--Advertisement--

TV के इस राम को देख हाथ जोड़ लेते हैं लोग, फिल्मों में भी किया है काम

अरुण गोविल एक ऐसे अभिनेता हैं, जो साल 1986 से अब तक भगवान राम की छवि से बाहर नहीं निकल पाए हैं।

Dainik Bhaskar

Oct 22, 2015, 02:10 PM IST
फाइल फोटो : अरुण गोविल और उनकी बेटी सोनिका फाइल फोटो : अरुण गोविल और उनकी बेटी सोनिका
मुंबई. अरुण गोविल एक ऐसे अभिनेता हैं, जो साल 1986 से अब तक भगवान राम की छवि से बाहर नहीं निकल पाए हैं। टीवी के फेमस शो 'रामायण' को करीब 27 साल हो चुके हैं, लेकिन आज भी अरुण गोविल टीवी के राम के रूप में ही पहचाने जाते हैं। एक इंटरव्यू के दौरान खुद अरुण ने यह खुलासा किया था कि आज भी कई जगह उन्हें देखकर लोग हाथ जोड़ने लगते हैं। ऐसा नहीं है कि अरुण ने 'रामायण' के अलावा किसी अन्य टीवी सीरियल या फिल्मों में काम नहीं किया है, लेकिन जितनी लोकप्रियता उन्हें राम बनकर मिली वह किसी अन्य टीवी सीरियल या फिल्म से नहीं मिल सकी। जानते हैं उनके बारे में कुछ बातें :


राम नगर में जन्मे थे टीवी के राम


टीवी के राम यानी अरुण गोविल का जन्म 12 जनवरी 1958 को राम नगर (मेरठ) उत्तर प्रदेश में हुआ था। जब वे मेरठ यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे थे, तब उन्होंने कुछ नाटकों में काम किया था। टीनेज लाइफ उनकी सहारनपुर में बीती। अरुण के पिता चाहते थे कि वे सरकारी नौकरी करें, लेकिन खुद अरुण ऐसा कुछ करना चाहते थे, जो हमेशा के लिए उनको यादगार बन जाए। इसी के चलते वे बिजनेस के करने के उद्देश्य से मुंबई आ गए और बाद एक्टिंग का रास्ता चुना।


बड़े परदे पर मिला पहला ब्रेक


अरुण को पॉपुलैरिटी भले ही छोटे परदे के राम बनने के बाद मिली, लेकिन उन्हें पहला ब्रेक 1977 में ताराचंद बडजात्या की फिल्म 'पहेली' में मिला था। उसके बाद उन्होंने 'सावन को आने दो' (1979),'सांच को आंच नहीं' (1979), 'इतनी सी बात' (1981), 'हिम्मतवाला' (1983), 'दिलवाला' (1986), 'हथकड़ी' (1995) और 'लव कुश' (1997) जैसी कई बॉलीवुड फिल्मों में अहम भूमिका निभाई है।
छोटे परदे पर राम बनने से पहले मिला विक्रमादित्य का रोल

रामानंद सागर ने अरुण गोविल को सबसे पहले सीरियल 'विक्रम और बेताल' में राजा विक्रमादित्य का रोल दिया। इसकी अपार सफलता के बाद 1987 में 'रामायण' में भगवान राम का रोल अरुण ने निभाया। इस रोल से वे इतने पॉपुलर हुए कि आज भी लोग उन्हें टीवी के राम कहकर ही बुलाते हैं। वैसे, अरुण ने 'लव कुश' (1989), 'कैसे कहूं' (2001), 'बुद्धा' (1996), 'अपराजिता', 'वो हुए न हमारे' और 'प्यार की कश्ती में' जैसे कई पॉपुलर टीवी सीरियल्स में काम किया है।



अरुण की फैमिली


अरुण अपने पिता की आठ संतानों (6 बेटे और दो बेटियां) में चौथे नंबर पर आते हैं। उनकी पत्नी का नाम श्रीलेखा गोविल है। अरुण और श्रीलेखा की दो संतानें हैं। बेटे का नाम अमल और बेटी का नाम सोनिका गोविल है।



नोट : 22 अक्टूबर को देशभर में विजयादशमी का त्योहार मनाया जाएगा, जिसे अत्याचारी रावण पर भगवान राम की जीत के प्रतीक के रूप में देखा जाता है। इस मौके पर dainikbhaskar.com की विशेष प्रस्तुति।

आगे की स्लाइड में देखें पत्नी, बेटा, बहू और फ्रेंड्स के साथ अरुण गोविल की कुछ फोटोज...

दाएं से, अरुण गोविल, उनकी बहू, बेटा अमल और पत्नी श्रीलेखा दाएं से, अरुण गोविल, उनकी बहू, बेटा अमल और पत्नी श्रीलेखा
अरुण गोविल अरुण गोविल
पत्नी श्रीलेखा के साथ अरुण गोविल पत्नी श्रीलेखा के साथ अरुण गोविल
अरुण गोविल (बाएं) दोस्तों के साथ अरुण गोविल (बाएं) दोस्तों के साथ
पत्नी श्रीलेखा(बाएं) और उनकी एक फ्रेंड के साथ अरुण गोविल पत्नी श्रीलेखा(बाएं) और उनकी एक फ्रेंड के साथ अरुण गोविल
नितीश भारद्वाज और अनूप जलोटा के साथ अरुण गोविल नितीश भारद्वाज और अनूप जलोटा के साथ अरुण गोविल
अरुण गोविल और सुनील लहरी अरुण गोविल और सुनील लहरी
X
फाइल फोटो : अरुण गोविल और उनकी बेटी सोनिकाफाइल फोटो : अरुण गोविल और उनकी बेटी सोनिका
दाएं से, अरुण गोविल, उनकी बहू, बेटा अमल और पत्नी श्रीलेखादाएं से, अरुण गोविल, उनकी बहू, बेटा अमल और पत्नी श्रीलेखा
अरुण गोविलअरुण गोविल
पत्नी श्रीलेखा के साथ अरुण गोविलपत्नी श्रीलेखा के साथ अरुण गोविल
अरुण गोविल (बाएं) दोस्तों के साथअरुण गोविल (बाएं) दोस्तों के साथ
पत्नी श्रीलेखा(बाएं) और उनकी एक फ्रेंड के साथ अरुण गोविलपत्नी श्रीलेखा(बाएं) और उनकी एक फ्रेंड के साथ अरुण गोविल
नितीश भारद्वाज और अनूप जलोटा के साथ अरुण गोविलनितीश भारद्वाज और अनूप जलोटा के साथ अरुण गोविल
अरुण गोविल और सुनील लहरीअरुण गोविल और सुनील लहरी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..