\'मणिकर्णिेका\' के लिए चौतरफा तारीफ पा रहीं कंगना को कभी पैदा होने पर सुनने पड़े थे ताने, मॉडलिंग के लिए स्कूल छोड़ा तो पापा ने की थी जमकर पिटाई / 'मणिकर्णिेका' के लिए चौतरफा तारीफ पा रहीं कंगना को कभी पैदा होने पर सुनने पड़े थे ताने, मॉडलिंग के लिए स्कूल छोड़ा तो पापा ने की थी जमकर पिटाई

एक वजह से बहन रंगोली भी कंगना के साथ चलने में शर्मिंदगी महसूस करती थी

DainikBhaskar.com

Dec 18, 2018, 08:41 PM IST
Manikarnika Heroine Kangana Ranaut Life Interesting Facts

मुंबईबॉलीवुड 'क्वीन' कंगना रनोट की मोस्टअवेटेड मूवी 'मणिकर्णिका' का ट्रेलर 18 दिसंबर को रिलीज हुआ। ट्रेलर में झांसी की रानी लक्ष्मीबाई के किरदार में कंगना जबरदस्त लगी हैं। फिल्म में परफेक्ट एक्टिंग, डायलॉग, वीएफएक्स और कंगना के डायरेक्शन की भी तारीफ हो रही है। वैसे, आज भले ही फिल्मों में कामयाब कंगना की चौतरफा तारीफ हो रही है लेकिन कभी कंगना के पेरेंट्स उन्हें अनवांटेड चाइल्ड मानते थे। वुमंस डे पर एक इंटरव्यू में कंगना ने कहा था कि जब वो पैदा हुईं, तब उनके पेरेंट्स बिल्कुल भी खुश नहीं थे। दरअसल, जब कंगना की बड़ी बहन रंगोली का जन्म हुआ था तो घरवाले खुश थे। लेकिन दूसरे बच्चे के तौर पर जब घर में लड़की हो गई, तो परिवार वाले नाराज हो गए थे। मॉडलिंग के लिए स्कूल छोड़ा तो पापा ने की थी कंगना की पिटाई...


कंगना के पिता अमरदीप रनोट पेशे से बिजनेसमैन हैं और वो बेटी को डॉक्टर बनाने चाहते थे। उन्होंने मेडिकल की पढ़ाई के लिए कंगना का एडमिशन चंडीगढ के DAV स्कूल में कराया था। स्कूल में कंगना को मेडिकल की किताबों में बिल्कुल इंटरेस्ट नहीं था। उन्हें रैंप पर चलना ज्यादा पसंद आता था। स्कूल में फेयरवेल हो या फ्रेशर पार्टी कंगना के बिना कोई भी फंक्शन अधूरा रहता था। स्कूल की प्रिंसिपल डॉक्टर राकेश सचदेवा के मुताबिक, कंगना उस वक्त से ही मॉडलिंग में दिलचस्पी रखती थी। कंगना को मॉडलिंग इतनी पसंद थी कि उसने स्कूल छोड़ दिया और हॉस्टल से पीजी में शिफ्ट हो गई। पिता अमरदीप को जब इसकी भनक लगी तो उन्होंने कंगना की जमकर पिटाई की थी।


चंडीगढ़ से दिल्ली होते हुए मुंबई पहुंचीं कंगना...
कंगना को शुरु से ही मॉडलिंग का शौक था। एक्टिंग के लिए वो महज 15 साल की उम्र में बिना परमिशन लिए चंडीगढ़ से दिल्ली आ गईं थीं। दिल्ली में इंडिया हैबिटेट सेंटर में काफी मेहनत के बाद एक्टिंग करने का मौका मिला। 5-6 महीने के बाद एक्टिंग वर्कशॉप के अरविंद गौड़ ने कंगना को मौका दिया। बैक स्टेज एक्टिंग करते-करते कंगना को एक बार एंकर बनने का मौका भी मिला। इस एंकरिंग को ही कंगना अपना पहला ब्रेक मानती हैं और इसके बाद वो मुंबई के लिए निकल पड़ीं।


नाराज पिता ने सालों तक नहीं की थी कंगना से बात...
रिपोर्ट्स के मुताबिक कंगना के घर से भागने और फिल्मों में काम करने की वजह से कंगना के पिता ने उनसे सालों तक बात नहीं की थी। कंगना ज्योतिष में काफी विश्वास करती हैं। वे जब भी मंडी आती हैं यहां के ज्योतिष लेखराज शर्मा से जरूर मुलाकात करती हैं।


पापा कंगना को बुलाते थे 'लेडी डायना...'
23 मार्च, 1987 को हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला के पास स्थित सुरजपूर (भाबंला) में जन्मी कंगना अपने बोल्ड किरदार, बड़बोलेपन, एक्टिंग स्किल्स और पर्सनल लाइफ के चलते हमेशा सुर्खियों में रहती हैं। कंगना की बहन रंगोली के मुताबिक, "मुझे याद है, बचपन से उसे फैशन के कीड़े ने काट रखा था। भाबंला जैसी छोटी जगह में भी वह पब्लिकली अजीबो-गरीब कपड़े पहनती थी। वह शॉर्ट पेंट्स, व्हाइट शर्ट और हैट पहनकर घूमती थी। छोटी-सी जगह में इस तरह के कपड़े पहनने से लोग सोचते थे कि वह अजीब है। मुझे उसके साथ चलने में शर्मिंदगी महसूस होती थी तो मैं साथ जाना अवॉइड करती थी। उसके ड्रेसिंग की वजह से डैड उसे 'लेडी डायना' बुलाते थे।


बचपन में नहाने से कतराती थीं कंगना...
कंगना के मुताबिक, ‘बचपन में मैं बहुत आलसी हुआ करती थी। यहां तक कि नहाने में भी आना-कानी करती थी। मेरे घर वाले इस आदत से बहुत दुखी थे। अब मैं सोचती हूं कि शायद इसी कारण तब कोई मेरा दोस्त नहीं बना। हालांकि जैसे ही मैंने अपनी सफाई पर ध्यान देना शुरू किया, मेरे जीवन में बहुत कुछ अच्छा होना शुरू हो गया।


कंगना की फेवरेट हैं उनकी बड़ी बहन...
कंगना के पिता अमरदीप रनोट बिजनेसमैन और मां आशा रनोट स्कूल टीचर हैं। कंगना की बड़ी बहन रंगोली, उनकी फेवरेट हैं। रंगोली, कंगना की मैनेजर है। एसिड अटैक जैसे दर्दनाक हादसे से गुजरने और नए सिरे से जिंदगी जीने वाली रंगोली की लाइफ पर कंगना बायोपिक बनाने की चाहत भी जाहिर कर चुकी हैं। कंगना का एक छोटा भाई भी है, जिसका नाम अक्षत है।

X
Manikarnika Heroine Kangana Ranaut Life Interesting Facts
COMMENT