विज्ञापन

32 साल से फुटपाथ पर गाने को मजबूर बॉलीवुड के दिग्गजों के साथ काम कर चुका एक कलाकार, अब मदद के लिए आगे आए नेहा कक्कड़ और विशाल ददलानी

Dainik Bhaskar

Aug 18, 2018, 05:52 PM IST

किस्मत ने साथ न दिया, बच्चे शराबी निकल गए लेकिन भीख मांगने से कर दिया इंकार

Remember musician Keshav Lal who plays harmonium on the footpath for 30 years participated in indian idol
  • comment

बॉलीवुड डेस्क. सिंगर नेहा कक्कड़ और सिंगर-कम्पोजर विशाल ददलानी फुटपाथ म्यूजिशियन केशव लाल की मदद के लिए आगे आए हैं। केशव पिछले 32 सालों से पुणे में फुटपाथ पर हारमोनियम बजा रहे हैं। अब उन्हें सिंगिंग रियलिटी शो 'इंडियन आइडल-10' में आने का मौका मिला। शो में उन्होंने 'आवारा हूं' गाना गाकर बेहतरीन परफॉर्मेंस दी। इसी बीच नेहा और विशाल ने उन्हें मदद के लिए एक-एक लाख रुपये देने का ऐलान किया है। केशव अपनी पत्नी के साथ शो में पहुंचे थे। यहां केशव ने बताया कि संगीत ही उनकी जिंदगी में सबसे ज्यादा मायने रखता है।

रोजी-रोटी के लिए सड़कों पर गाते हैं केशव: फिल्म 'पुरानी नागिन' में हारमोनियम बजाने वाले शख्स केशव आज दो वक्त की रोटी के लिए सड़क पर गाना गाने को मजबूर हैं। केशव, लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल जैसे बड़े संगीतकारों के साथ काम कर चुके हैं।
- वो सिंगर हेमंत कुमार के लिए गाना चुके हैं। लेकिन आज किस्मत ने उन्हें ऐसे मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया कि उन्हें पुणे की सड़कों और फुटपाथ पर अपनी पत्नी के साथ घूम-घूम कर गाना पड़ता है ताकि उनका घर चल सके।
- केशवलाल पत्नी सोनिबाई के साथ पुणे के वारजे इलाके में रहते हैं। यहां एक एनजीओ ने उन्हें सरकारी पुनर्वास योजना के तहत एक कमरा दिलाया है।


32 साल से फुटपाथ पर हार्मोनियम बजा रहे केशव: केशव लाल पिछले 32 साल से फुटपाथ पर हारमोनियम बजाकर अपना और अपनी पत्नी का गुजारा कर रहे हैं। देश के लगभग सभी शहर घूमते हुए वे पुणे पहुंचे हैं।
- काफी साल तक फुटपाथ पर ही रहे केशव कई सोसायटी में जाकर गाना गाया लेकिन कभी किसी से भीख नहीं मांगते। गाना सुनने वाले जो भी दे देते हैं उसे वो लेते हैं।
- केशव लाल ने बताया कि वो जरा भी नहीं चाहते थे कि फुटपाथ पर गाना बजाना करेंगे लेकिन किस्मत ने साथ नहीं दिया। बच्चे शराबी निकले, ऐसे में खुद का और बीवी का गुजारा करने के लिए हारमोनियम लेकर वो फुटपाथ पर आ गए।

केशव लाल के पिताजी श्रीलंका में करते थे जवानों का मनोरंजन: केशव लाल गुजरात के रहने वाले हैं। 10 साल की उम्र में से ही केशवलाल अपने पिताजी मूलचंद के साथ हारमोनियम बजाते थे। उनके पिताजी श्रीलंका के कोलंबो में जवानों का मनोरंजन करते थे। कुछ साल के बाद वो परिवार के साथ इंडिया आ गए।
- केशवलाल मुंबई में हारमोनियम लेकर फुटपाथ और जुहू बीच पर लोगों को गाना सुनाया करते थे। एक दिन वो एक फिल्म स्टूडियो के बाहर हारमोनियम बजा रहे थे तब मशहूर फिल्म निर्माता व्ही शांताराम की नजर पड़ी।
- तब उन्हें 'पुरानी नागिन' फिल्म में हारमोनियम बजाने का मौका मिला इस फिल्म के संगीतकार कल्याणजी आनंदजी थे। इसके बाद उन्हें काफी काम मिलने लगा। पैसे भी मिलने लगे लेकिन शादी के बाद वो नागपुर आ गए। फिर धीरे-धीरे किस्मत ने भी साथ छोड़ दिया और उन्हें मजबूरन हारमोनियम लेकर फुटपाथ पर लौटना पड़ा।

X
Remember musician Keshav Lal who plays harmonium on the footpath for 30 years participated in indian idol
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन