बायोपिक / विजय दिवस पर विशेष: 1971 इंडो-पाक वॉर में भारत की शौर्य गाथा परदे पर बयां करेंगे वरुण

Vijay Diwas Special : Varun Dhawan will show India's Gallantry Saga in arun khetarpal biopic based on 1971 Indo-Pak War
X
Vijay Diwas Special : Varun Dhawan will show India's Gallantry Saga in arun khetarpal biopic based on 1971 Indo-Pak War

दैनिक भास्कर

Dec 16, 2019, 09:26 AM IST

बॉलीवुड डेस्क. 16 दिसंबर भारत के लिए विजय दिवस कहलाता है। इसी दिन 1971 में पाकिस्तान ने भारत के आगे युद्ध मैदान में घुटने टेके थे। इसी शौर्य गाथा को अब बॉलीवुड के मेकर्स फिल्म में तब्दील करना चाहते हैं। इस काम जिम्मा दिग्गज निर्देशक श्रीराम राघवन ने उठाया है। हालांकि फिल्म शहीद परमवीर चक्र विजेता लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल की कहानी दिखाएगी, साथ ही कहानी में 1971 वॉर का प्लॉट भी होगा। इसके लिए राघवन के साथ काम कर चुके वरुण धवन को बोर्ड पर लिया गया है। वे फिल्म में खेत्रपाल का किरदार निभाएंगे।

प्री- प्रोडक्शन रिसर्च वर्क में जाएंगे छह महीने  : वैसे तो वरुण धवन इन दिनों कॉमेडी फिल्म 'कुली नंबर.1' के रीमेक में बिजी हैं। मगर इसके ठीक बाद वह इस बायोपिक पर जुट जाएंगे। फिल्म की रिसर्च और तैयारी में ही अगले आठ से नौ महीने का समय लगेगा। ट्रेड के गलियारों में कहा जा रहा था कि फिल्म की कहानी 71 इंडो-पाक वॉर पर बेस्ड होगी। फिल्म के निर्माता दिनेश विजन ने भी साफ किया है कि फिल्म 71 वॉर में अदभुत वीरता दिखाने वाले सेकंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल की बायोपिक होगी।

शहीद लेफ्टिनेंट की वीरता दिखेगी फिल्म में : अरुण भारत के सबसे कम उम्र के परमवीर चक्र विजेता अफसर थे। 1971 की लड़ाई में बासंतार की जंग में पाकिस्तान के पास 5 बटालियन थीं और हिंदुस्तान के पास सिर्फ तीन। तीन टैंकों के साथ 17 पूना हॉर्स के सेकंड लेफ्टिनेंट अरुण को सामने से आ रही पाकिस्तानी 13 लांसर्स के पैटन टैंक्स की कतार को रोकने की जिम्मेदारी दी गई। 21 साल के अरुण सामने से आ रही टुुकड़ी से भिड़ गए थे। उन्होंने पाकिस्तानी सेना का जैसे मनोबल ही तोड़ दिया था। उनकी वीरता की कहानी काफी समय तक पाकिस्तानी डिफेंस की वेबसाइट पर भी रही थी। यह सब कुछ इस फिल्म में दिखेगा।

प्रोड्यूसर दिनेश विजन कहते हैं- "अरुण की वीरता और जिंदादिली के ढेर सारे किस्से हैं। उन सब पर रिसर्च वर्क जारी है। इसके अलावा हम ऐसी फिल्म बना रहे हैं, जिसका नाता देश के अभिमान से है। ऐसे में कलाकारों की यूनिफार्म से लेकर आर्मी के नियम, हार न मानने का जज्बा से लेकर दोनों मुल्कों के हालात दिखाने के लिए छह महीने लगेंगे।"

श्रीराम राघवन ने कहा- "इंडियन आर्मी पर जब कोई फिल्म बनाता है तो उस पर बड़ी जिम्मेदारी होती है। खासकर ऐसे एक व्यक्ति पर जिन्होंने देश के लिए जान दी। तो हम इस चीज को खासा ध्यान रखेंगे कि उनसे संबंधित सभी जानकारी है सही रखें।"

वरुण करेंगे ये तैयारी : वरुण इस फिल्म में अरुण खेत्रपाल का रोल निभाने के लिए अपनी बॉडी लैंग्वेज में कुछ ट्रान्सफॉर्मेशन करेंगे, क्योंकि अरुण की उम्र उस समय 21 साल थी। वरुण को आर्मी ट्रेनिंग भी लेनी पड़ेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना