• Hindi News
  • Bollywood
  • Child Artist Talha Arshad Reshi Does Not Know That He Won National Award For Urdu Film

शॉकिंग / 8 साल के कश्मीरी बच्चे तल्हा को मिला नेशनल अवॉर्ड, लेकिन 53 दिन बाद भी वह इस बात से है अनजान



'हामिद' के एक सीन में तल्हा अरशद रेशी। 'हामिद' के एक सीन में तल्हा अरशद रेशी।
X
'हामिद' के एक सीन में तल्हा अरशद रेशी।'हामिद' के एक सीन में तल्हा अरशद रेशी।

Dainik Bhaskar

Oct 01, 2019, 07:25 PM IST

बॉलीवुड डेस्क.  66वें नेशनल अवॉर्ड में बेस्ट उर्दू फिल्म का अवॉर्ड 'हामिद' को मिला है, जिसे एजाज खान ने डायरेक्ट किया था। फिल्म में हामिद का रोल करने वाले बच्चे तल्हा अरशद रेशी को बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्ट चुना गया। लेकिन बड़ी बात यह है कि खुद तल्हा अब तक भी इस बात से अनजान हैं। डायरेक्टर एजाज खान ने यह दावा एक एजेंसी से बातचीत के दौरान किया। दरअसल, तल्हा जम्मू-कश्मीर के रहने वाले हैं और एजाज की मानें तो वहां तनावपूर्ण माहौल होने की वजह से उन तक अपने इतने बड़े अवॉर्ड की खबर नहीं पहुंच पाई है। 

 

फोन कनेक्टिविटी बंद होने से नहीं हो सका संपर्क: एजाज

 

दरअसल, 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया गया। इससे ठीक एक दिन पहले यानी 4 अगस्त को वहां इंटरनेट और फोन सेवाएं बंद कर दी गई थीं, जो अब तक शुरू नहीं हो पाई हैं। 9 अगस्त को नेशनल अवॉर्ड्स की घोषणा की गई और 8 साल के तल्हा को बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्ट चुना गया। लेकिन 53 दिन बाद भी वे इस बात से अनजान हैं।  एजाज ने एक एजेंसी से बातचीत में कहा, "मैंने फोन पर तल्हा के पिता से मेरा संपर्क करने की कोशिश की थी। लेकिन कनेक्टिविटी बंद होने की वजह से उनसे बात नहीं हो पाई।"

 

'फोन नं. 786' पर बेस्ड फिल्म

 

उर्दू फिल्म हामिद का प्लॉट अमीन भट्ट के प्ले 'फोन नं. 786' से लिया गया है। यह एक कश्मीरी बच्चे की कहानी है, जो यह सोचता है कि 786 अल्लाह का नंबर है। एक फोन नंबर पर कॉल कर वह एक अजनबी को अपना दोस्त बना लेता है, जो कि सीआरपीएफ का जवान है। कश्मीर के परेशानी भरे माहौल के बीच उनकी दोस्ती कैसे आगे बढ़ती है, यही फिल्म में दिखाया गया है। फिल्म में रसिका दुग्गल और विकास कुमार की अहम भूमिका है। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना