विज्ञापन

विवाद / बाला की कहानी चोरी मामले में फंसे आयुष्मान खुराना, 19 मार्च को हाईकोर्ट में पेश होने के आदेश

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2019, 01:51 PM IST


high court asked aayushman khurana remain present on 19th march
X
high court asked aayushman khurana remain present on 19th march
  • comment

बॉलीवुड डेस्क.मुंबई हाई कोर्ट ने सुधीर मिश्रा के असिस्टेंट रहे कमल चंद्रा की कहानी चोरी के मामले में आयुष्मान खुराना को 19 मार्च को तलब किया है। उन पर आरोप है कि वे दिनेश विजन और अमर कौशिक के साथ मिलकर कमल चंद्रा की कहानी विग पर बाला बना रहे हैं। इस पर मामला हाई कोर्ट में है। मंगलवार यानी 12 मार्च को इस मामले की पहली सुनवाई थी।

 

कोर्ट में मौजूद सूत्रों ने इस डेवलपमेंट की पुष्टि की है। पहली सुनवाई पर बाला फिल्म के दिनेश विजन और डायरेक्टर अमर कौशिक के वकील कोर्ट में मौजूद थे। कोर्ट की सुनवाई देखने वालों ने बताया कि सुनवाई की टाइमिंग दोपहर बाद की थी। तब तक दिनेश विजन और अमर कौशिक के वकील तो पहुंच गए थे मगर आयुष्मान खुराना के वकील देरी से कोर्ट में पहुंचे।

कोर्ट को गले नहीं उतरीं बाला के मेकर्स की दलीलें

  1. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कोर्ट में मेकर और डायरेक्टर के वकील से पूछा गया कि उनकी यानी बाला फिल्म की कहानी कहां है? इस पर उनका जवाब था कि उनकी कहानी अभी तैयार ही हो रही है। इस पर दलील दी गई कि जब कहानी तैयार नहीं है तो फिल्म और उसके कलाकारों की अनाउंसमेंट कैसे कर दी गई? फिर जज ने इस मामले के फर्स्ट पार्टी आयुष्मान खुराना को 19 मार्च को किसी भी हाल में कोर्ट में हाजिर होने का आदेश जारी किया। हाजिर न होने की सूरत में उनके वकील से कहा गया कि वह ठोस कारण का हलफनामा लेकर आएंगे। गौरतलब है कि आयुष्मान इन दिनों अपनी अगली फिल्म आर्टिकल 15 की शूटिंग लखनऊ और आसपास के इलाकों में कर रहे हैं। कमल चंद्रा ने हाल ही में महेश भट्ट वाली फिल्म मार्कशीट की शूटिंग पूरी की है।

  2. दिनेश विजन और अमर कौशिक के वकील की तरफ से दी गई दलील पर फिल्म जगत के जानकार आश्चर्यचकित हैं। उनका कहना है कि अगर फिल्म की कहानी ही तैयार नहीं है तो फिर टाइटल और कास्टिंग कैसे अनाउंस हो सकती है। दिलचस्प बात यह है कि इस फिल्म का बैकग्राउंड लखनऊ, कानपुर, मेरठ और उसके आसपास के इलाकों में बेस्ड है। उन इलाकों के लाइन प्रोड्यूसर्स से इस विषय पर बात करने पर मामले की पुष्टि हुई है वहां तो मेकर्स के द्वारा लोकेशन की रेकी हाल तक होती रही है। मई से सब लोग शूटिंग पर भी जाने वाले हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि अगर कहानी ही तैयार नहीं है तो इतने तामझाम और तैयारियां किसके लिए हो रही थीं? जानकार कहते हैं कि जाहिर तौर पर बाला के मेकर्स की तरफ से कोर्ट को गुमराह किया जा रहा है। अब देखना ये है कि 19 मार्च को कोर्ट क्या कदम उठाती है?

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन