मूवी रिव्यू / नवाज-अथिया की 'माेतीचूर चकनाचूर' ऐसी फिल्म जिसे देखकर पछताना नहीं पड़ेगा

Movie Review Motichoor Chaknachoor
X
Movie Review Motichoor Chaknachoor

दैनिक भास्कर

Nov 15, 2019, 05:17 PM IST
रेटिंग 3.5/5
स्टारकास्ट नवाजुद्दीन सिद्दीकी, अथिया शेट्‌टी, विभा छिब्बर, नवनि परिहार, विवेक मिश्रा, करुणा पांडे, सनी लियोनी
निर्देशक देबमित्रा बिसवाल
निर्माता राजेश भाटिया, किरन भाटिया, वायाकॉम 18 मोशन पिक्चर्स 
म्यूजिक भरत हितार्थ, रामजी गुलाटी, अर्जुन हरजाई, अमजद नदीम, सिद्धार्थ अमित, अभिजित
जोनर कॉमेडी ड्रामा
अवधि 132 मिनट

 

बॉलीवुड डेस्क. देबमित्रा की कहानी, शोएब हसन की पटकथा और भूपेंद्र सिंह के डायलॉग से सजी इस फिल्म की कॉमेडी बड़ी प्यारी है। तीनों ने मिलकर, जो कॉमेडी के 'लड्डू' बनाए हैं, उसे खा कर पछताने वाली सूरत कतई नहीं है। नवाज़ुद्दीन सिद्धकी के साथ-साथ अथिया शेट्टी ने बुंदेलखंड के एक्सेंट को पकड़ कर ही अपना काम बहुत हद तक अंजाम तक पहुंचाया है। 

 

 

दमदार रही नवाज-अथिया की जोड़ी

यह मूल रूप से मनोरंजक किरदारों से ड्राइव होती है। उन किरदारों की कमान नवनी परिहार, विभा छिब्बर, संजीव वत्स, विवेक मिश्रा, करुणा पांडे जैसे मंझे हुए कलाकारों के हाथ में है। सब ने मिलकर अपनी दमदार अदायगी से फिल्म में हंसी और इमोशन के सतरंगी रंग भरे हैं। फिल्म के क्लाइमैक्स और स्क्रीनप्ले में थोड़ी सुस्ती को नजर अंदाज किया जाए तो फिल्म दर्शकों का मनोरंजन करती है।

भोपाल से ताल्लुक रखने वाला नायक पुष्पेंद्र त्यागी 36 का हो चुका है। दुबई रिटर्न है। शादी नहीं हो रही और इसलिए वह उसको लेकर खासा बेचैन रहता है। पड़ोस में रहने वाली नायिका एनी यानी अनीता को ऐसा सपनों का राजकुमार चाहिए, जो उसे विदेश में  रखे ताकि अपनी उन सहेलियों पर रौब झाड़ सके जो शादी के बाद विदेशों में सेटल हैं। इस चक्कर में वह ढेर सारे रिश्तोे को ठुकरा चुकी है। फाइनली उसे नायक पुष्पेंद्र त्यागी में अपना वह सपना पूरा होता नजर आता है। उसे लगता है कि पुष्पेंद्र त्यागी से शादी कर उसका विदेश जाने का प्रोग्राम सेट हो सकता है। 

इस प्लॉट के अलावा एक सब प्लॉट पुष्पेंद्र त्यागी के परिवार का भी है। उस परिवार की पूरी जिम्मेदारी पुष्पेंद्र त्यागी पर है उसकी मां चाहती है कि वह दुबई में ही रहे और वहां से अपनी बहन की शादी से लेकर घर का कर्ज भी उतारे। सही मायने में देखा जाए तो यह वाला सब प्लॉट भी फिल्म में बड़ी खूबसूरती से दर्ज हुआ है। ऐसे परिवारों के मुखिया की अपने कमाऊ बेटे से उम्मीद और अटैचमेंट यानी जुड़ाव किस हद तक का रह जाता है उसे कहानीकार ने खूबसूरती से पेश किया है।

फिल्म पूरे तरीके से नवाज़ुद्दीन और अथिया शेट्टी के कंधों पर सवार है। दोनों के लिए खुशकिस्मती इस बात की रही कि साथी कलाकारों ने भी उनकी इस काम में पूरी मदद की। पुष्पेंद्र त्यागी के छोटे भाई की बात हो या फिर एनी की मौसी सबने अपनी मजबूत मौजूदगी दर्ज की है। पुष्पेंद्र की मां के रोल में विभा छिब्बर ने राजश्री वालों की 'विवाह' के बाद एक बार फिर अपनी छाप छोड़ी है। 

एनी की मां के रोल में नवनि परिहार ने विभा छिब्बर को पूरी तरह से कॉम्प्लिमेंट किया है। पुष्पेंद्र के छोटे भाई के किरदार में संबंधित कलाकार का काम भी उल्लेखनीय है। फिल्म के बैकड्राप में मथुरा, बुंदेलखंड भी आ गया है। मेकर्स बहुत क्लीयरली यह स्टैब्लिश नहीं करते कि फिल्म आखिरकार किस लोकेशन पर सेट है। यहां लोकेशन के मामले में काफी स्मार्ट वर्क किया है गिनती के लोकेशन पर इसे शूट किया गया है बीच-बीच में पूरे शहर का एरियल शॉट बस दिखाया भर गया है। 

फिल्म की कॉमेडी लाउड होने से बचती है। बहुत सटल रहती है। अपनी नेचुरल गति से चलती रहती है बीच में जरूर या धीमी होती है, पर किरदारों को मिले वन लाइनर पंचेज से या वापस दिलचस्प बनती रहती है। गाने फिल्म के मूड के हिसाब से अच्छे हैं।फिल्म की कॉमेडी लाउड होने से बचती है। बहुत सेटल रहती है। अपनी स्वभाविक गति से चलती रहती है। बीच में जरूर या धीमी होती है, पर किरदारों को मिले वन लाइनर पंचेज से या वापस दिलचस्प बनती रहती है। गाने फिल्म के मूड के हिसाब से अच्छे हैं। 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना