विज्ञापन

आजादी के 71 साल: पार्टीशन के बाद पाकिस्तान चले गए कई कलाकार

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2018, 11:59 PM IST

पाकिस्तान छोड़कर भारत आने वालों में गुलजार, गोविंद निहलानी, बीआर चोपड़ा और यश चोपड़ा, साहिर लुधियानवी का नाम शामिल है।

famous Bollywood stars before independence era migrated to Pakistan after partition
  • comment

बॉलीवुड डेस्क. 1947 में देश को आजादी मिल गई, लेकिन पार्टीशन ने भारतीय सिनेमा को दो टुकड़ों में बांट दिया। आजादी से पहले के सभी फेमस फिल्म स्टार, सिंगर, डायरेक्टर, राइटर, म्यूजिक कम्पोजर्स ने पाकिस्तान को अपने लिए चुना और बंबई छोड़कर लाहौर, कराची चले गए। कुछ नाम तो ऐसे हैं जिन्होंने विभाजन के साथ ही जाना पसंद किया तो कुछ ने सालों और महीनों का इंतजार किया। पार्टीशन से पहले भारतीय सिनेमा के कुछ खास नामों पर एक नजर...।

मल्लिका-ए-तरन्नुम नूरजहां : 1942 में आई फिल्म खानदान में नूरजहां ने लीड रोल किया था, प्राण के साथ। फिल्म हिट होने के बाद नूरजहां ने डायरेक्टर सैय्यद शौकत हुसैन रिजवी से शादी कर ली। 1947 में नूरजहां की तीन फिल्में रिलीज हुईं थीं - जुगनू, मिर्जा साहिबान और दो भाई। ये तीनों ही फिल्में सुपरहिट रहीं।

- विभाजन के बाद सैय्यद ने पाकिस्तान जाने का डिसीजन लिया, इसके बाद नूरजहां ने इंडियन फिल्म इंडस्ट्री और मुंबई को छोड़कर कराची को अपना ठिकाना बनाया।

बॉम्बेवाली रोशन आरा बेगम : सिंगर के रूप में रोशन आरा ने अनिल विश्वास, फिरोज निजामी, तसद्दुक हुसैन के संगीत निर्देशन में कई गाने गाए। जुगनू, पहली नजर, रूपमती बाज बहादुर, नीला पर्वत के लिए गाने रिकॉर्ड किए। रोशनआरा भी पार्टीशन के बाद पति के साथ लालामूसा में रहने लगीं, जो लाहौर से दूर था। रोशन आरा को सितारा-ए-इम्तियाज का खिताब मिला था।

नाजिर अहमद खान : पार्टीशन के पहले नाजिर फिल्म इंडस्ट्री के सबसे फेमस एक्टर थे। नाजिर ने उस दौर में टॉप की लगभग 35 एक्ट्रेसेस के साथ फिल्में की थीं। विभाजन के समय हुए दंगों में नाजिर ने अपना सबकुछ खो दिया और लाहौर चले गए। भारत सिनेमा के बाद पाकिस्तान फिल्म इंडस्ट्री में नाजिर अहमद खान को पायोनियर कहा जाता था।

- नाजिर की पत्नी स्वर्णलता ने भी शादी के बाद इस्लाम अपनाया और सईदा बानो बन गईं। स्वर्णलता ने कुल 22 फिल्मों में काम किया था।

मल्लिका पुखराज : बॉलीवुड का आइकॉनिक सॉन्ग अभी तो मैं जवान हूं गाने वाली मल्लिका पुखराज भी 1947 में लाहौर चली गईं। रेडियो पाकिस्तान में काम करके उन्हें सबसे ज्यादा फेम मिला। वे रेडियो अनाउंसर काले खान के साथ प्रोग्राम किया करती थीं। मल्लिका पुखराज की आवाज पहाड़ी फोक पर ज्यादा सूट करती थी।

साइलेंट एरा स्टार पेशेंस कूपर - कोलकाता में पैदा हुईं पेशेंस एंग्लो इंडियन थीं। इंडियन सिनेमा में पहली बार डबल रोल करने का रिकॉर्ड पेशेंस के नाम है। बिजनेसमैन मिर्जा अहमद इस्पाहनी से शादी करने के बाद 1944 में इरादा फिल्म की और इंडस्ट्री छोड़ दी। 1947 में वे पाकिस्तान चली गईं। कराची में अपने आखिरी दिनों में वे साबरा बेगम के नाम से रहने लगीं थीं।

- अपनी पूरी जिंदगी में पेशेंस ने 17 बच्चों को अडॉप्ट किया और उन्हें पालने की पूरी जिम्मेदारी भी उठाई।

ये गए कुछ सालों बाद : कुछ फिल्मी कलाकार तो 1947 में ही भारत छोड़कर पाकिस्तान चले गए थे। लेकिन कुछ ने 2-4 सालों के बाद अपना मूड चेंज किया। इनमें खास तौर पर फिल्ममेकर ख्वाजा खुर्शीद अहमद, गुलाम हैदर, मीना शौरी, नशद यानी शौकत हैदरी, म्यूजिक डायरेक्टर निसार बज्मी, सिंगर गौहर मामाजीवाला जैसे नाम शामिल हैं।

- इन सभी कलाकारों ने पार्टीशन के पहले बंबई और लाहौर फिल्म इंडस्ट्री को कई यादगार फिल्में दीं, जो आज भी मील का पत्थर मानी जाती हैं।

X
famous Bollywood stars before independence era migrated to Pakistan after partition
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन