उम्र / 97 के दिलीप कुमार, 91 की लता; किरदारों से दूर सही, दिलों में बसे हैं ये 10 लिविंग लीजेंड्स

Dilip Kumar of 97, Lata of 91; These 10 living legends are located in the heart, far away from the characters
X
Dilip Kumar of 97, Lata of 91; These 10 living legends are located in the heart, far away from the characters

दैनिक भास्कर

Dec 12, 2019, 12:00 PM IST
बॉलीवुड डेस्क. मीर तकी मीर का मशहूर शेर है कि "अब जो इक हसरत-ए-जवानी है, उम्र-ए-रफ़्ता की ये निशानी है" यह शब्द दिलीप कुमार, लता मंगेशकर, मनोज कुमार सहित उन सेलेब्स पर सटीक बैठते हैं जिनके लिए उम्र महज आंकड़ा भर है। जीवन में 90 से ज्यादा बसंत देख चुके ये सितारे शरीर से भले ही बुजुर्ग हो चुके हैं, लेकिन जीने की ख्वाहिश आज भी उतनी ही जवान और ऊर्जावान है। लंबे समय से पर्दे से दूर ये स्टार्स बखूबी जानते हैं कि बाहर फैंस इनके लिए दुआएं करते हैं और जीवन की गतिविधियों के बारे में जानना चाहते हैं। हम आपको बताते हैं कि कैसा है इन दिग्गजों का जीवन जीने का तरीका और नजरिया।

दिलीप कुमार को जश्न मनाना पसंद नहीं है

दिलीप कुमार
दिलीप कुमार

11 दिसंबर को इंडस्ट्री के ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार 97 साल के हो गए हैं। दिलीप साहब के बारे में खास बात है कि उन्हें जश्नों से परहेज है। उन्हें जन्मदिन मनाना पसंद नहीं है। 'ज्वार भाटा' से करियर की शुरुआत करने वाले दिलीप आज भी बढ़ती उम्र को मात देते नजर आते हैं। हिंदी सिनेमा में यथार्तवाद लाने वाले दिलीप साहब आज भी सोशल मीडिया के जरिए अपना जीवन, हसरतें, बधाईयां और स्वास्थ्य की जानकारी साझा करते रहते हैं। हालांकि उनका आधिकारिक ट्विटर हैंडल भतीजे फैजल फरूखी द्वारा संभाला जाता है, लेकिन यह सब साहब की देखरेख में ही होता है।

लता मंगेशकर
लता मंगेशकर

हाल ही में अस्पताल से स्वस्थ्य होकर लौटीं स्वरकोकिला लता मंगेशकर 90 वर्ष की हो चुकी हैं। कई भाषाओं में 36 हजार से ज्यादा गानों में अपनी आवाज दे चुकीं लता मंगेशकर को भारत के सबसे बड़े सम्मान भारत रत्न से भी नवाजा जा चुका हैं। बेहतरीन मेजबान और कुक के तौर पर भी पहचानी जाने वाली लता अब उम्र के कारण तीखा और मसालेदार खाना नहीं खा पाती हैं। फिलहाल डॉक्टरों की सख्त हिदायत के चलते कि उन्हें विटामिन से भरी सब्जियों को खाना पड़ता है, जबकि उन्हें यह बिल्कुल भी पसंद नहीं हैं। 2008 में दिए एक इंटरव्यू में लता मंगेशकर ने बताया था कि वे सुबह जल्दी उठती हैं। अक्सर यह समय सुबह के 6 बजे के बाद का होता था। नाश्ते में चाय-कॉफी के साथ बिस्किट लेती हैं। उन्होंने स्पाइसी, ऑइली खाना और आचार सालों से बेहद कम कर दिया है।

24 फरवरी 1927 को जन्मी हिंदी फिल्मों और टीवी में काम कर चुकीं कामिनी कौशल 91 साल की हो चुकी हैं। करीब दो साल पहले एक अखबार में दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि मुझे जन्मदिन मनाना पसंद नहीं है, लेकिन बच्चे नहीं मानते। इसके अलावा उन्होंने बढ़ती उम्र को लेकर कहा कि एक और साल मेरे जीवन में जुड़ गया, लेकिन जब तक मेरे दिल में शांती है उम्र से कोई भी फर्क नहीं पड़ता है। इंडस्ट्री में उनके और दिलीप कुमार के अफेयर की भी खबरें काफी पुरानी है। फेमस उर्दू राइटर इस्मत चुगताई ने एक इंटरव्यू में कहा था कि दिलीप कुमार को जितना प्यार कामिनी कौशल से था, उतना कभी किसी और से नहीं हो पाया। एक्ट्रेस को साल 1946 में अभिनय के लिए कांस फिल्म फेस्टिवल में प्रतिष्ठित पाल्म डी ओर से नवाजा जा चुका है।

गुलजार साहब
गुलजार साहब

आस्कर, पद्म भूषण और दादा साहेब फाल्के जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों से गुलजार साहब का प्रोफेशनल करियर सजा हुआ है। 18 अगस्त 1934 को जन्में लेखक, निर्देशक, कवि गुलजार साहब ने भी अपने जीवन के 85 साल पूरे कर लिए हैं। सादगी की मिसाल गुलजार का कहना है कि "दिन कुछ ऐसे गुजरता है कोई, जैसे एहसान उतारता है कोई, आईना देखकर तसल्ली हुई, हमको इस घर में जानता है कोई।" साल 1999 में निर्देशन का पारी को विराम देने वाले गुलजार साहब अभी भी गीतकार के तौर पर इंडस्ट्री में सक्रिय हैं।

शब्दों के माहिर खिलाड़ी 85 साल के गुलजार खेलों में भी दिलचस्पी रखते हैं वे रोज अल सुबह उठकर करीब दो घंटे टेनिस खेलते हैं। इसक अलावा वे क्रिकेट के भी बड़े प्रशंसक हैं और सुनील गावस्कर और वसीम अकरम को अपना पसंदीदा क्रिकेटर बताते हैं। इतना ही उनके क्रिकेट प्रेम का आलम यह है कि वे कई बार ख्वाबों में खुद को मैच खेलते देख लेते हैं।

मनोज कुमार
मनोज कुमार

इंडस्ट्री में देशभक्त फिल्मों से मशहूर हुए वेटरन एक्टर मनोज कुमार को भारत कुमार भी कहा जाता है। करीब चार साल पहले कमर दर्द की शिकायत के बाद एक्टर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। करीब 15 दिन तक लगातार इलाज के बाद उनकी घर वापसी हुई थी। लंबे समय से रुपहले पर्दे से दूर भारत कुमार लाइमलाईट से दूर हैं। गौरतलब है कि एक्टर के प्रशंसकों में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री भी शामिल थे। गौरतलब है कि उन्हें दादा साहब फाल्के पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है।

प्रेम चोपड़ा
प्रेम चोपड़ा

बॉलीवुड के मशहूर विलेन प्रेम चोपड़ा 84 साल के हो चुके हैं। इस उम्र में आने के बाद भी प्रेम के हौंसलों में कोई फर्क नहीं आया है। वे अभी भी टीवी सीरियल्स और फिल्मों में नजर आते रहे हैं। एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में उन्होंने अपनी दिनचर्या के बारे में बात की। उन्होंने बताया कि मैं ज्यादा से ज्यादा रिलेक्स रहने की कोशिश करता हूं और किताबें पढ़ता हूं। सदी हुई लाइफस्टाईल जीने वाले प्रेम बताते हैं कि वे सुबह उठकर हल्की-फुल्कि कसरत करते हैं और उसके बाद टहलने या तैराकी करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि वे देर रात कहीं भी जाने से बचते हैं।

