• Home
  • Entertainment News
  • News
  • संजय दत्त की बहन नम्रता ने देखी संजू, Namrata Dutt reacts after watching Sanju
--Advertisement--

संजय की छोटी बहन नम्रता ने संजू देखकर कहा-'सुनील दत्त बने परेश रावल की एक्टिंग नहीं जमी'

नम्रता 56 साल की हैं। उनकी शादी एक्टर कुमार गौरव से 1984 में हुई थी। वह लीजेंड्री स्टार राजेंद्र कुमार के बेटे हैं।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 04:26 PM IST

बॉलीवुड डेस्क. संजय दत्त की बायोपिक संजू में रणबीर कपूर के साथ ही बाकी एक्टर्स की परफॉरमेंस को भी सराहना मिली है। खासकर सुनील दत्त बने परेश रावल की जबरदस्त एक्टिंग की तारीफ सभी ने की है लेकिन सुनील दत्त की बेटी नम्रता दत्त इस बात से इत्तेफाक नहीं रखती हैं। फिल्म देखने के बाद उन्होंने कहा है कि वह परेश रावल से खुद को कनेक्ट नहीं कर पाईं।

एक वेबसाइट से बातचीत में उन्होंने कहा, 'मैं किसी को अपने पिता की जगह पर रखकर नहीं देख सकती। वह स्पेशल थे। ऐसा नहीं मैं परेश रावल को पसंद नहीं करती लेकिन मैं फिल्म में उनसे कनेक्ट नहीं कर पाई क्योंकि मैं ऑडियंस नहीं हूं,सुनील दत्त की बेटी हूं।' नम्रता ने आगे कहा,'नरगिस बनीं मनीषा कोइराला भी ठीकठाक थीं। सुनील दत्त और नरगिस की बेटी होने के नाते जजमेंट देना मुश्किल है। अगर ऑडियंस इन कलाकारों से कनेक्ट कर पाई तो अच्छी बात है।'

कुमार गौरव की वाइफ हैं नम्रता: कुमार ने 'लव स्टोरी' (1981), 'तेरी कसम'(1982) और 'नाम' (1986) जैसी फिल्मों में काम किया था। वह संजय दत्त के करीबी थे और उनके बुरे दौर में हमेशा उनका सपोर्ट किया। रॉकी की रिलीज के बाद जब संजय ड्रग्स के चंगुल में फंस गए थे तो उनका फ़िल्मी करियर डूब रहा था। ऐसे में कुमार ने नाम फिल्म प्रोड्यूस की और यह हिट साबित हुई।

संजय की पूर्व पत्नी ने भी दिया फिल्म पर रिएक्शन: संजय की दूसरी पत्नी रह चुकी रिया पिल्लई ने भी फिल्म देखी है और वह इससे नाखुश बताई जा रही हैं।एक रिपोर्ट के मुताबिक,रिया इस बात से हैरत में हैं कि फिल्म में उनका जिक्र तक नहीं है। मुंबई ब्लास्ट के दौरान संजय की जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव आए थे। उस दौरान रिया, संजय के साथ थीं। दोनों ने 1987 में शादी की थी और 2005 में अलग हो गए थे।

संजय दत्त लिखेंगे आत्मकथा: संजू की सक्सेस से खुश संजय ने अब अपनी आत्मकथा लिखने का फैसला किया है,जि‍से वह अगले साल अपने जन्मदिन 29 जुलाई पर रिलीज करेंगे। इस ऑटोबायोग्राफी को संजय हार्पर कॉलिन्स के सहयोग से प्रकाशित करेंगे। संजय ने कहा, 'मैंने एक असाधारण जिंदगी जी है जो उतार-चढ़ाव, सुख और दुख से भरी है। मेरे पास बताने के लिए कई रोचक कहानियां हैं जो मैंने आज से पहले कभी नहीं बताईं। मैं अपनी यादें और एहसास बांटने के लिए बहुत उत्साहित हूं।'