पर्यावरण दिवस / बॉलीवुड सेलेब्स का लक्ष्य सेव एन्वायर्नमेंट , लोगों को कर रहे जागरुक

आमिर खान आमिर खान
दिया मिर्जा दिया मिर्जा
अमिताभ बच्चन अमिताभ बच्चन
प्रियंका चोपड़ा प्रियंका चोपड़ा
जैकी श्रॉफ जैकी श्रॉफ
मिलिंद सोमन मिलिंद सोमन
राहुल बोस राहुल बोस
नंदिता दास नंदिता दास
रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण
अनुष्का शर्मा और विराट कोहली अनुष्का शर्मा और विराट कोहली
अजय देवगन अजय देवगन
X
आमिर खानआमिर खान
दिया मिर्जादिया मिर्जा
अमिताभ बच्चनअमिताभ बच्चन
प्रियंका चोपड़ाप्रियंका चोपड़ा
जैकी श्रॉफजैकी श्रॉफ
मिलिंद सोमनमिलिंद सोमन
राहुल बोसराहुल बोस
नंदिता दासनंदिता दास
रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोणरणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण
अनुष्का शर्मा और विराट कोहलीअनुष्का शर्मा और विराट कोहली
अजय देवगनअजय देवगन

Jun 05, 2019, 11:37 AM IST

बॉलीवुड डेस्क.  बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों के कामों को लाखों लोग फॉलो करते हैं। ऐसे में ये सेलेब्स भी अपने-अपने स्तर पर पृथ्वी को बचाने के लिए अभियान चलाते हैं, जिससे इनके थ्रू सेव एन्वायर्नमेंट का मैसेज दूर-दूर तक फैल सके। इस पर्यावरण दिवस पर हम आपको बॉलीवुड सेलेब्स के जरिए एन्वायर्नमेंट के लिए किए जा रहे कामों के बारे में बता रहे हैं। दैनिक भास्कर ने इन सेलेब्स से बात भी की, जिसमें उन्होंने पर्यावरण बचाने के लिए अपने मैसेज दिए।

इन्होंने की नई शुरुआत

  • पानी के संरक्षण को लेकर पानी फाउंडेशन चला रहे हैं।
  • अपनी टीम के साथ महाराष्ट्र के गांवों में बड़ा बदलाव लाने में कामयाब हुए हैं।

आमिर बोले, क्लाइमेट चेंज एक सच्चाई है और हमें उसे गंभीरता से लेना चाहिए। बारिश पूरी तरह से फॉरेस्ट पर निर्भर करती है और पिछले कई सालों से फॉरेस्ट एरिया नष्ट हो रहे हैं। हमें यह देखना चाहिए कि हम ज्यादा से ज्यादा वृक्ष कैसे लगाएं और जंगलों को कैसे बचाएं। अच्छी बारिश होने के लिए पौधों का होना जरूरी है यह एक एन्वायर्नमेंटल साइकल है और अगर क्लाइमेट चेंज से लड़ना है तो इस साइकल को बचाना जरूरी है।
 

  • भारत की पहली संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण सद्भावना राजदूत रहीं।
  • वन्यजीव ट्रस्ट की राजदूत हैं।
  •  स्वच्छ भारत मिशन के यूथ प्रोग्राम का हिस्सा बनी।
  • अभयारण्य नेचर फाउंडेशन की सदस्य भी हैं। पर्यावरण के लिए सक्रिय अभियान चलाती हैं।

दिया बोलीं, आम नागरिक और प्रशासन को मिलकर प्रकृति का ख्याल रखना चाहिए। हम सब पर्यावरण को नजर अंदाज नहीं कर सकते। क्लाइमेट चेंज का परिणाम हमारे खेतों पर, जमीन पर और वाटर रिसोर्सेज पर पहले से दिख रहा है। हमें कुछ कड़े नियमों और कानून पर्यावरण बचाव के लिए बनाना जरूरी है। अपनी खुद की पानी की बोतल लेकर चलें तो जगह जगह बिकने वाली प्लास्टिक बोतलों का ढेर कम होगा और पर्यावरण की परिस्थिति सुधरने में काफी मदद मिलेगी। 
 

  • ये स्वच्छ भारत अभियान के प्रमुख चेहरों में से एक हैं।
  • वे लोगों को रसोई के कचरे को खाद में बदलने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।
  • वह बिजली बचाने के लिए अर्थ आवर मनाने की अपील करते हैं।
  • जलवायु परिवर्तन जागरुकता फैला रहे हैं।
  • वर्सोवा क्लीन अप ड्राइव में हिस्सा लिया।

