--Advertisement--

तारक मेहता के चारु पांडे ने शेयर कीं डॉ. हाथी से जुड़ी बातें,कहा-'परिवार की वजह से नहीं की थी शादी'

शो में इंस्पेक्टर बने एक्टर दयाशंकर की वजह से ही कवि कुमार आज़ाद को तारक मेहता का उल्टा चश्मा में काम मिला था।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 11:57 AM IST

मुंबई। 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में डॉ. हंसराज हाथी का किरदार निभाने वाले कवि कुमार आज़ाद का सोमवार को हार्ट अटैक से निधन हो गया। शो में इंस्पेक्टर चारु पांडे का रोल प्ले करने वाले दयाशंकर पांडे की मानें तो पूरे सेट पर कवि से ज्यादा हंसमुख व्यक्ति कोई नहीं था। चाहे शो में हंसराज की जगह कोई भी ले, लेकिन कवि की जगह कोई नहीं ले सकता। हाल ही में दैनिकभास्कर से बातचीत के दौरान दया ने कवि आज़ाद से जुड़ी कई बातें शेयर कीं।

पहले भी कोमा में जा चुके थे आज़ाद: कवि 2010 में बहुत बीमार हो गए थे25 दिन वेंटीलेटर पर थे। उस वक्त भी वे कोमा में जा चुके थे। छोटी उम्र में ही उन्हें ओबेसिटी हो गई थी लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी। पैसे कमाकर बचाने में विश्वास नहीं करते थे, वे अपने पैसों से दूसरों की मदद करने की हमेशा सोचा करते थे।

स्पेशल चेयर बनवाई थी असित मोदी ने: इन दस सालों में कवि कभी भी अपसेट नज़र नहीं आएहर दिन खूब सारी चॉकलेट्स लाते और सेट पर बांटते थे। उनके लिए असित जी ने सेट पर एक स्पेशल चेयर भी बनवाई थी। सभी लोग सेट पर उनकी बहुत केयर करते थे।

'जोधा अकबर' के सेट पर मिले थे दयाशंकर और कवि आज़ाद: दया ने बताया,'तक़रीबन दस साल पहले मैं आशुतोष गोवारिकर की फिल्म 'जोधा अकबर' में काम कर रहा था और वहीं पर मेरी मुलाकात आज़ाद से हुई थी। वो वहां शायरी भी करते थे तो मैंने उनसे पूछा कि आप शायर हो या एक्टर? तब उन्होंने कहा कि वे एक्टिंग के साथ-साथ शायरी करना भी पसंद है। वो एक ज़िंदादिल इंसान थे। आशुतोष की फिल्म में उन्हें एक छोटा सा रोल मिला। वहीं दूसरी तरफ मेरी और उनकी भी थोड़ी बहुत बातचीत शुरू हो गई।

'सर जो भी काम मिले वो मैं करूंगा' - कवि आज़ाद

दया कहते हैं,'तारक मेहता से मैं शुरुआत से जुड़ा हुआ हूं। मुझे याद है उस वक्त शो में डॉ.हाथी का किरदार निभाने वाले जो एक्टर थे उनकी कुछ डेट्स को लेकर प्रॉब्लम हो रही थी। जब असित मोदी ने इस बात का ज़िक्र मुझसे किया तब सबसे पहले कवि का चेहरा मेरे सामने आया। उस वक्त उन्हें काम की बहुत ज़रूरत थी। असितजी से बात करने के बाद मैंने उन्हें पूछा कि वे सीरियल में काम करने के लिए तैयार हैं? तब उनका जवाब था, सर जो भी काम मिले मैं करूंगा तब मैंने उनकी मुलाकात असित से करवाई और उनकी तुरंत कास्टिंग हो गई।'

'तारक मेहता' करने के बाद जिंदगी में आए बदलाव: शो के दौरान उनकी लाइफ में अच्छी ग्रोथ हुई। उन्होंने मुंबई में अपना एक घर लिया।एक रेस्टोरेंट खोला। मुझे याद है कि जब उन्होंने घर लिया था तब वे मुझे मिठाई खिलाने मेरे घर आए थे। अपनी जिंदगी को बदलता देख वे बहुत खुश थे।

भोजपुरी फिल्म बनाना चाहते थे: कवि भोजपुरी फिल्म बनाना चाहते थे। खुद के ज़रिये लोगों को काम दिलवाना चाहते थे।

उन्हें रिप्लेस करना आसान नहीं: कवि के कुछ एपिसोड्स बैंक किया हुआ है तो फ़िलहाल कुछ आनेवाले एपिसोड्स में वे नज़र आएंगे। अभी तक उन्हें कौन रिप्लेस करेगा ये कुछ तय नहीं हुआ हैं। उन्हें रिप्लेस करना आसान नहीं है।

दयाशंकर पांडे ने लगान,बाज़ी,गुलाम,दस्तक सहित कुछ अन्य फिल्मों में काम किया है। इसके साथ ही तारक मेहता का उल्टा चश्मा के अलावा वह महिमा शनिदेव की, वीरा, देवों के देव महादेव और बड़ी देवरानी जैसे शोज में काम कर चुके हैं। दयाशंकर पांडे ने लगान,बाज़ी,गुलाम,दस्तक सहित कुछ अन्य फिल्मों में काम किया है। इसके साथ ही तारक मेहता का उल्टा चश्मा के अलावा वह महिमा शनिदेव की, वीरा, देवों के देव महादेव और बड़ी देवरानी जैसे शोज में काम कर चुके हैं।