विज्ञापन

फिल्म साहब बीवी और गुलाम के बाद लगी थी मीना को शराब की लत; ऐसे हैं मीना कुमारी और शराब से जुड़े 4 अनसुने किस्से

Dainik Bhaskar

Aug 01, 2018, 02:20 PM IST

मीना कुमारी के करियर की शुरुआत 1939 में आई फिल्म लेदरफेस से हुई थी, जिसमें वे चाइल्ड आर्टिस्ट थीं।

how tragedy queen meena kumari get addicted to alcohol
  • comment

बॉलीवुड डेस्क. साहब बीवी और गुलाम.. इस फिल्म में मीना कुमारी की शराब में खुद को डुबा देने की अदाकारी आज भी रोंगटे खड़े कर देती है। लेकिन रील लाइफ से निकल कर यह हादसा कब रीयल लाइफ का हिस्सा बन गया, शायद यह खुद मीना भी नहीं जानती थीं। कमाल अमरोही से देर रात तक फोन पर बातें करने वाली मीना शराब की बोतलों में ऐसे गुम हुईं कि आखिर में अपनी जान गंवानी पड़ी। मीना कुमारी और शराब के जाम के 4 किस्से जो अभी तक अनसुने रहे हैं...

डॉक्टर ने कहा था रोज एक पैग लेने : मीना कुमारी ने पहली बार शराब कब पी। इसका पता नहीं चल पाया, लेकिन वरिष्ठ पत्रकार विनोद मेहता ने अपनी किताब 'मीना कुमारी: द क्लासिक बायोग्राफी' में लिखा है कि मीना कुमारी को उनके डॉक्टर सईद टिमर्जा ने नींद की गोलियाें की जगह, रोज एक पैग ब्रांडी लेने का सजेशन दिया था।

- हालांकि यह सलाह इसलिए दी गई थी क्योंकि मीना कुमारी रातों को जागा करती थीं, वह किसी उल्लू की तरह हो गई थीं। अंतर इतना था कि वह दिन में भी नहीं साेती थी। उनका टेलीफोनिक रोमांस उन्हें आंखें बंद करने नहीं देता था।

नौकरानी को देखा ब्रांडी देते : एक इंटरव्यू में कमाल अमरोही ने कहा बताया था कि ब्रांडी का एक पैग ढेर सारे पैग में बदल गया था। लेकिन किसी को पता नहीं था। एक दिन खुद कमाल ने नौकरानी को गिलास ब्रांडी से आधा भरते देखा। जो डॉक्टर के बताए पैग से कहीं ज्यादा था।

- कमाल ने नौकरानी को धमकाते हुए मीना को ब्रांडी न देने कहा, लेकिन उन्हाेंने पाया कि यह मीना कुमारी की आदत बन चुका था।

डेटॉल की बॉटल में मिली थी ब्रांडी : कमाल ने बताया था कि उस घटना के कुछ दिन बाद उनके बाथरूम की डेटॉल की बॉटल्स में एंटीसेप्टिक की जगह ब्रांडी मिली। उस दिन से अमरोही रोजाना डेटॉल की बॉटल चेक किया करते थे, और यह सुनिश्चित करते थे कि कहीं मीना ने फिर से ब्रांडी पीना शुरू तो नहीं किया।

लंदन-स्विटजरलैंड में चला इलाज : मीना कुमारी शराब की इस कदर आदी हो चुकी थीं कि उन्हें लिवर सिरॉसिस डाइग्नोस हुआ। एडवांस ट्रीटमेंट की दरकार हुई, इस कारण उन्हें जून 1968 में इलाज के लिए लंदन जाना पड़ा। डॉ. शैला शेरलाॅक ने अगस्त 1968 तक उन्हें ट्रीटमेंट दिया।

- लंदन से लाैटने के बाद मीना कुमारी बेहद कमजोर हो चुकी थीं। इसके बावजूद उन्होंने 6 फिल्मों में काम किया। लंदन से लौटने के बाद मीना ने शराब की एक बूंद तक को हाथ नहीं लगाया था।

how tragedy queen meena kumari get addicted to alcohol
  • comment
how tragedy queen meena kumari get addicted to alcohol
  • comment
X
how tragedy queen meena kumari get addicted to alcohol
how tragedy queen meena kumari get addicted to alcohol
how tragedy queen meena kumari get addicted to alcohol
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन