अपकमिंग मूवीज

--Advertisement--

राजस्थान के चरण सिंह पथिक की कहानी ‘दो बहनें’ पर बनी फिल्म ‘पटाखा’ के लिए

विशाल भारद्वाज पहली बार शेक्सपियर के नॉवेल से बाहर निकले, हिंदी साहित्य की कहानी एडैप्ट की

Dainik Bhaskar

Aug 29, 2018, 12:58 PM IST
writer charan singh pathik will get profit share from Vishal Bhardwaj

मूल रायटर से प्रॉफिट भी शेयर करेंगे विशाल भारद्वाज

हली बार शेक्सपियर के नॉवेल से बाहर निकले> lang="en">, हिंदी साहित्य की कहानी एडैप्ट की

12 साल पहले लिखी गई थी मूल कहानी, वह थी छह पन्नों की, सिनेमाई शक्ल लेने पर बनी 200 पेज की

नए वर्जन में सुनील ग्रोवर, सानंद वर्मा और हीरोइनों की सास के किरदार जोड़े गए

अमित कर्ण। मुंबई।।

ॉलीवुड में अक्सर रायटरों को हाशिए पर रखा जाता रहा है। उनकी कहानियां कौड़ियों के भाव में लेकर फिल्मकारफिल्में बना लेते रहे हैं। विशाल भारद्वाज ने ऐसा नहीं किया। राजस्थान के जिस चर्चित रायटर चरण सिंह पथिक की कहानी दो बहनेंपर फिल्म पटाखाबेस्ड है, विशाल ने उसके राइट्स के लिए पथिक जी को हैंडसम अमाउंट दिया है। साथ ही रिलीज बाद विशाल उनसे प्रॉफिट भी शेयर करेंगे। इसकी पुष्टि खुद चरण सिंह पथिक ने की है। उन्होंने साथ ही कहानी के सिनेमाई एडैप्टेशन की डिटेल भी शेयर की।

उन्होंने कहा, विशाल जी ने मेरा पूरा ख्याल रखा। मुझे बोर्ड पर लाने से पहले उन्होंने हैंडसम अमाउंट देते हुए मेरे साथ कॉन्ट्रैक्ट किया। रिलीज के बाद फिल्म अच्छा करती है तो उन्होंने तब भी मुनाफा शेयर करने की बात की है। बहरहाल, मेरी मूल कहानी में दो बहनों के कथित जंगकी कहानी उनकी शादीशुदा जिंदगी के बाद की है। फिल्म में उसे विस्तार दिया गया। हम उनके बचपन और जवानी में भी गए हैं। वहां उनके संबंधों का भी बखान किया है।विशाल जी ने कहा कि बड़े दिनों बाद वे कॉमेडी ट्राई कर रहे हैं। ऐसे में फिल्म में और भी कैरेक्टर क्रिएट किए जाएं।तो हमने सुनील ग्रोवर, सानंद वर्मा और हीरोइनों की सास के कैरेक्टर क्रिएट करवाए। पिता बने विजय राज की खूबियां-खामियां भी इंट्रोड्युस करवाई। इस तरह फिल्म में कई मजेदार किरदार इकट्ठे हो गए हैं।

चरण आगे बताते हैं, कहानी के फिल्म में एडैप्ट होने की प्रक्रिया पिछले साल मार्च से शुरू हुई थी। किरदारों के सोच-अप्रोच से जुड़े 16 से 17 पहलुओं को ध्यान में रखते इसका स्क्रीनप्ले तैयार किया गया। वह करने में विशाल को ज्यादा वक्त नहीं लगा। उन्होंने महज एक महीने में उस काम को अंजाम दे दिया। मेरी और भी कहानियां हैं। हालांकि विशाल जी के संग सिर्फ एक कहानी का कॉन्ट्रैक्ट हुआ है। बाकी कहानियों के लिए दूसरे प्रोड्युसर और डायरेक्टर से बात करूंगा।

X
writer charan singh pathik will get profit share from Vishal Bhardwaj
Click to listen..