--Advertisement--

इस फिल्म की शूटिंग के दौरान बेहोश हो गए थे ऋषि कपूर, ये शख्स था टेंशन की सबसे बड़ी वजह

1982 में आई इस फिल्म प्रेम रोग की शूटिंग के दौरान ऋषि कपूर बेहोश तक हो गए थे।

Danik Bhaskar | Apr 23, 2018, 03:36 PM IST
फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे। फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे।

एंटरटेनमेंट डेस्क. बॉलीवुड एक्टर ऋषि कपूर अपनी अपकमिंग फिल्म '102 नॉट आउट' में 75 साल के शख्स का किरदार निभा रहे हैं। ये पहली बार है जब ऋषि किसी फिल्म में इतने उम्रदराज शख्स का रोल प्ले करेंगे। ये फिल्म 4 मई को रिलीज होगी। कई सुपरहिट फिल्मों में काम करने वाले ऋषि की एक सुपरहिट फिल्म है 'प्रेम रोग'। आज आपको इस फिल्म से जुड़े कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स बताने जा रहे हैं। आपको बता दें कि 1982 में आई इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ऋषि कपूर बेहोश हो गए थे। इसकी सबसे बड़ी वजह थी उनके पिता राज कपूर इस बात का था टेंशन...

- फिल्म 'प्रेम रोग' के डायरेक्टर राज कपूर थे।
- इस फिल्म की शूटिंग के दौरान सबसे ज्यादा टेंशन राज कपूर को थी।
- दरअसल, उन्हें एक हिट फिल्म की दरकार थी। क्योंकि इसके पहले आई उनकी फिल्म 'सत्यम, शिवम सुंदरम' फ्लॉप हो गई थी और उनका काफी पैसे डूब गया था।
- इस दबाव में वे छोटी से छोटी गलती को लेकर भी बहुत ज्यादा गुस्सा हो जाते थे।
- राज के इसी टेंशन का शिकार कई बार ऋषि कपूर को भी होना पड़ा था। ऋषि, पापा राज की डांट सुनकर इतने ज्यादा टेंशन में आ जाते थे कि वे सेट पर बेहोश तक हो जाते थे।

(नोट- फैक्ट लेखक मधु जैन की किताब कपूरनामा से लिए गए हैं।)

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें ऋषि कपूर से जुड़ी कुछ और बातें...

फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे। फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे।

शशि कपूर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि, राज कपूर 'प्रेम रोग' के सेट पर बेहद गुस्से में काम करते थे। उन्होंने अपने बेटे पर कुछ ज्यादा ही दबाव डाल रखा था। शशि ने बताया था कि जब राज कपूर यूनिट या किसी अदाकार से नाराज हो जाते थे तो उसे बाहर निकालकर किसी नजदीकी को पकड़कर उस पर अपना गुस्सा निकाल देते थे। और अक्सर राज कपूर का शिकार ऋषि ही होते थे। 

फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे। फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे।

बता दें कि फिल्म 'सत्यम, शिवम सुंदरम' व्यावसायिक तौर पर सफल नहीं हो पाई थी। इस फिल्म के फ्लॉप होने पर राज कपूर को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। मार्केट में इस फिल्म को लेकर उनकी खूब खिल्ली उड़ी थी। इसलिए वे हर हाल में चाहते थे कि 'प्रेम रोग' सफल हो। उन्हें एक हिट की दरकार थी इसलिए वे बेहद परेशान रहते थे।

फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे। फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे।

फिल्म 'प्रेम रोग' को सफल बनाने के लिए राज कपूर ने खर्चों पर से लगाम हटा दी थी। उन्होंने एमस्टर्डम के नजदीक ट्यूलिप के फूलों के बीच एक गाना फिल्माया था। मैसूर पैलेस और लोनी गार्डन में फिल्म के कई सीन्स फिल्माएं थे। आरके स्टूडियो में फिल्म के भारी भरकम सेट खड़े किए गए थे। 

 

फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में पद्मिनी कोल्हापुरे। फिल्म प्रेम रोग के एक सीन में पद्मिनी कोल्हापुरे।

नीतू सिंह ने एक इंटरव्यू में बताया था कि, ऋषि, पापा राज कपूर से बहुत ज्यादा डरते थे। मानों उनके सामने गूंगे बन जाते थे। वे सिर्फ पापा के सामने खड़े होकर उनकी बात ही सुनते थे पलट कर जवाब कभी नहीं दे पाते थे। 

 

ऋषि कपूर और नीतू सिंह। ऋषि कपूर और नीतू सिंह।

'प्रेम रोग' 31 जुलाई, 1982 को रिलीज हुई थी। फिल्म में ऋषि कपूर के अपोजिट पद्मिनी कोल्हापुरे नजर आई थीं। इस फिल्म की रिलीज के दो महीने बाद यानी 28 सितंबर, 1982 को रणबीर कपूर का जन्म हुआ था। बता दें कि ऋषि और नीतू की शादी 22 जनवरी 1980 को हुई थी।