मुंबई / गीतकार साहिर लुधियानवी की हस्तलिखित नज्में, डायरियां कबाड़ की दुकान पर मिलीं



Mumbai-based Film Heritage Foundation, a not-for-profit NGO, found these items
X
Mumbai-based Film Heritage Foundation, a not-for-profit NGO, found these items

  • फिल्म हेरीटेज फाउंडेशन के संस्थापक निदेशक शिवेंद्र सिंह ने 3 हजार रुपए में ये चीजें खरीदीं
  • संगठन अब इनके संरक्षण और अभिलेखों की प्रदर्शनी लगाने का विचार किया जा रहा है

Dainik Bhaskar

Sep 09, 2019, 10:52 AM IST

मुंबई. मैं पल दो पल का शायर हूं..., कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है... जैसे सदाबहार गीत लिखने वाले मशहूर शायर और गीतकार साहिर लुधियानवी की बेशकीमती हस्तलिखित पत्र, डायरियां, नज्में और ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीरें मुंबई के जुहू में एक कबाड़ी की दुकान से मिलीं। 

 

मुंबई के गैर लाभकारी संगठन फिल्म हेरीटेज फाउंडेशन के संस्थापक निदेशक शिवेंद्र सिंह डुंगरपुर ने बताया कि इन डायरियों में उनके रोजाना के कार्यक्रम जैसे गाने की रिकार्डिंग के लिए वे कहां जाएंगे और अन्य निजी बातें आदि हैं।

 

संरक्षण करेंगे
इस कागजों में कई नज्में और नोट भी हैं। उस दौर के संगीतकार रवि, उनके दोस्त हरबंस द्वारा उन्हें लिखे गए पत्र भी हैं। ये पत्र अंग्रेजी और उर्दू में हैं। संगठन ने 3 हजार रुपए में ये सारी चीजें खरीद ली हैं और अब उनके संरक्षण और अभिलेखों की प्रदर्शनी लगाने का विचार कर रही है।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना