--Advertisement--

डिप्रेस्ड लोगों की मदद करेंगे अनुपम खेर, वीडियो शेयर कर कहा- साथ मिलकर रोशनी ढूंढ ही लेंगे, बस हाथ बढ़ाने की देर है

Dainik Bhaskar

Jun 18, 2018, 06:55 PM IST

अनुपम खेर ने कहा कि जब हम छोटे तो बेधड़क जीते थे, लेकिन फिर हम एक्टिंग करना सीख जाते हैं।

anupam kher helps people fight depression watch video

बॉलीवुड डेस्क। बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो मैसेज पोस्ट किया है। ये वीडियो मैसेज खासतौर से उन लोगों के लिए है जो डिप्रेशन का शिकार होते हैं। अनुपम ने अपने वीडियो की शुरुआत में कहा कि 'शुरू के 5 साल तक तो हम खुलकर रहते हैं, लेकिन जैसे-जैसे हम बड़े होते जाते हैं, एक्टिंग करना सीख जाते हैं।' उन्होंने कहा कि 'मैंने डिप्रेशन को काफी करीब से देखा है और मैं जानता हूं कि अगर कोई साथ हो तो हौंसले कम ही बुझते हैं।' इस ट्वीट को अभी तक 300 से ज्यादा बार रीट्वीट और 1200 से ज्यादा बार लाइक किया जा चुका है।

यहां क्लिक करके देखें पूरा वीडियो

अनुपम खेर ने वीडियो में क्या कहा?

- अनुपम खेर ने सोमवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो मैसेज पोस्ट किया। इसके साथ ही उन्होंने इसपर #LoveLifeLiveLife का भी इस्तेमाल किया।
- वीडियो की शुरुआत में अनुपम ने कहा 'जब आप सालों से एक्टिंग करते आ रहे हों तो आप भूल जाते हैं कि असली जिंदगी कहां से शुरू होती है। पैदा तो हम सब एक ही रोशनी से होते हैं और शुरुआत के कुछ साल हमारी रोशनी बेधड़क चमकती है।'
- उन्होंने कहा '5 साल से कम उम्र के बच्चे बेधड़क हंसते हैं, खेलते हैं, लड़ते हैं, जो है सो है। मगर फिर जिंदगी के ड्रामे हमें एक्टिंग करना सीखाना शुरू कर देते हैं।'
- उन्होंने कहा 'एग्जाम के मार्क्स, बॉडी शेप और हमारी सैलरी के नंबर हमारी जिंदगी की कुछ समस्याएं बन जाती हैं। जिन तजुर्बों से सीखकर हम आगे जा सकते हैं, अकेलापन हमें उनसे इतना गिरा देता है कि जैसे हम डूब रहे हों मायूसी की ऐसी गहराई में जहां न जाने कितनी रोशनियां हमेशा के लिए बुझ जाती हैं।'
- अनुपम ने आगे कहा 'मैंने डिप्रेशन को काफी करीबी से देखा है और मैं जानता हूं कि जब कोई साथ हो तो हौंसले कम ही बुझते हैं।' उन्होंने कहा 'जब भी आपसे झूठी हंसी न हंसी जाए, तो मत हंसिए। घुटन बर्दाश्त न हो तो घर की चारदीवारी से बाहर निकल जाइए। लोगों से बात करिए, उनकी बातें सुनिए। आप अकेले नहीं हैं। हम सब साथ मिलकर एक-दूसरे में अपनी रोशनी ढूंढ ही लेंगे, बस हाथ बढ़ाने की देर है।'

2004 में पद्मश्री और 2016 में पद्म भूषण से नवाजे जा चुके हैं

- अनुपम खेर ने बॉलीवुड में अपना करियर 1984 में सूर्यांश फिल्म से किया था। इस फिल्म के समय उनकी उम्र सिर्फ 28 साल थी, लेकिन इसमें उन्होंने 60 साल के बुजुर्ग का किरदार निभाया था।
- बीते तीन दशकों से ज्यादा से फिल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे अनुपम अब तक 500 से ज्यादा फिल्में कर चुके हैं।
- सिनेमा में उनके योगदान को देखते हुए 2004 में उन्हें पद्म श्री और 2016 में पद्म भूषण से नवाजा गया था।

X
anupam kher helps people fight depression watch video
Astrology

Recommended

Click to listen..