ट्रेंड रिपोर्ट / हिट फॉर्मूला नहीं रहा कामयाबी की गारंटी, 7 जॉनर की फिल्मों से दर्शकों ने बनाई दूरी



kalank to thugs of hindostan, Bollywood movies flop on hit formula
कलंक कलंक
बत्ती गुल मीटर चालू बत्ती गुल मीटर चालू
ठ्ग्स ऑफ हिंदोस्तान ठ्ग्स ऑफ हिंदोस्तान
kalank to thugs of hindostan, Bollywood movies flop on hit formula
अय्यारी अय्यारी
रेस 3 रेस 3
रोमियो अकबर वॉल्टर रोमियो अकबर वॉल्टर
X
kalank to thugs of hindostan, Bollywood movies flop on hit formula
कलंककलंक
बत्ती गुल मीटर चालूबत्ती गुल मीटर चालू
ठ्ग्स ऑफ हिंदोस्तानठ्ग्स ऑफ हिंदोस्तान
kalank to thugs of hindostan, Bollywood movies flop on hit formula
अय्यारीअय्यारी
रेस 3रेस 3
रोमियो अकबर वॉल्टररोमियो अकबर वॉल्टर

Dainik Bhaskar

Jul 04, 2019, 04:29 PM IST

कविता राजपूत/बॉलीवुड डेस्क. बॉलीवुड में लीक से हटकर विषयों पर बनी फिल्में सक्सेस पा रही हैं। चाहे वह पिछले साल आई बधाई हो या फिर अंधाधुन और स्त्री। वह दिन गए जब ऑडियंस लार्जर देन लाइफ किरदारों में रुचि रखते थे और उन्हें फॉरेन लोकेशन, आलीशान सेटों की चमक-दमक, बड़े स्टार्स का ग्लैमर लुभाता था।

 

अब जमीन से जुड़े किरदार और अलग विषयों पर बनी फिल्में ही बॉक्सऑफिस पर अपना कमाल दिखा रही हैं और इसका सबूत भी देखने को मिल गया है। इससे उलट सालों से चले आ रहे तयशुदा जॉनर की फिल्में बॉक्सऑफिस पर फ्लॉप साबित हो रही हैं। जिनके हश्र से निर्माता-निर्देशकों को यह समझ जाना चाहिए कि हिट फॉमूला पर बनी फिल्में अब सफलता की गारंटी नहीं रखती हैं।

जॉनर जिनमें अब दम नहीं...

  1. पीरियड ड्रामा

    यह विषय बॉलीवुड के लिए हमेशा से प्रिय रहा है और कई निर्माताओं ने पीरियड ड्रामा रचकर बॉक्सऑफिस पर सालों तक राज किया है, लेकिन अब इस विषय के दिन लद गए। 2018 में आई पद्मावत ने जरूर बॉक्सऑफिस पर बिजनेस और दर्शक बटोरे, लेकिन 17 अप्रैल, 2019 को आई कलंक को दर्शकों ने बुरी तरह नकार दिया। फिल्म में संजय दत्त, माधुरी दीक्षित, आलिया भट्ट, वरुण धवन, आदित्य रॉय कपूर और सोनाक्षी सिन्हा के होने के बावजूद। फिल्म बुरी तरह पिटी और 150 करोड़ की लागत के मुकाबले 100 करोड़ भी नहीं कमा पाई। समीक्षकों ने आरोप लगाए कि मेकर्स करण जौहर और अभिषेक वर्मन ने बड़ी स्टारकास्ट, बेहतरीन कॉस्ट्यू़म और बढ़िया सेट तो दिखा दिए, लेकिन कहानी में कमजोर पड़ गए। यही वजह है कि दर्शक फिल्म से कनेक्ट नहीं हो पाए।

  2. सोशल ड्रामा

    यह विषय भी अब दर्शकों को लुभाने में नाकाम साबित हो रहा है। इसका सबूत हैं पिछले साल आई बत्ती गुल मीटर चालू और चीट इंडिया जैसी फिल्में जिनमें सोशल इश्यूज को दिखाने की नाकाम कोशिश की गई थी। 21 सितम्बर, 2018 को रिलीज हुई शाहिद कपूर और श्रद्धा कपूर की बत्ती गुल मीटर चालू में जहां बिजली चोरी जैसे विषय को दिखाया गया था। वहीं, 18 जनवरी , 2019 को आई इमरान हाशमी की चीट इंडिया में भारत की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलने की कोशिश की गई थी। यह दोनों ही फिल्में बॉक्सऑफिस पर नहीं चल पाई थीं। 

