इंटरव्यू / कंगना रनोट ने कहा- '#MeToo मूवमेंट के बाद लोग अब सोच समझकर कदम उठा रहे हैं'

Dainik Bhaskar

Jan 22, 2019, 05:19 PM IST


Kangana Ranaut opens up about #MeToo movement
Kangana Ranaut opens up about #MeToo movement
Kangana Ranaut opens up about #MeToo movement
X
Kangana Ranaut opens up about #MeToo movement
Kangana Ranaut opens up about #MeToo movement
Kangana Ranaut opens up about #MeToo movement

बॉलीवुड डेस्क. मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ़ झांसी 25 जनवरी को रिलीज हो रही है। इससे पहले फिल्म में रानी लक्ष्मीबाई का किरदार निभा रहीं कंगना रनोट ने एक इंटरव्यू में महिलाओं से जुड़े कई मुद्दों पर बात की है।

#Metoo के बाद आया है बदलाव

  1. कंगना ने कहा, "बॉलीवुड में मीटू मूवमेंट की कई स्तर पर समीक्षा किए जाने की जरुरत है। हमें देखना होगा कि जो भी निकलकर सामने आया है उसका कुछ मतलब है। अब लोग कुछ भी करने या कहने से पहले सोचने लगे हैं। उन्हें डर लगता है कि कहीं रिपोर्ट न हो जाए। पहले बॉलीवुड में सबको पांच-छह नामों के बारे में जानकारी थी,लेकिन कोई कुछ करता नहीं था, आज वो सब एक्सपोज हो चुके हैं। इसके अलावा मुझे लगता है कि कुछ चीजें ऐसी भी हैं जो गलत हो रही हैं। हम यंग लड़कियों को सही मैसेज नहीं दे रहे।"

     

  2. "हाल ही में रानी मुखर्जी को मीटू पर अपने विचारों की वजह से काफी विरोध का सामना करना पड़ा।यह दुखद है कि महिलाएं ही महिला सशक्तिकरण की बात करने पर ट्रोल होती हैं। हो सकता है कि रानी अपनी बात ठीक तरीके से सामने न रख पाई हों लेकिन उन्होंने जैसे अपनी जिन्दगी जी है वो खुद एक प्रेरणा हैं। जो उन्हें जानते हैं,उन्हें पता होगा कि वो कमजोर नहीं हैं, उन्होंने अपनी जिन्दगी अपनी शर्तों पर जी है।"

  3. "किसी दूसरे से ये अपेक्षा करना कि वो हमारी सुरक्षा करे, ये सही नहीं कहा जा सकता। अगर मैं ऐसा सोचती जब मैं 16 की थी तो पता नहीं मैं कहां होती या पता नहीं मैं जिन्दा होती भी या नहीं।अगर कोई क्रिमिनल क्राइम करने वाला होता है, तो उसे पता होता है कि वो ऐसा करेगा। मैं एक ग्रुप में खड़ी थी तो एक आदमी ने मुझे पीछे से कमर के नीचे पिंच कर लिया था,वह ऐसा करने के बाद वहीं खड़ा था और उसने मेरी आंखों में ऐसे देखा जैसे पूछ रहा हो कि क्यों अब तुम क्या करोगी? ऐसे में आप लड़की से क्या एक्स्पेक्ट करेंगे? मुझे लगता है कि हमें लड़कियों को कुछ बेसिक रूल्स समझाने होंगे कि सुरक्षा का मतलब केवल मार्शल आर्ट्स आना ही नहीं होता। इसका मतलब होता है कि आप खुद को कैसे सेव करोगे।"

COMMENT