मरने के बाद भी बेटा-बेटी का इतंजार, न आए तो 2 दिन बाद होगा अंतिम संस्कार / मरने के बाद भी बेटा-बेटी का इतंजार, न आए तो 2 दिन बाद होगा अंतिम संस्कार

DainikBhaskar.com

May 26, 2018, 05:18 PM IST

अंतिम संस्कार का खर्च उठाने का फैसला सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (CBFC)के सदस्य अशोक पंडित ने लिया है।

CBFC members to take care cremation expenses of Geeta Kapoor

मुंबई. 'पाकीजा' फेम एक्ट्रेस गीता कपूर के अंतिम संस्कार का खर्च उठाने का फैसला सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (CBFC)के सदस्य अशोक पंडित ने लिया है। फॉर्मेलिटी पूरी करने के लिए वे अपने कलीग्स और दोस्तों को बुलाएंगे। हालांकि, दो दिन तक वे और CBFC के दूसरे मेंबर्स गीता के बेटे-बेटी का इंतजार करेंगे कि वे आएं और डेड बॉडी लेकर जाएं। अगर दो दिन बाद भी कोई फैमिली मेंबर या रिलेटिव आकर बॉडी को क्लेम नहीं करता है तो वे सोमवार को उनका अंतिम संस्कार कर देंगे। आखिरी वक्त में भी सिर्फ बेटे का नाम ले रही थी मां...

- अशोक पंडित के मुताबिक, गीता की डेथ नेचुरल है। SRV हॉस्पिटल के डॉक्टर त्रिपाठी ने इस बात की पुष्टि की। अशोक की मानें तो निधन से पहले भी गीता के मुंह पर बेटे राजा का नाम ही था। अशोक बताते हैं, "दो दिन पहले मैंने गीता से मुलाकात की थी। आखिरी सांस तक वे सिर्फ अपने बेटे की बात कर रही थीं। वे बोल नहीं पा रही थीं। क्योंकि उन्होंने एक महीने से खाना छोड़ दिया था। लेकिन अक्सर वे अपने बेटे का नाम ही लेती थीं। पिछले एक साल से वे यहां (ओल्डऐज होम में) थीं और अपनी याददाश्त खो चुकी थीं।"

एक साल पहले हॉस्पिटल में छोड़कर भाग गया था बेटा

- 21 अप्रैल 2017 को जब गीता को लो ब्लड प्रेशर की शिकायत हुई तो उनका बेटा राजा उन्हें गोरेगांव स्थित SRV अस्पताल में छोड़कर भाग गया था। लेकिन पेशे से कोरियोग्राफर बेटा महीनेभर बाद भी उन्हें देखने नहीं पहुंचा था और न ही फोन कर रहा था। इस बात की जानकारी जब अशोक पंडित और प्रोड्यूसर रमेश तौरानी को मिली तो उन्होंने गीता का अस्पताल का बिल भरा और ओल्डऐज भेजने का इंतजाम कराया। शनिवार सुबह 9 बजे के करीब गीता ने अंतिम सांस ली।

CBFC members to take care cremation expenses of Geeta Kapoor
X
CBFC members to take care cremation expenses of Geeta Kapoor
CBFC members to take care cremation expenses of Geeta Kapoor
COMMENT