  3. वीएफएक्स

    बाहुबली के बाद बॉलीवुड में वीएफएक्स का जोर चल पड़ा था। हर दूसरी फिल्म में जमकर वीएफएक्स का उपयोग किया जाने लगा, लेकिन अब यह फिल्मों को सक्सेस दिलाने का मंत्र नहीं रहा। पिछले साल आई ठ्ग्स ऑफ हिंदोस्तान और जीरो को ही देख लीजिए। आमिर खान, अमिताभ बच्चन, कटरीना कैफ स्टारर ठ्ग्स पिछले साल की सबसे बड़ी फिल्मों में से एक थी, लेकिन कमजोर कहानी और वीएफएक्स इसे ले डूबे और फिल्म बॉक्सऑफिस पर औंधे मुंह गिरी। इस फिल्म का बजट 240 करोड़ था और 60 फीसदी से ज्यादा हिस्सा वीएफएक्स पर खर्च किया गया था। 2018 में क्रिसमस के मौके पर आई जीरो में भी वीएफएक्स के इस्तेमाल से शाहरुख खान को बौना बनाया गया था, लेकिन यह फिल्म भी उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाई। 

  4. बायोपिक

    पिछले कुछ सालों में बॉलीवुड में बायोपिक्स की बाढ़ आ गई थी। पिछले एक साल में कई बायोपिक रिलीज हुईं, लेकिन अब यह फॉर्मूला भी बॉक्सऑफिस पर काम नहीं कर रहा है। इस साल की शुरुआत में आई बाल ठाकरे की बायोपिक ठाकरे और मनमोहन सिंह की बायोपिक एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर इसका सबूत हैं। दोनों ही फिल्में फ्लॉप रहीं। इसके बावजूद बायोपिक्स का सिलसिला थमा नहीं है। नरेंद्र मोदी, साइना नेहवाल, आनंद कुमार आदि की बायोपिक आने को तैयार हैं। 

  5. देशभक्ति

    बॉलीवुड में देशभक्ति हमेशा से हिट फॉर्मूला साबित हुआ है। बेबी जैसी सफल फिल्म बना चुके डायरेक्टर नीरज पांडेय को भी यह सब्जेक्ट काफी लुभाता है, इसके बावजूद उनकी बनाई अय्यारी बॉक्सऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई थी। इस फिल्म में सिद्धार्थ मल्होत्रा, मनोज बाजपेयी और रकुलप्रीत सिंह ने अहम भूमिका निभाई थी

  6. सीक्वल

    2018 सीक्वल का साल रहा। इसमें कई बड़ी फिल्मों के सीक्वल बॉक्सऑफिस पर धराशायी रहे, जैसे रेस-3। रेस फ्रैंचाइजी की तीसरी फिल्म में सलमान खान, बॉबी देओल, जैकलीन फर्नांडीज जैसे स्टार्स थे, लेकिन यह टिक नहीं पाई। फिल्म इतनी खराब थी कि सोशल मीडिया पर इसका जमकर मजाक उड़ा और सलमान को डिस्ट्रीब्यूटरों को 30 करोड़ अपनी जेब से चुकाने पड़े। इसके बाद हैप्पी फिर भाग जाएगी, यमला पगला दीवाना फिर से और साहेब बीवी और गैंगस्टर-3 जैसी सीक्वल्स भी धराशायी रहीं। स्टूडेंट ऑफ द ईयर-2, हेरा फेरी- 3, सड़क-2 और हिंदी मीडियम की सीक्वल अंग्रेजी मीडियम दर्शकों को देखने को मिलेंगी।

  7. स्पाय थ्रिलर

    पिछले साल इस विषय पर बनी राजी ने बॉक्सऑफिस पर झंडे गाड़े और आलिया भट्ट को फिल्म के लिए फिल्मफेयर में बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड भी मिला, लेकिन 2019 में आई रोमियो अकबर वाल्टर दर्शकों को रास नहीं आई। फिल्म में जॉन अब्राहम ने जासूस की भूमिका निभाई थी। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना