• Hindi News
  • Bollywood
  • Mumbai. Bollywood celebs Salaman Khan and Vidya balan telling teachers are life shapers

शिक्षक दिवस /आर्ट की जगह साइंस लिया तो टीचर ने मारा था जोरदार थप्पड़: सलमान खान



Mumbai. Bollywood celebs Salaman Khan and Vidya balan telling teachers are life shapers
X
Mumbai. Bollywood celebs Salaman Khan and Vidya balan telling teachers are life shapers

  • शिक्षक दिवस के मौके पर सलमान खान ने फादर अलियो, फादर हेंड्री और पीटी टीचर पांडेय सर को याद किया 
  • विद्या बालन ने कहा- उषा टंडन मैम की वजह से मेरी हिंदी बहुत अच्छी है

Dainik Bhaskar

Sep 05, 2019, 11:17 AM IST

मुंबई. अपने निजी मसलों पर कम ही बोलने वाले सलमान खान ने शिक्षक दिवस के मौके पर उन शिक्षकों को याद किया, जिनका उनकी जिदंगी अहम योगदान रहा। उन्हें वैसे तो बहुत सारे शिक्षकों ने पढ़ाया, लेकिन फादर अलियो, फादर हेंड्री और पीटी टीचर पांडेय जी खास थे।

 

सलमान खान ने बताया, "मेरे स्कूल के प्रिंसिपल फादर अलियो मेरे सबसे पसंदीदा शिक्षक थे। वे मुझ पर जान छिड़कते थे। वे स्पेनिश थे। दसवीं में पास होने के बाद उन्होंने मुझसे पूछा- बेटा क्या करना चाहते हो। तो मैंने अपनी रुचि के हिसाब से कहा- सर मैं जेजे स्कूल ऑफ आर्ट्स में जाना चाहता हूं। उन्होंने कहा बहुत अच्छे, मुझे तुम पर गर्व है। तुम अपनी पसंद और रुचि को फॉलो करोगे, तो बहुत आगे जाओगे। बोर्ड एग्जाम पास होने के बाद में मैंने सेंट जेवियर्स में एडमिशन लिया, क्योंकि वहां का माहौल बहुत अच्छा था। उस समय आर्ट लेने वालों के बारे में लोग समझते थे कि ये तो कॉलेज में पढ़ने नहीं टाइमपास करने आया है, इसीलिए मैंने साइंस ले लिया। घर पर आया तो सब खुश थे और कहने लगे सलमान तो डॉक्टर बनेगा, लेकिन मेरे पिताजी जानते थे कि मेरे अंदर आर्टिस्ट छुपा है, वे बोले-अगर दो महीने भी इसने साइंस कर लिया तो मैं अपना नाम बदल दूंगा। फिर एक दिन फादर अलियो घर पर आए और उन्हें मेरे पिताजी से पता चला कि मैंने साइंस लिया है, तो उन्होंने मुझे वहीं जोर से थप्पड़ मारा और बोले दिल में आर्ट के लिए प्रेम है और डॉक्टर बनेगा? ऐसे थे मेरे टीचर फादर अलियो। वे जानते थे मेरी रुचि किस क्षेत्र में है। वे अब इस दुनिया में नहीं रहे। कैंसर के कारण वह कुछ साल पहले गुज़र गए। मैंने उनके संपर्क में रहने की बहुत कोशिश की और मेरी बहन अलवीरा को स्कूल में उनका एड्रेस और कॉन्टैक्ट नंबर निकलवाने को भेजा भी था, पर वह नहीं मिला। फिर उनके गुजर जाने के बाद पता चला कि उन्होंने मेरे लिए एक चिट्ठी भी लिख छोड़ी थी। अपने इन टीचर्स का मैं आज भी बहुत आदर करता हूं। इसके अलावा जिन टीचर्स के मैं संपर्क में हूं, उनमें से एक हैं फादर हेंड्री। वह मझगांव में रहते हैं। उनकी आंखों की रोशनी अब जा चुकी है। वो अब प्रीस्ट हैं। एक मेरे पीटी टीचर थे पांडेय सर। उनके भी मैं लगातार संपर्क में रहता हूं।"

  • जो संवाद बोलती हूं, उसका क्रेडिट मेरी हिंदी टीचर को: विद्या बालन

    जो संवाद बोलती हूं, उसका क्रेडिट मेरी हिंदी टीचर को: विद्या बालन

    विद्या बालन ने बताया, "मेरी पारिवारिक पृष्ठभूमि साउथ की है। चेंबूर गर्ल रही हूं। उसके बावजूद लोगों को मेरी हिंदी बहुत साफ और अच्छी लगती है और इसकी बहुत तारीफ होती है। उसकी वजह मेरी स्कूल टीचर्स रही हैं। इसका श्रेय मैं अपनी टीचर उषा टंडन मैम को देना चाहूंगी। वे मेरी हिंदी टीचर थीं। वह बहुत अच्छे से हिंदी पढ़ाती थीं, इसलिए हिंदी में मेरे हमेशा अव्वल नंबर आते थे। मैंने जब ठान लिया था कि मुझे एक्ट्रेस ही बनना है तो मैं उनके पास जाती थी। उन्होंने मेरी हिंदी ठीक की। उनको मैं हर टीचर्स डे पर याद करती हूं। इस इंडस्ट्री में यदि किसी को टीचर का ओहदा देना चाहूंगी, तो वे प्रदीप सरकार हैं। उनसे कैमरा फेस करने से लेकर बाकी बारीकियों के बारे में काफी कुछ सीखा।"

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना