--Advertisement--

'पापा ने मुझे हमेशा गाइड किया, लेकिन अपनी सलाह कभी नहीं थोपी'

मैं अपने डैडी की लिटिल गर्ल और सपोर्ट सिस्टम दोनों हूं। कभी हम हंसी-मजाक करते हैं तो कभी एक-दूसरे की टांग खिचाई।

Danik Bhaskar | Jun 17, 2018, 11:16 PM IST

मुंबई। मैं अपने डैडी की लिटिल गर्ल और सपोर्ट सिस्टम दोनों हूं। कभी हम हंसी-मजाक करते हैं तो कभी एक-दूसरे की टांग खिचाई करते हैं। बचपन में जब मैं कोई शरारत करती थी तो वे बहुत सख्ती से पेश आते थे। कभी-कभी तो स्टोर रूम में बंद कर देते थे। एक एथलीट होने के कारण वे अलग तरह के डीएनए से बने हैं। उन्होंने हमेशा मुझे और मेरी बहन को गाइड किया, लेकिन अपनी सलाह हम पर थोपी नहीं।

उन्होंने एक बार कहा था कि आप हर तरह के स्टार बन सकते हैं। दुनिया में भारी सफलता पा सकते हैं, लेकिन अगर आप अच्छे इंसान नहीं हैं तो आपको हमेशा याद नहीं रखा जाएगा। वे मुझे रिलेक्स देखकर बहुत खुश होते हैं। जब कभी भी मैं बेंगलुरू में होती हूं, तो वे सारे असाइनमेंट अलग रख देते हैं और मेरे साथ रहते हैं। वे बहुत छोटी-छोटी बातों का भी ध्यान रखते हैं। मुझे एयरपोर्ट छोड़ने जाते हैं। घर से एयरपोर्ट तक जाने के 45 मिनट हमारे लिए बहुत कीमती होते हैं।

वे मेरी सारी फिल्में देखते हैं और मैं जो कुछ भी करती हूं उसे पसंद करते हैं। वे मेरी फिल्मों में से हमेशा कुछ न कुछ अच्छा निकाल ही लेते हैं। मेरे आलोचकों में मेरी मां और बहन हैं। उन्होंने मुझे सलाह दी है, जो आपके कंट्रोल में न हो उस पर कभी झल्लाना नहीं। चीज अगर आपके कंट्रोल में न हों तो उस पर पसीना मत बहाओ।