• Home
  • Entertainment News
  • Gossip
  • अमिताभ बच्चन, ऋषि कपूर, Film 102 Not Out Director Umesh Shukla Share Interesting Things About Big B Rishi Kapoor
--Advertisement--

शॉट देकर 15 मिनट तक उठे ही नहीं थे अमिताभ बच्चन, डर गए थे सभी

डायरेक्टर उमेश शुक्‍ला ने फिल्म 102 नॉट आउट की शूटिंग से जुड़े कुछ शेयर किए।

Danik Bhaskar | May 06, 2018, 10:12 AM IST
फिल्म 102 नॉट में ऋषि कपूर और अमिताभ बच्चन। फिल्म 102 नॉट में ऋषि कपूर और अमिताभ बच्चन।

मुंबई. 102 नॉट आउट में अपने किरदारों के लिए अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर इन दिनों चर्चा में हैं। बिग बी इसमें 102 साल के शख्‍स दत्तात्रेय वखारिया बने हैं। दत्तात्रेय का 75 साल का बेटा बाबूलाल है। बाबूलाल का रोल ऋषि कपूर ने प्ले किया है। डायरेक्टर उमेश शुक्‍ला ने सेट के कुछ रोचक किस्से शेयर किए। एक किस्सा शेयर करते हुए उन्होंने बताया, बिग बी अपने किरदार में बहुत ज्यादा डूब जाते हैं। और इसी से एक हादसा हो गया था और सभी डर गए थे। एक सीन में बिग बी सोए तो 15 मिनट तक उठे ही नहीं...


डायरेक्टर शुक्ला ने बताया, एक सीन में बिग बी सोए हुए होते हैं और चिंटू जी को उन्‍हें बस कुछ सूचना देकर बाहर चले जाना होता है। चिंटू जी आए और वैसा बोलकर वे चले गए। मैंने भी कट बोला, मगर बिग बी सोए ही रह गए। कुछ मिनट बाद भी वे नहीं उठे। सब डर गए थे। उनके पास जाकर उठाया तो उन्‍होंने कहा कि यार नींद आ गई थी सच में। वह इसलिए कि सेट उन्‍हें असल में घर जैसा ही लगने लगा था। तब जाकर सबकी सांस में सांस आई। बता दें कि बिग बी को सेट पर उस सीन में सोए 15 मिनट से ज्यादा हो गया था।



आगे की स्लाइड्स में पढ़ें फिल्म 102 नॉट आउट और उससे जुड़ी रोचक बातें...

102 नॉट आउट की शूटिंग से पहले ऐसे होता था ऋषि कपूर और बिग बी का मेकअप। 102 नॉट आउट की शूटिंग से पहले ऐसे होता था ऋषि कपूर और बिग बी का मेकअप।

उमेश ने बताया, किरदारों की स्किन में जाने में दोनों को ज्यादा वक्‍त नहीं लगता था। हां, मेकअप में जरूर ढाई घंटे लगा करते थे। उस दौरान बिग बी गाने सुना करते थे और ऋषि कपूर न्‍यूज देखा करते थे। बाद में मेकअप उतारने के दौरान मैं सच कह रहा हूं कि बिग बी के चेहरे से इतना पसीना निकलता था कि पूरा चाय का कप फुल हो जाता था।

अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर। अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर।

उमेश ने बताया, ऊपरी तौर पर दोनों रोल बड़े चैलेंजिंग थे, मगर बिग बी और चिंटू जी ने अपने अनुभव से उन्‍हें सहज भाव से निभा दिया। दोनों ने शुरुआत कपड़ों से की। चूंकि वे गुजराती शख्‍स बने थे तो वे पायजामे पर शर्ट और टीशर्ट पहनना प्रेफर करते थे। गुजराती लोग घरों के भीतर चप्‍पल या जूते नहीं पहनते। ठंड लगने पर भले वे मोजे पहन लेते हैं, मगर घरों के भीतर जूते या चप्पल नहीं ले जाते। तो इस तरह दोनों ने पूरी शूटिंग नंगे पांव की। यहां तक कि जिमित त्रिवेदी भी उन्‍हीं को फॉलो करते नजर आए। हमने तो जानबूझकर बगैर जूते-चप्‍पले वाले सीन को बड़ी डिटेलिंग में दिखाया।

 

अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर। अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर।

दोनों ने फिल्‍म के राइटर सौम्‍य जोशी के मैनेरिज्‍म को भी पकड़ा। इससे उन्‍हें किरदार के  करीब जाने में मदद मिली। बिग बी और चिंटु जी दोनों का मानना था कि कलाकार अपने किरदार के करीब तब बड़ी आसानी से जा सकता है, जब उसके आस-पास का माहौल किरदार के समाज या परिवार वाला हो। तभी हमने सेट पर दोनों बाप-बेटे के घर को भी टिपिकल गुजराती परिवार वाला रखा। चद्दर आदि एम्‍ब्रॉयडरी वाले रखे। खिड़कियां बड़ी-बड़ी रखी गईं, क्योंकि गुजरातियों को रोशनी पसंद है।

 

ऋषि कपूर और अमिताभ बच्चन। ऋषि कपूर और अमिताभ बच्चन।

बिग बी को साढ़े तीन साल पहले इसकी कहानी सुनाई गई थी। वे आइडिया सुनकर ही बड़े एक्‍साइटेड हो गए थे। चिंटू जी भी फिल्म का आइडिया सुनकर हामी भर चुके थे। कैरेक्‍टर की स्किन में जाने का दोनों का अपना तरीका है। बिग बी आज भी शॉट देने से पहले बहुत होमवर्क करते हैं। चिंटू जी स्‍पॉन्‍टैनिस हैं। दोनों शॉट से पहले यार-दोस्त की तरह रहते थे, मगर कैमरा ऑन होते ही दोनों बाप-बेटे के फॉर्म में आ जाते थे।