  • ग्रीन अम्बेसडर हैं।
  •  यमुना के तट पर प्लास्टिक क्लीन अप ड्राइव में हिस्सा लिया।
  • प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध के लिए कई बार आवाज उठाई।
     

इस सोशल कॉज को जुड़ते समय प्रियंका ने कहा, मैं नहीं चाहती कि आगे चलकर मेरे बच्चे या पोते कभी जंगल देख ही न पाएं या ऐसी जगह पर घूमने न जा पाएं। जंगल की रक्षा करना हमारा फर्ज है। हमें टिश्यू पेपर्स का कम इस्तेमाल करना चाहिए। रास्तों पर कूड़ा नहीं फैलाना चाहिए। ऐसी छोटी- छोटी आदतों से ही आगे चलकर बड़ा बदलाव आएगा। हर एक व्यक्ति यह ध्यान रखे कि कहीं हम पर्यावरण को अपनी आदतों की वजह से नुकसान तो नहीं पूछा रहे।

  • पौधरोपण के लिए अवेयरनेस लाने के लिए लंबे समय से काम कर रहे हैं।
  • आर्गेनिक खेती करते हैं और इसे बढ़ावा देते हैं। 

 

सिर्फ पर्यावरण संरक्षण के कार्यक्रम ही अटैंड करने से कुछ नहीं होता। अगर सच में पर्यावरण के लिए कुछ करना है तो पेड़-पौधे लगाना जरूरी है। अगर हम कोई फल खाते हैं तो उसके बीज फेंकने के बजाय उसे जमीन के अंदर डाल दें तो उससे पौधे अपने आप आएंगे। यह सब हमें अपने लिए नहीं बल्कि हमारी आनेवाली पीढ़ी के लिए करना चाहिए। यह हमारी जिम्मेदारी है।
 

  • एनवायरमेंट अवेयरनेस के लिए दिल्ली से मुंबई तक कई बार मैराथनपूरी की।
  • ग्रीनाथॉन नाम के कैंपेन से जुड़े रहे हैं।
  • अपनी शादी में हर मेहमान के नाम का एक पौधा लगाकर पर्यावरण बचाने में योगदान दिया। 

मिलिंद बोले- लोगों को पर्यावरण के बारे में बताना जरूरी है। हम इसको बचाने के लिए क्या कर सकते हैं, यह सोचना भी जरूरी है। मैं मैराथन के दौरान लोगों से मिलता हूं, उनसे पर्यावरण के बारे में बातें करता हूं। यह लोगों को इस बारे में जानकारी देने का अच्छा जरिया है। बिना फुटवेयर मैराथन में हिस्सा लेना भी पर्यावरण को नजदीक से समझने का अच्छा मौका होता है।

 राहुल बोस

 

  • 2009 में कोपेनहेगन में संयुक्त राष्ट्र के जलवायु सम्मेलन में ऑक्सफैम का प्रतिनिधित्व किया।
  • जलवायु परिवर्तन के मुद्दों पर फाउंडेशन चलाते हैं। 

नंदिता दास

  • सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट के साथ मिलकर पर्यावरण जागरूकता के लिए काम किया। 
  • बच्चों के लिए वर्षा जल संचयन पर शैक्षिक लघु फिल्मों का निर्माण किया है।

 

कुछ सेलिब्रिटी ऐसे हैं जिन्होंने अपनी निजी जिंदगी में सेव एनवायरमेंट के एक्जाम्पल सेट किए।

 

रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण
अपने रिसेप्शन में बायोडिग्रेडेबल टेबलवेयर का इस्तेमाल किया। खाने के बर्तन गन्ने के छिलकों से बने थे। उनकी पार्टी से कोई भी कचरा ऐसा नहीं निकला, जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचे।

 

अनुष्का शर्मा और विराट कोहली

विराट कोहली और अनुष्का शर्मा ने भी मैसेज देते हुए अपने वेडिंग इनविटेशन में मेहमानों को एक छोटा पौधा भी भेजा था।

 

अजय देवगन
गुजरात के पाटन जिले में एक सौर संयंत्र स्थापित करने में मदद की। पटाखों पर प्रतिबंध का मुद्दा उठाया।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना