पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Shaheen Bagh Cleared By Delhi Police Amid Complete Lockdown : Ashoke Pandit Twited And Compare Protestors With Coronavirus

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पुलिस ने शाहीन बाग खाली कराया, अशोक पंडित ने लिखा- पनौती हटी, ग्रहण हटा, अब कोरोवायरस भी हटेगा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फिल्ममेकर अशोक पंडित (बाएं)। - Dainik Bhaskar
फिल्ममेकर अशोक पंडित (बाएं)।

बॉलीवुड डेस्क. कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को शाहीनबाग को पूरी तरह से खाली करा लिया। इस बात को लेकर फिल्ममेकर अशोक पंडित ने दिल्ली पुलिस की सराहना की और कई ट्वीट करते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी। अपने ट्वीट में उन्होंने इस प्रदर्शन को पनौती और ग्रहण बताया, तो वहीं एक अन्य ट्वीट में लिखा कि ऐसे प्रदर्शनकारियों को दूसरों का जीवन खतरे में डालने की अनुमति नहीं दी जा सकती।


अपने पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'पनौती हटी ! ग्रहण हटा ! जहर हटा ! देश के दुश्मन हटे ! अब #Coranavirus भी हटेगा !' इसके बाद अपने अगले ट्वीट में उन्होंने फिल्म 'कोरा कागज' के टाइटल सॉन्ग वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, 'शाहीनबाग से बेदखल होने के बाद आज हर प्रदर्शनकारी और उनके समर्थकों को इस गाने को गाना होगा.. मेरा जीवन कोरा कागज कोरा ही रह गया।'

सलाखों के पीछे पहुंचाना चाहिए


अगले ट्वीट में पंडित ने प्रदर्शनकारियों को सबक सिखाने की बात कही, उन्होंने लिखा, '#शाहीन बाग को मीडिया द्वारा पूरी तरह ब्लैकआउट किया जाना चाहिए। तोड़फोड़ करने वालों को उठाकर सलाखों के पीछे पहुंचा देना चाहिए। उनकी कमर तोड़ देनी चाहिए, ताकि अगली बार उपद्रव करने से पहले ऐसी देशविरोधी ताकतें दो बार सोचें।'

'दूसरों की जान खतरे में नहीं डाल सकते कुछ लोग'


वहीं एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'इन लोगों को अपनी सही जगह पर पहुंचाने के लिए आंसू गैस और पानी की तेज बौछारों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। उन्हें दूसरों की जान खतरे में डालने की अनुमति नहीं दी जा सकती। उनका घमंड और देश के खिलाफ लड़ाई को कुचल दिया गया। इस #स्वच्छ शाहीन बाग अभियान के लिए दिल्ली पुलिस को शाबासी #सुरक्षित रहें#घर पर रहकर जिंदगियां बचाएं'

शाहीनबाग धरना हुआ खत्म


पुलिस ने मंगलवार को कार्रवाई करते हुए शाहीनबाग को भी खाली करा लिया। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ यहां पिछले साल 15 दिसंबर से लोग प्रदर्शन पर बैठे हुए थे और तमाम अनुरोध, समझाइश और मान-मनौव्वल के बाद भी हटने को तैयार नहीं थे। कोरोनावायरस से निपटने के लिए दिल्ली में हुए लॉकडाउन के बाद एकबार फिर उनसे हटने की अपील की गई, लेकिन उन्होंने फिर इनकार कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने पहले प्रदर्शनकारियों से हटने के लिए कहा। फिर जब वे नहीं माने तो कार्रवाई करना पड़ी। कुछ लोगों को गैर कानूनी ढंग से जुटने के लिए हिरासत में ले लिया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें