--Advertisement--

जन्मदिन पर मां को याद कर इमोशनल हो जाते हैं धर्मेंद्र, 4 साल पहले इंटरव्यू में कहा था- 'जब मुझे जन्म देने वाली ही इस दुनिया में नहीं है तो फिर किस बात का जन्मदिन मनाऊं'

धर्मेंद्र ने 1958 में फिल्म 'दिल भी तेरा हम भी तेरे' से डेब्यू किया। 6 दशक लंबे करियर में उन्होंने करीब 270 फिल्में कीं।

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 10:57 AM IST
Dharmendra Remeber His Mother on Every Birthday

मुंबईबॉलीवुड के हीमैन यानी धर्मेन्द्र 83 साल के हो गए हैं। 8 दिसंबर, 1935 को नसराली, लुधियाना (पंजाब) में जन्मे धर्मेंद्र की छवि भले ही माचो-मैन की रही हो लेकिन रियल लाइफ में वो बेहद इमोशनल हैं। जन्मदिन के मौके पर उनसे संपर्क करना काफी मुश्किल होता है, क्योंकि वे अपना फोन बंद कर लेते हैं। दरअसल, धरम पाजी अपना जन्मदिन कभी नहीं मनाना चाहते। इसलिए नहीं कि वे बूढ़े हो गए हैं, बल्कि इसलिए कि धर्मेंद्र को अपनी मां की बहुत याद आती है। 4 साल पहले अपने जन्मदिन से ठीक पहले एक इंटरव्यू में धर्मेंद्र ने कहा था- "जब मुझे जन्म देने वाली ही इस दुनिया में नहीं है तो फिर किस बात का जन्मदिन मनाऊं।" पिता के दिए खत को हर रोज माथे से लगाते हैं धरमपाजी...


बताया जाता है कि धर्मेंद्र अपने साथ पिता का दिया एक खत साथ रखते हैं और हर सुबह उसे चूमकर माथे से लगाते हैं। वे कहते हैं, "मैं बहुत इमोशनल हूं। मैं अपने माता-पिता के बगैर जन्मदिन नहीं मना सकता। मैं उनसे प्रार्थना करता हूं कि वे मुझे एक अच्छा इंसान बनने में मदद करें। मुझे इतनी शक्ति दें कि मैं औरों को खुश रख सकूं। मैं लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखना चाहता हूं।"


धर्मेंद्र ने ऐसे देखा हीरो बनने का सपना...
धर्मेंद्र के मुताबिक, जब वो एक्टर नहीं बने थे तो कॉलेज टाइम में जालंधर के संत सिनेमा में फिल्में देखने जाया करते थे। यहीं फिल्में देख-देख कर हीरो बनने का कीड़ा जागा। संत सिनेमा 11 साल पहले तब बंद हो गया, जब सुसाइड के एक मामले में यहां झगड़ा हुआ। अब तो इसकी बिल्डिंग भी खस्ताहाल हो चुकी है।


बॉलीवुड में 60 साल से काम कर रहे धर्मेन्द्र...
बॉलीवुड में यह धर्मेंद्र का 60वां साल है। उन्होंने 1958 में फिल्म 'दिल भी तेरा हम भी तेरे' से डेब्यू किया था। अपने 6 दशक लंबे करियर में धर्मेन्द्र ने करीब 270 फिल्मों में काम किया है। फिल्मों के प्रति अपने लगाव को जाहिर करते हुए धर्मेंद्र कहते हैं, "मुझे हमेशा महसूस होता है, जैसे मैं एक न्यूकमर हूं, जो एक संदेश मिलने के बाद बॉम्बे आया और एक्टर बन गया। मैं कैमरे को फेस करने के लिए हमेशा उत्साहित रहता हूं। हालांकि, अच्छी स्क्रिप्ट देखकर ही मैं काम करता हूं। यह मेरी जिंदगी का सपना था कि मैं एक्टर बनूंगा और लंबे समय तक काम करूंगा।"


धर्मेन्द्र के पिता स्कूल टीचर थे...
एक्टर बनने के सपने के बारे में धर्मेंद्र कहते हैं, "मैं एक स्कूल टीचर का बेटा था, जिसकी यह इच्छा थी कि वह एक्टर बने। मैं सिर्फ एक फिएट कार, एक फ्लैट और खुद को फिल्मों के पोस्टर में देखना चाहता था और आज नाइजीरिया और ट्यूनीशिया से भी फैंस मुझे बुलाते हैं।" यह वाकई ताज्जुब की बात है कि बॉलीवुड में धर्मेंद्र के छः दशक पूरे हो चुके हैं, लेकिन आज भी काम को लेकर उनमें वही उत्साह है। आज भी उनका शरीर किसी रॉकस्टार से कम नहीं है। खुद को फिट रखने के लिए धर्मेन्द्र रोज एक्सरसाइज, योगा और प्राणायाम करते हैं, साथ ही डाइट पर भी पूरा ध्यान देते हैं।

(फोटो साभार : श्रिया सुरवीन के ब्लॉग से)

X
Dharmendra Remeber His Mother on Every Birthday
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..