विज्ञापन

अटल बिहारी वाजपेयी सिर्फ अपने जन्मदिन पर ही लिखते थे कविताएं, 4 एल्बम जिनके रहे गीतकार / अटल बिहारी वाजपेयी सिर्फ अपने जन्मदिन पर ही लिखते थे कविताएं, 4 एल्बम जिनके रहे गीतकार

DainikBhaskar.com

Aug 16, 2018, 11:43 AM IST

नॉन फिल्मी केटेगरी में अटल बिहारी को आआे फिर से दिया जलाएं के लिए सन् 2000 में बेस्ट लिरिसिस्ट का स्क्रीन अवार्ड मिला था

atal bihari vajpayee used to write only one poem on his birthday every year
  • comment

बॉलीवुड डेस्क. भारत के 10वें प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का कविता प्रेम अनूठा था। प्रधानमंत्री बनने के बाद उनकी कविताओं पर म्यूजिक एल्बम बनाए गए थे। दो एल्बम जगजीत सिंह ने बनाए और उनमें अपनी आवाज दी थी। कुछ कविताओं की शुरुआत अटल बिहारी की आवाज से ही हुई थी। लता मंगेशकर, हरिहरन, पद्मजा और शंकर महादेवन जैसे सिंगर्स ने अटल जी के लिखे गीतों को गाया था।

जगजीत ने बनाई 'नई दिशा' : जगजीत सिंह ने अटल बिहारी की रचनाओं के साथ एक एल्बम 1999 में बनाया नई दिशा। इस एल्बम में एक गीत था आओ फिर से दिया जलाएं को इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप की अनन्या गोयंका ने नई दिल्ली में स्क्रीन अवार्ड दिया था। अटल जी राजनेता होते हुए मनोरंजन जगत का यह अवार्ड पाने वाले पहले व्यक्ति थे।

फिर लाए 'संवेदना' : जगजीत सिंह ने एक बार फिर अटल बिहारी की कविताओं को अपनी आवाज से सजाया आैर 2002 में संवेदना एल्बम रिलीज किया। इसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान के साथ एक कविता क्या खोया क्या पाया उस दौर में बेहद पसंद किया गया था। जगजीत ने एल्बम में 8 कविताओं को गाया था।

पोएटिक जीनियस : इस एल्बम का गीत क्षमा करो बापू तुम पुलमा दास ने गाया था। वहीं एक और गाना 'उनकी याद करें' भी अटल जी की फेमस रचना थी। अटल बिहारी ने इस कविता में देश की आजादी के लिए लड़ने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि दी थी।

- इस गीत को आवाज हरिहरन ने दी थी। वीडियो की शूटिंग जलगांव महाराष्ट्र में हुई थी। अटल जी भी इस एल्बम में नदी किनारे बैठ कर कविता लिखते दिखाई दिए थे।

लता का अंतर्नाद: अटल बिहारी की संग्रह 'मेरी इक्यावन रचनाएं' की कुछ कविताओं को लता मंगेशकर ने अंतर्नाद में गाया था। इसमें क्या खोया क्या पाया भी शामिल थी, जिसे पहले जगजीत संवेदना में गा चुके थे।

X
atal bihari vajpayee used to write only one poem on his birthday every year
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन