--Advertisement--

अलविदा / कैंसर से जूझते ब्रिज कात्याल का हुआ निधन, चंद रोज पहले नीना गुप्ता ने बताई थी बदहाली

ब्रिज कात्याल ने शशि कपूर की जब जब फूल खिले, अमिताभ बच्चन की अजूबा, जैसी फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखी थी

Jab Jab Phool Khile Writer Brij Katyal Dies At A Charity Hospital
X
Jab Jab Phool Khile Writer Brij Katyal Dies At A Charity Hospital

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2018, 01:55 PM IST

बॉलीवुड डेस्क. स्क्रिप्ट राइटर ब्रिज कात्याल नहीं रहे। 85 साल के ब्रिज रेक्टल कैंसर से पीड़ित थे। आखिरी वक्त तंगी की वजह से बांद्रा स्थित चैरिटी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। उनके पार्थिव शरीर को खंडाला ले जाया गया है, जहां उनका अंतिम संस्कार होगा। ब्रिज के साथ काम कर चुके लोगों ने उनकी बुरी हालत का जिम्‍मेदार उनके पुत्रमोह को बताया। वे अपनी मेहनत की कमाई बेटे पर बेतहाशा लुटाते रहे, लेकिन बेटे-बहू उनका इलाज तक सही डाॅक्टर से नहीं करवा पाए। 

ऐसे गुजरा ब्रिज का आखिरी वक्त

  1. गोद लिए बेटे के नाम की थी प्रॉपर्टी

    जब DainikBhaskar.com ने ब्रिज कात्याल का हाल जानने की कोशिश की तो पता चला कि उन्होंने एक बेटा गोद लिया था। वे अपने इस गोद लिए बेटे से इतना ज्यादा प्यार करते थे कि अपनी सारी प्रॉपर्टी उसी के नाम कर दी थी। आखिरी वक्त में हालात ये हो गए थे कि बेटा-बहू उनकी सुध तक नहीं ले रहे थे।

  2. बेटे और बहू के साथ रहने की इच्छा थी

    उनके एक करीबी ने बताया था कि ब्रिज अपने बेटे-बहू के साथ रहना चाहते थे, लेकिन ये इच्छा पूरी नहीं हो पाई। मजबूरन उनको भायंदर वाले फ्लैट में अकेले रहना पड़ा। उनकी देखभाल लक्ष्‍मण नाम का लड़का करता था, जो उनके साथ रहता था। लेकिन उन्होंने अपना दर्द भी किसी से नहीं बांटा और अंदर-अंदर घुटते रहे।

  3. एडमिट होने से पहले लिख रहे थे फिल्म

    भायंदर में कात्याल एक्टिंग अकादमी चलाते थे। चैरिटी अस्पताल शांति अवेदना सदन में एडमिट होने से पहले वे 'महक' नामक की फिल्‍म लिख रहे थे। कात्याल के लिखे टीवी शो 'सांस' में काम कर चुकी एक्ट्रेस नीना गुप्‍ता ने बताया था, हम उन्‍हें समझाते रहे कि एक घर बेचकर इलाज के लिए पैसे जुटा लो। लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। घर बेच दिया होता तो उनका बेहतर इलाज हो गया होता।

  4. नीना ने कहा था इलाज के लिए घर बेच दो

    कुछ दिन पहले नीना गुप्ता ने ब्रिज की फोटो इंस्टाग्राम पर शेयर की थी। इसमें ब्रिज को पहचान पाना भी मुश्किल था। बीमारी की वजह से उनकी सेहत काफी गिर गई थी। नीना ने बताया था- ''फिल्मी चकाचौंध से परे कैसे एक राइटर इन दिनों मुफलिसी के बीच अस्पताल में अपना इलाज करवा रहा है।"

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..