धर्मेंद्र
धर्मेंद्र

बॉलीवुड में हीमैन के तौर पर अपनी पहचान बनाने वाले धर्मेंद्र 83 साल की उम्र में भी तंदरुस्त हैं। धर्मेंद्र कई मौकों पर अपने सोशल मीडिया हैंडल्स से अपनी गतिविधियों के बारे में फैंस को बताते रहते हैं। हाल ही में एक्टर को डेंगू जैसी गंभीर बीमारी हो गई थी। अपने हाजिरजवाब अंदाज में धर्म पाजी ने प्रशंसकों को ठीक होने की खबर दी। उन्होंने लिखा कि दोस्तों में लखनऊ गया था। अचानक डेंगू नाम की बेशर्म बीमारी ने आ घेरा, अब आराम है। एक्टर ने कहा कि ऊंट पर बैठे को भी कुत्ता काट लेता है। दिनचर्या के बारे में उन्होंने बताया कि वो रोजाना सुबह 4 बजे उठ जाते हैं। इसके बाद वो 1 घंटे तक प्राणायाम और योगा करते हैं। वॉकिंग भी उनके डेली रूटीन में शामिल है, लेकिन जब कहीं बाहर होते हैं तो आसपास या होटल की लॉबी में ही वॉक करते हैं। धर्मेन्द्र ने कहा कि ये बात मैं शेखी बघारने के लिए नहीं कह रहा हूं, बल्कि आपको इंस्पायर कर रहा हूं। सुबह जल्दी उठो, एक्सरसाइज करो, योगा करो, एक-दूसरे से प्यार करना सीखो।
 

श्याम बेनेगल
श्याम बेनेगल

दादा साहब फाल्के अवॉर्ड विजेता निर्देशक श्याम बेनेगल 84 साल के हो चुके हैं। 'वेल डन अब्बा', 'भूमिका', 'मंथन' जैसी फिल्म तैयार कर चुके श्याम को ने आखिरी बार टीवी सीरीज 'संविधान' का निर्देशन किया था। खबरों के अनुसार श्याम बांगाबंधु शेख मुजिबुर रहमान के जीवन पर बनने जा रही फिल्म का निर्देशन करेंगे। 

वहीदा रहमान
वहीदा रहमान

इंडस्ट्री में कई बड़ी फिल्में दे चुकी पद्म विभूषण वहीदा रहमान 81 वर्ष की हो गई हैं। वहीदा की फिटनेस का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इतनी बड़ी उम्र में भी वे लगातार काम कर रही हैं। उन्होंने हाल ही में ड्रामा फिल्म 'डेजर्ट डॉलफिन' का काम पूरा किया है। यह फिल्म अगले साल की शुरुआत में 1 जनवरी 2020 को रिलीज होने जा रही है। एक इंटरव्यू के दौरान एक्ट्रेस ने बताया मुझे कभी भी डाईट पर रहने की जरूरत नहीं पड़ी और ना ही मैं कभी जिम गई। अपनी दिनचर्या के बारे में उन्होंने बताया कि सुबह उठकर सबसे पहले एक कप स्ट्रॉन्ग फिल्टर कॉफी पीती हैं, जिसके बाद कुछ फल और कभी कभी कॉर्नफ्लेक्स और सीरियल्स को अपनी डाईट में शामिल करती हैं। वहीदा लंच में तली हुई मछली यह दाल, सब्जी और चावल के साथ फिश करी पसंद करती हैं।

माला सिन्हा
माला सिन्हा

हिंदी, बंगाली और नेपाली फिल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेस माला सिन्हा बीते नवंबर में 83 वर्ष की हो गई हैं। माला को बीते वर्ष 2018 में आयोजित फिल्मफेयर अवॉर्ड्स में लाइफटाईम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया था। फिलहाल माला मीडिया से दूर हैं और एक स्वस्थ जीवन जी रही हैं। उन्होंने 50, 60 और 70 के दशक में बॉलीवुड पर राज किया। एक्ट्रेस आखिरी बार साल 1994 में आई 'जिद' में नजर आईं थीं।

नेपामी मां और बंगाली पिता की परवरिश में बड़ी हुई माला घर जाने से पहले अपना स्टार स्टेटस छोड़कर जाती थीं। फेमस होने के बावजूद उनकी मां उन्हें घरेलू लड़की की तरह ही ट्रीट करती थीं। बताया जाता है कि वे अपने पिता से भी बहुत डरती थीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना