• Home
  • Entertainment News
  • Gossip
  • अनिल कपूर, फिल्म इंडस्ट्री में अनिल कपूर ने पूरे किए 35 साल, Anil Kapoor Completed 35 Years In Film Industry Some Interesting Facts
--Advertisement--

अनिल कपूर ने फिल्म इंडस्ट्री में पूरे किए 35 साल, बोले- मेरी मूछें, छोटी आंखें, लंबे बाल होने की वजह से लोगों को लगा था मैं काम नहीं कर पाऊंगा

1983 में आई फिल्म 'वो 7 दिन' से अनिल कपूर ने इंडस्ट्री में कदम रखा था

Danik Bhaskar | Jun 24, 2018, 03:43 PM IST

मुंबई. अनिल कपूर को फिल्म इंडस्ट्री में 35 साल पूरे (23 जून) हो गए है। 61 साल के होने के बाद आज भी अनिल फिल्मों में एक्टिव हैं। अनिल ने एक एंटरनेटमेंट वेबसाइट को इंटरव्यू देते हुए अपने फिल्मी करियर पर बात की। उन्होंने कहा- 'जब मैंने इंडस्ट्री में कदम रखने की सोची तो कई लोगों को लगा था कि मैं नहीं कर पाऊंगा। क्योंकि मेरी मूछें थी, आंखे छोटी थी, मेरे लंबे बाल और मैं बहुत पतला भी था। लेकिन मैंने किसी की परवाह नहीं की। मैं कॉन्फिडेंट था कि मैं हीरो बनूंगा'। उन्होंने 1983 में आई फिल्म 'वो 7 दिन' से बतौर लीड एक्टर इंडस्ट्री में कदम रखा था।

- एक सवाल के जवाब में अनिल ने कहा- 'जब से मैंने होश संभाला तभी से मैंने तय कर लिया था कि मैं एक्टर बनूंगा। मैं ऑडिशन के लिए गया और सिलेक्ट भी हुआ। मुझे ये सुनकर बुरा लगता है जब लोग कन्फ्यूज होते हैं और तय नहीं कर पाते कि आखिर वे करना क्या चाहते हैं'।
- अकादमिक करियर पर बात करते हुए अनिल ने कहा- 'मैं अकादमिक फील्ड में आगे नहीं जाना चाहता था, लेकिन मैं पास होने लायक पढ़ाई करता था। मेरी मंजिल एक्टर बनना ही थी। मैं अर्पणा सेन श्याम बेनेगल, मणिरत्नम, मृणाल सेन के पास गया और मुझे काम मिला'। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा- 'मेरी डेब्यू फिल्म 'वो 7 दिन' तैयार थी, लेकिन फिर भी मैंने 'शक्ति' फिल्म में छोटा सा रोल करना स्वीकार किया। इसकी वजह थी दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन। मुझे लगा पता नहीं इन दो हस्तियों के साथ काम करने का मौका दोबारा मिले या न मिले'।
- मल्टी स्टारर फिल्मों में काम करने को लेकर अनिल ने कहा, यदि स्क्रिप्ट अच्छी है तो फिल्म करने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। मल्टी स्टारर फिल्म में कभी भूमिका छोटी तो कभी बड़ी होती है, लेकिन पैसा तो मिलता ही है।
- जैकी श्रॉफ के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, 'जब मैं इंडस्ट्री में आया तब वे बड़े स्टार बन गए थे। हम दोनों के बीच हमेशा हेल्दी कॉम्पिटिशन रहा। वर्ना हमने साथ 12 फिल्में नहीं की होती'।


कभी कमजोर नहीं रहा करियर
अनिल ने इंटरव्यू के दौरान बताया, उनका करियर कभी कमजोर नहीं रहा क्योंकि उन्होंने हमेशा अच्छे डायरेक्टर्स के साथ काम किया। 'रूप की रानी चोरों का राजा' फिल्म फ्लॉप होने के बाद उन्होंने पहलाज निहलानी के साथ फिल्म 'अंदाज' लाइन की। लेकिन बाद भी उन्हें लगा कि ये फिल्म उन्हें नहीं करनी थी। फिल्म में डबल मिनिंग गाने थे, जिसके बारे में पहले से पता नहीं था। जब ऑब्जेक्शन उठाया तो निहलानी ने कहा फिल्म छोड़ दो, लेकिन कमिटमेंट था तो फिल्म करनी पड़ी।


इन फिल्मों में किया काम
अनिल कपूर ने 'मशाल' (1984), 'मेरी जंग' (1985), 'कर्मा' (1986), 'मि. इंडिया' (1986), 'तेजाब' (1988), 'परिंदा' (1989), 'लम्हे' (1991), '1942 ए लव स्टोरी' (1994), 'नायक' (2001), 'नो एंट्री' (2005), 'रेस' 2 (2012), 'वेलकम बैक' (2015) जैसी फिल्मों में काम किया है। उनकी अपकमिंग फिल्म 'फन्ने खां', 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा' और 'टोटल धमाल' हैं। ये तीनों फिल्में इसी साल रिलीज होगीं।