• Hindi News
  • National
  • Including Naseeruddin Shah 616 Theater Artist Appealed To Citizens To Vote Against BJP.

नसीरुद्दीन शाह समेत 616 आर्टिस्ट्स ने बीजेपी के खिलाफ वोट करने की अपील की

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड डेस्क. 600 से अधिक थियटर आर्टिस्ट्स ने गुरुवार को एक संयुक्त बयान जारी कर नागरिकों से बीजेपी को वोट ना देने की अपील की। इस संयुक्त बयान पर 616 थियटर आर्टिस्ट्स ने साइन किए हैं। साइन करने वालों में अमोल पालेकर, अनुराग कश्यप, डॉली ठाकोर, लिलेट दुबे, नसीरुद्दीन शाह, अभिषेक मजूमदार, अनामिका हक्सर, नवराज जौहर, एमके रैना, महेश दत्तानी, कोंकणा सेन शर्मा, रत्ना पाठक शाह और संजना शामिल हैं।

1) 12 भाषाओं में जारी किया बयान

बयान में लोगों से बीजेपी और उसके सहयोगियों के खिलाफ वोट और एक धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक और समावेशी भारत के लिए वोट करने की अपील की गई। इसमे कहा गया कि सबसे कमजोर को सशक्त बनाने, स्वतंत्रता की रक्षा करने, पर्यावरण की रक्षा करने और वैज्ञानिक सोच को बढ़ावा देने के लिए वोट दें। बयान 12 भाषाओं में जारी किया गया है।

3) 12 भाषाओं में जारी किया बयान

बयान में लोगों से बीजेपी और उसके सहयोगियों के खिलाफ वोट और एक धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक और समावेशी भारत के लिए वोट करने की अपील की गई। इसमे कहा गया कि सबसे कमजोर को सशक्त बनाने, स्वतंत्रता की रक्षा करने, पर्यावरण की रक्षा करने और वैज्ञानिक सोच को बढ़ावा देने के लिए वोट दें। बयान 12 भाषाओं में जारी किया गया है।

इस संयुक्त बयान मे कहा गया- '2019 का लोकसभा चुनाव आजाद भारत के इतिहास में सबसे मुश्किल चुनावों में से हैं। बीजेपी कई वादों के साथ सत्ता में आई, लेकिन हिंदुत्व के गुंडों को इस सरकार ने जन्म दिया। मौजूदा सरकार हिंसा और नफरत की सरकार है। जिस व्यक्ति को पांच साल पहले राष्ट्र के उद्धारकर्ता के रूप में चित्रित किया गया था, उसने अपनी नीतियों के माध्यम से लाखों लोगों की आजीविका को नष्ट कर दिया है।'

इस संयुक्त बयान मे कहा गया- '2019 का लोकसभा चुनाव आजाद भारत के इतिहास में सबसे मुश्किल चुनावों में से हैं। बीजेपी कई वादों के साथ सत्ता में आई, लेकिन हिंदुत्व के गुंडों को इस सरकार ने जन्म दिया। मौजूदा सरकार हिंसा और नफरत की सरकार है। जिस व्यक्ति को पांच साल पहले राष्ट्र के उद्धारकर्ता के रूप में चित्रित किया गया था, उसने अपनी नीतियों के माध्यम से लाखों लोगों की आजीविका को नष्ट कर दिया है।'

कलाकारों ने कहा कि 'भारत का विचार' आज खतरे में है। आज देश में गीत, नृत्य, हंसी और हमारा संविधान खतरे में है। सवाल करना, झूठ को सामने लाना और सच बोलने को ‘राष्ट्र-विरोधी’ का नाम दे दिया जाता है। उन्होंने नागरिकों से संविधान की रक्षा करने में मदद करने और भारत को बचाने के लिए बीजेपी को वोट ना करने की अपील की।

कलाकारों ने कहा कि 'भारत का विचार' आज खतरे में है। आज देश में गीत, नृत्य, हंसी और हमारा संविधान खतरे में है। सवाल करना, झूठ को सामने लाना और सच बोलने को ‘राष्ट्र-विरोधी’ का नाम दे दिया जाता है। उन्होंने नागरिकों से संविधान की रक्षा करने में मदद करने और भारत को बचाने के लिए बीजेपी को वोट ना करने की अपील की।