--Advertisement--

'रेस 3' से नाराज फैन्स ने सलमान पर उतारा गुस्सा, बोले- हमें अब नहीं चाहिए 'दबंग 3' जैसी फिल्म, एक ने तो कहा- हम देखना चाहते हैं 'हम आपके हैं कौन' वाला सलमान

'रेस 3' ने 11 दिनों में 156 करोड़ की कमाई की है

Danik Bhaskar | Jun 27, 2018, 06:00 AM IST

मुंबई। सलमान खान स्टारर 'रेस 3' को ऑडियंस और क्रिटिक्स से लगातार नेगेटिव रिस्पांस मिल रहा है। दरअसल, खराब डायलॉग, बुरे स्क्रीनप्ले और कमजोर डायरेक्शन के चलते यह फिल्म एक्शन थ्रिलर से कहीं ज्यादा मजाक बनकर रह गई है। ऐसे में अब सलमान के फैन्स उन्हें बेसिर-पैर वाली स्क्रिप्ट से दूर रहने की सलाह दे रहे हैं। इतना ही नहीं फैन्स अब उनसे फ्यूचर में किसी अच्छी फिल्म की उम्मीद कर रहे हैं। यही वजह है कि फैन्स ने ट्विटर पर 'वी डोंट वांट दबंग 3' ट्रेंड करवाकर उन्हें साफतौर पर यह मैसेज देने की कोशिश की है, कि आगे से वो सलमान से इस तरह की बेढंगी फिल्म की उम्मीद नहीं करते हैं। फैन्स ने सलमान को दी ऐसी सलाह...


- एक फैन ने लिखा- "10 साल से आप सिर्फ मसाला फिल्में बना रहे हो। फैन अब इससे बोर हो चुके हैं सलमान सर। कुछ अलग करो। कब तक एक्शन वाली मूवी के साथ फिल्म चलाओगे। अब हम आपको 'हम आपके हैं कौन' वाले सलमान की तरह देखना चाहते हैं।"

- एक अन्य फैन ने लिखा- "दूसरों की मदद करना अच्छा काम है, लेकिन 'रेस 3' जैसी फिल्म से फैन्स को टॉचर्र करना बिल्कुल भी ठीक नहीं है।"
- एक और फैन ने लिखा- "सल्लू भाई, प्लीज इस सीरिज की अब बर्बादी ना करो। अच्छी फिल्में, अच्छे डायरेक्टर और को-एक्टर्स के साथ करो।"
- "एक यूजर ने तो सलमान को ये सलाह भी दे डाली कि आप इंडस्ट्री के टॉप स्टार हो लेकिन अपनी प्रोफेशनल लाइफ में पर्सनल स्टारकास्ट को मत लाओ। अच्छी स्क्रिप्ट वाली फिल्में करो।"

'रेस 3' ने ईद पर पकड़ी रफ्तार, लेकिन बाद में गिर गया कलेक्शन...
15 जून को ईद के मौके पर रिलीज हुई 'रेस 3' ने शुरुआती 3 दिनों में ही 100 करोड़ रुपए से ज्यादा का बिजनेस कर लिया था। हालांकि इसके बाद फिल्म के कलेक्शन में लगातार गिरावट दर्ज की गई और 11 दिनों में फिल्म महज 156 करोड़ की कमाई तक ही पहुंची। ट्रेड एनालिस्ट कोमल नाहटा के मुताबिक, "बीते सोमवार और मंगलवार तक सब ठीक था। लेकिन इसके बाद जब कलेक्शन में गिरावट आई तो लग गया था कि दूसरे सप्ताह फिल्म 25 करोड़ रुपए का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाएगी। हो भी वैसा ही रहा है। इससे प्रोड्यूसर्स को तो फायदा हुआ है। लेकिन डिस्ट्रीब्यूटर्स को नहीं।