--Advertisement--

एक गाना पोस्ट करते ही उड़ी रिटायरमेंट की अफवाह तो भड़कीं 89 साल की लता मंगेशकर, बोलीं- ये किसी खाली बैठे बेवकूफ आदमी का काम है!

जब 32 साल की थीं, तब ज़हर देकर मारने की हुई थी कोशिश

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 05:33 PM IST
Lata Mangeshkar reacts on his retirement rumours

एंटरटेनमेंट डेस्क. हिंदी फिल्मों में 25 हजार से ज्यादा गाने गा चुकी लता मंगेशकर ने अपने रिटायरमेंट की खबरों को फर्जी बताते हुए कहा कि ‘ये अफवाह किसी खाली बैठे बेवकूफ इंसान का काम है। मैं रिटायरमेंट नहीं ले रही और अपनी आखिरी सांस तक गाती रहूंगी।’ दरअसल, कुछ वक्त पहले स्वर कोकिला ने एक मराठी गाना सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था जिसे लोगों ने उनका रिटायरमेंट मान लिया। 5 साल पहले गाया था मराठी गाना...


'अता विश्व्याछा कसां' का हिंदी में मतलब होता है-'अब आराम का समय है' लोगों ने इसे उनके रिटायरमेंट से जोड़कर देखा। लता के मुताबिक, उन्हें इसका पता दो दिन पहले चला जब घर पर रिटायरमेंट से जुड़े फोन और मैसेज आने लगे। दूसरी ओर, लता के बयान के बाद उनके फैंस खुश हैं।


5 साल पहले गाया था मराठी गाना


एक बातचीत में लता ने कहा, ये गाना मैंने 5 साल पहले गाया था, लेकिन पोस्ट अब किया है। मुझे अंदाजा नहीं था कि लोग इसे मेरे रिटायरमेंट से जोड़ लेगें। उन्होंने कहा कि ‘मैं नहीं जानती ये अफवाह कैसे फैली। 2013 में ये गाना लेकर म्यूजिक डायरेक्टर सलील कुलकर्णी मेरे पास आए थे। मैं इसे इसलिए गाने के लिए तैयार हुई क्योंकि ये प्रसिद्ध कवि बालकृष्ण भगवंत बोरकर ने लिखा था और मैंने इससे पहले कभी उनकी कोई कविता नहीं गाई थी।’

2015 में गाया था फिल्मी गाना


13 साल की उम्र से फिल्मों में गा रहीं लता ने 3 साल पहले यानी 2015 में फिल्म Dunno Y2...Life is a moment के लिए आखिरी बार गाना गाया था। गाने के बोल थे-जीना क्या है, जाना मैंने। इस फिल्म में हेलन, कबीर बेदी और जीनत अमान ने एक्टिंग की थी। इससे पहले 2017 में उन्होंने दो भजन एलबम रिकॉर्ड किए थे- राम रतन धन पायो और राम श्याम गुणगान। बता दें खराब सेहत के चलते लता अब फिल्मी गीतों से दूर हैं। हालांकि सोशल मीडिया पर खासी एक्टिव रहती हैं।

पहले मज़रूह खाना चखते थे, फिर लता को लेते


1962 में जब लता 32 साल की थी तब उन्हें स्लो प्वॉइजन दिया गया था। लता की बेहद करीबी पद्मा सचदेव ने इसका जिक्र अपनी किताब ‘ऐसा कहां से लाऊं’ में किया है। जिसके बाद राइटर मजरूह सुल्तानपुरी कई दिनों तक उनके घर आकर पहले खुद खाना चखते, फिर लता को खाने देते थे। हालांकि, उन्हें मारने की कोशिश किसने की, इसका खुलासा आज तक नहीं हो पाया।

X
Lata Mangeshkar reacts on his retirement rumours
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..