--Advertisement--

मैगजीन कवर के लिए ब्रेस्टफीडिंग की फोटो देने वाली मॉडल के सपोर्ट में उतरीं एक्ट्रेस दिव्यांका त्रिपाठी, बोलीं-अपने भूखे बच्चे को ब्रेस्टफीड कराना नहीं है अश्लील

दिव्यांका त्रिपाठी 2013 से टीवी शो 'ये है मोहब्बतें' में काम कर रही हैं।

Danik Bhaskar | Jun 28, 2018, 12:05 AM IST

मुंबई. मलयालम मैगजीन 'गृहलक्ष्मी' के कवर पेज को लेकर छि‍ड़े विवाद पर अब टीवी एक्ट्रेस दिव्यांका त्रिपाठी ने भी अपनी राय दी है। दिव्यांका ने कवर पेज पर बच्चे को ब्रेस्टफीड कराने वाली मॉडल गिलु जोसेफ को सपोर्ट किया है। साथ ही गिलु की निंदा करने वाले हेटर्स को भी करारा जवाब दिया है। दिव्यांका बोलीं- ब्रेस्टफीडिंग में कोई अश्लीलता नहीं...

- दिव्यांका ने एक एंटरटेनमेंट साइट को दिए इंटरव्यू में कहा, "मैं केरल हाईकोर्ट के फैसले के साथ हूं और इस फैसले लिए कोर्ट का आभार व्यक्त करती हूं। मैं गृहलक्ष्मी और गिलू जोसेफ की भी तारीफ करना चाहूंगी। ये एक बोल्ड और बहुत आवश्यक पहल थी।"
- "एक मां, एक मां है। अगर उसे अपने भूखे बच्चे को ब्रेस्टफीड कराना है तो इसमें कोई अश्लीलता नहीं है। मां अपने बच्चे की इच्छा पूरी कर रही है और सभी मांओं को ऐसा करने में हिचक नहीं होनी चाहिए।"
- "मैंने दोस्तों और रिश्तेदारों को हमेशा अपने बच्चों को पब्लिक में ब्रेस्टफीड करवाने को लेकर परेशान होते देखा है। हमारे देश में पब्लिक प्लेसेस पर मांओं को स्तनपान कराने के लिए कोई इंतजाम नहीं है।''

एक वकील ने उठाया था ब्रेस्टफीड पर सवाल

- मैगजीन के कवर ब्रेस्टफीड कराती मॉडल की तस्वीर पर विनोद मैथ्यू विल्सन नाम के एक वकील ने सवाल खड़े किए थे। उनका मानना था कि ये कवर अश्लील और अपमानजनक था। मैथ्यू ने इसे महिलाओं की छवि खराब करने वाली फोटो बताकर रोक लगाने के लिए याचिका डाली थी लेकिन केरल हाईकोर्ट ने मैग्जीन के पक्ष में फैसला सुना।
- कोर्ट ने कहा- "इस कवर पेज में कुछ भी अश्लील नहीं, अश्लीलता देखने वालों की आंखों में हैं।" बता दें, कवर की टैगलाइन- "केरल की मांएं कह रही हैं, कृपया घूरे नहीं हमें ब्रेस्टफीड कराना है" रखी गई है।