--Advertisement--

बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड सेलेब्स ने भी अपनाया है बौद्ध धर्म

आज बुद्ध पूर्णिमा है। ऐसे कई सेलेब्स है, जिन्होंने बौद्ध धर्म को अपनाया है। इनमें बॉलीवुड के साथ हॉलीबुड सेलेब्स भी हैं।

Danik Bhaskar | Apr 30, 2018, 01:28 PM IST

मुंबई. आज बुद्ध पूर्णिमा है। ऐसे कई सेलेब्स हैं, जिन्होंने महात्मा बुद्ध से प्रेरित होकर बौद्ध धर्म को अपनाया है। इनमें बॉलीवुड के साथ कई हॉलीबुड सेलेब्स भी हैं, जिन्होंने बौद्ध धर्म अपनाया है। आज आपको ऐसे ही कुछ सेलेब्स के बारे में बताने जा रहे हैं। बॉलीवुड में फिल्म 'राम तेरी गंगा मैली' से रातों-रात स्टार बनने वाली एक्ट्रेस मंदाकिनी ने बौद्ध धर्म अपना रखा है। लंबे समय से फिल्मों से दूर मंदाकिनी ने 1995 में बुद्धिस्ट संत काग्यूर रिनपोचे से शादी की और बौद्ध धर्म अपनाया। वे मुंबई में एक तिब्बती हर्बल सेंटर चलाती हैं। साथ ही तिब्बती योगा भी सिखाती हैं। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें ऐसे ही अन्य सेलेब्स के बारे में...

एंजेलिना जोली। एंजेलिना जोली।

75 साल की एक्ट्रेस एंजेलिना जोली ने बौद्ध धर्म के मैडॉक्स को गोद लिया था और उसके बाद खुद भी इस धर्म को अपनाया है। जोली बौद्ध धर्म को अपनी विरासत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा मानती हैं। इसे अपनाने के बाद उन्होंने एक टैटू भी बनाया, जो बौद्ध प्रार्थना है। हालांकि वे एक भगवान को नहीं मानती लेकिन बौद्ध धर्म अपने घर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा मानती हैं। 

केट हडसन। केट हडसन।

39 साल की हॉलीवुड एक्ट्रेस केट हडसन ने भी बौद्ध धर्म अपना रखा है। उनकी लाइफ में बौद्ध धर्म का प्रभाव उनकी मां की वजह से आया। उन्होंने बौद्ध धर्म से जुड़ी कुछ क्लासेस भी अटेंड की है। 

ब्रेड पीट। ब्रेड पीट।

54 साल के हॉलीवुड एक्टर ब्रेड पीट ने भी बौद्ध धर्म अपनाया है। वे इस धर्म के अनुयायी तब बने थे जब उन्होंने मैडॉक्स को गोद लिया था। मैडॉक्स बौद्ध धर्म से है इसलिए उन्होंने और वाइफ एंजेलिना जोली ने इस धर्म को अपनाया था। हालांकि, अब ब्रेड और एंजोलिना अलग हो गए हैं।

रिचर्ड गेयर। रिचर्ड गेयर।

68 साल के एक्टर रिचर्ड गेयर ने जब नेपाल की यात्रा की थी तब वे दलाई लामा से मिले थे। उनसे मिलने के बाद उन्हें बौद्ध धर्म में विश्वास हुआ था। उन्होंने भी इस धर्म को अपना लिया। वे रेग्यूलर धर्मशाला जाते है।

उमा दरमन। उमा दरमन।

मॉडल और एक्ट्रेस उमा दरमन (48 साल) ने बौद्ध धर्म पिता की वजह से अपनाया। हालांकि, वे खुद को agnostic कहती है। उनके पिता तिब्बती बौद्ध भिक्षु के रूप में नियुक्त होने वाले पहले पश्चिमी थे। उमा ने एक इंटरव्यू में कहा था, 'यह किसी और की तुलना में मेरा धर्म है क्योंकि मुझे बौद्धिक और आध्यात्मिक माहौल में ही बड़ा किया है'।