शॉकिंग / महेश आनंद का शव लेने नहीं आया कोई, साहिला चड्ढा करने वाली थीं अंतिम संस्कार लेकिन पहुंच गई बहन

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2019, 07:17 PM IST


No one comes forward to claim Mahesh Anand's dead body for last rites
No one comes forward to claim Mahesh Anand's dead body for last rites
No one comes forward to claim Mahesh Anand's dead body for last rites
X
No one comes forward to claim Mahesh Anand's dead body for last rites
No one comes forward to claim Mahesh Anand's dead body for last rites
No one comes forward to claim Mahesh Anand's dead body for last rites
  • comment

बॉलीवुड डेस्क. महेश आनंद का संघर्ष मरने के बाद भी खत्म नहीं हो पाया था। अकेलेपन से जूझते हुए महेश की मौत हुई, इसके बाद उनकी डेड बॉडी को लेने भी कोई नहीं पहुंचा। जबकि टोरंटो में उनका बेटा त्रिशूल आनंद भी है। पोस्टमार्टम में महेश की डेथ नैचुरल होना सामने आया। दैनिक भास्कर से खास बातचीत में एक्ट्रेस साहिला चड्ढा ने बताया कि वे कुछ साथियों के साथ मिलकर महेश का अंतिम संस्कार करने वाली थीं, तभी उनकी बहन ने बॉडी क्लेम कर दी। 

 

ओशिवारा में हुआ अंतिम संस्कार : साहिला ने बतायायह बहुत ही निराशाजनक है कि पहली बार में कोई महेश आनंद की बॉडी को क्लैम करने तक नहीं आया। अगर आखिर तक कोई नहीं आता तो मैंने कुछ दोस्तों के साथ बॉडी को क्लैम करने का फैसला लिया था। शुक्र है कि उनकी एक बहन ने आकर बॉडी क्लैम की और अंतिम आज अंतिम संस्कार ओशिवारा श्मशान भूमि पर कर दिया।

 

12 महिलाओं से थे संबंध : साहिला का कहना है कि महेश बहुत अच्छे इंसान थे। पत्नी के साथ उनके संबंध अच्छे नहीं थे। रिपोर्ट्स में यह कहा जा रहा है कि महेश ने 5 शादियां की थीं, लेकिन हकीकत यह है कि उनके संबंध 12 महिलाओं से थे। कुछ से उन्होंने शादी की थी तो कुछ के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहे।

 

बॉडी के पास मिली शराब की बोतल : पुलिस के अनुसार महेश घर में ट्रैक सूट पहने मिले थे। बॉडी के पास शराब की एक बोतल मिली है। इसके अलावा एक्टर के घर के बाहर दो लंच बॉक्स मिले। इससे जाहिर है कि एक्टर ने कई दिनों से खाना नहीं खाया था। 

 

पिछले साल कलाई काटने की कोशिश : महेश आनंद गहरे डिप्रेशन में थे। पिछले साल फेसबुक पर फैन्स से बातचीत के दौरान उन्होंने कलाई काटकर आत्महत्या करने की धमकी दी थी। लेकिन जल्दी ही यह खबर CINTAA के पास पहुंच गई। CINTAA की सदस्य नूपुर अलंकार तुरंत महेश पास पहुंचीं और उन्हें आत्महत्या करने से रोक लिया।

 

वे कहती हैं- मैंने महेश से करीब 50 मिनट तक बात की और उन्हें पुलिस के आने तक व्यस्त रखा। थैंकफुली, वे कलाई नहीं काट पाए थे। वे डिप्रेशन में थे। वे यह तक नहीं जानते थे कि आखिर CINTAA (सिने एंड टेलीविज़न आर्टिस्ट्स एसोसिएशन) है क्या?

 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें