी हर बात को अपनी जिंदगी में फॉलो करता हूं। पर्दे पर उनका रोल कर मैं खुद को ब्लेस्ड महसूस कर रहा हूं।"

पहले रोल को लेकर सहम गए थे क्रांति 

 

- बकौल क्रांति, "जब मैंने प्रोजेक्ट साइन किया तो पहले बाबा के रियल लाइफ योगासन को लेकर सहमा हुआ था।  कोई एक-दो महोने में योग नहीं सीख सकता। इसकी प्रैक्टिस के लिए समय की जरूरत होती है।"
- "मैंने इसे करना शुरू किया, लेकिन हां इसमें कुछ समय लगेगा। इसके अलावा, मैंने बाबाजी के साथ उनके हरिद्वार आश्रम में कुछ समय भी बिताया। मैंने उन्हें और उनकी बॉडी लैंग्वेज को पर्सनली ऑबजर्व किया, ताकि अपने कैरेक्टर को अच्छे से निभा सकूं।"

रामदेव के कैरेक्टर में आने में लगता है एक घंटे का वक्त 

 

- सेट पर क्रांति को बाबा रामदेव के कैरेक्टर में ढलने में 45 मिनट्स से 1 घंटे का समय लगता है। 
- इसे लेकर क्रांति कहते हैं, "ज्यादातर समय दाढ़ी और बड़े-बड़े बालों में बीतता है। पूरे लुक में ढलने के लिए 45 मिनट्स से 1 घंटे का समय लगता है। कॉस्टयूम बहुत आसान और सहज है। इसलिए इसे पहनने में ज्यादा समय नहीं लगता।"