• Home
  • Entertainment News
  • Gossip
  • फिल्म संजू, संजय दत्त, रणबीर कपूर, माधुरी दीक्षित, ऋचा शर्मा, Sanjay Dutt Richa Sharma Madhuri Dixit Love Triangle
--Advertisement--

बीमार पत्नी के कानों तक पहुंची संजय-माधुरी की शादी की बात, इलाज छोड़ मुंबई आ गई थी ऋचा

ऋचा और संजय की मुलाकात एक फिल्म के मुहूर्त के दौरान हुई थी।

Danik Bhaskar | Jun 21, 2018, 10:25 AM IST

- संजय दत्त की बायोपिक पर बनी फिल्म 'संजू' 29 जून को रिलीज होगी
- फिल्म में रणबीर कपूर निभा रहे हैं संजय का किरदार

एंटरटेनमेंट डेस्क. संजय दत्त की बायोपिक पर बनी फिल्म 'संजू' 29 जून को रिलीज होगी। फिल्म में संजय का किरदार रणबीर कपूर निभा रहे हैं। डायरेक्टर राजकुमार हिरानी इस फिल्म में संजय की करीब 350 गर्लफ्रेंड होने का जिक्र है। इन्हीं में से एक है ऋचा शर्मा, जो संजय की पहली पत्नी बनी थी। संजय-ऋचा की शादी 1987 में हुई थी। शादी के करीब डेढ़ साल बाद ही पता चला था कि ऋचा को ब्रेन ट्यूमर है। ऋचा का इलाज अमेरिका में चला और संजय अपनी फिल्मों की शूटिंग में बिजी रहे। 90 के दशक में संजय-माधुरी दीक्षित के अफेयर के बाद शादी की बातें उड़ी। ये बात ऋचा के कानों तक भी पहुंची। संजय की शादी की बात सुनकर ऋचा खुद की शादी बचाने अपना इलाज छोड़कर मुंबई आ गई थीं। संजय ने नहीं दी थी ऋचा को तवज्जों...


- ऋचा जब अपना इलाज छोड़कर अमेरिका से मुंबई आई तो संजय ने उन्हें बिल्कुल भी तवज्जों नहीं दी थी। इतना ही नहीं, वे बीमार पत्नी और बेटी त्रिशाला को लेने एयरपोर्ट तक नहीं आए थे। इस बात का जिक्र यासिर उस्मान की किताब 'द क्रेजी अनटोल्ड स्टोरी ऑफ बॉलीवुड्स बैड ब्वॉय संजय दत्त' में है।

- किताब में जिक्र है कि ऋचा ने एक इंटरव्यू में बताया था- संजय और मेरे बीच सबकुछ ठीक है। मुझे संजय पर पूरा भरोसा है। मैंने संजय से पूछा कि क्या आप मुझे तलाक देने जा रहे हैं। संजय ने जवाब दिया था-नहीं। मैंने कहा था, मैं तलाक नहीं चाहती। मैं उनके साथ रहना चाहती हूं। ये बात और है कि मुंबई आई ऋचा कुछ दिनों के बाद वापस न्यूयॉर्क चली गई थीं।


ऋचा के लिए क्रेजी थे संजय
- ऋचा और संजय की मुलाकात एक फिल्म के मुहूर्त के दौरान हुई थी। पहली मुलाकात के बाद संजय, ऋचा के दीवाने हो गए थे। वे ऋचा को अपने दिमाग से निकाल ही नहीं पा रहे थे। दोनों अपने-अपने कामों में बिजी रहते थे। बावजूद इसके संजय, ऋचा से मिलने का कोई न कोई बहाना निकाल ही लेते थे।

- संजय ने बड़ी मुश्किल से ऋचा का नंबर तलाश किया ताकि वे उनसे बात कर सकें। कुछ मुलाकातों के बाद संजय ने ऋचा से डेट पर चलने को कहा और वे मान गईं। संजय, ऋचा के लिए दीवाने थे। वे उन्हें लव लेटर लिखते थे। आखिरकार 1987 में आई फिल्म 'आग ही आग' की शूटिंग के दौरान संजय ने ऋचा को प्रपोज कर दिया। अचानक मिले प्रपोजल से ऋचा कन्फ्यूज हो गई। उन्होंने सोचने के लिए कुछ वक्त मांगा। ऋचा जानती थी कि उनके पेरेंट्स शादी के लिए तैयार नहीं होंगे। इसी दौरान संजय ने न्यूयॉर्क जाकर ऋचा के पेरेंट्स से मुलाकात की। और 1987 में संजय- ऋचा ने शादी कर ली। एक साल बाद यानी 1988 में बेटी त्रिशाला का जन्म हुआ।

ऋचा को ब्रेन ट्यूमर

- दोनों की फैमिली लाइफ अच्छी चल रही थी और इसी बीच पता चला कि ऋचा को ब्रेन ट्यूमर है। ऋचा को इलाज के लिए अमेरिका ले जाया गया। संजय भी अमेरिका आते-जाते रहते थे। लेकिन जैसे-जैसे संजय पर फिल्मों की शूटिंग का लोड बढ़ता गया, उनका वाइफ को देखने जाना कम हो गया।

- इसी बीच संजय की को-स्टार के साथ अफेयर की बातें भी मीडिया में आने लगी और ये बात ऋचा के कानों तक भी पहुंची। ये अफवाह भी उड़ी कि संजय, ऋचा को तलाक देकर माधुरी दीक्षित से शादी करना चाहते हैं। ये बातें सुनकर ऋचा बेटी को लेकर मुंबई आ गई। लेकिन उनकी तबीयत दोबारा खराब हुई और उन्हें न्यूयार्क शिफ्ट करना पड़ा।

- इसी दौरान संजय को अवैध हथियार रखने के आरोप में जेल जाना पड़ा। ऋचा की हालत दिन-ब-दिन खराब हो रही थी। बड़ी मुश्किल से संजय को बेल मिली और वे वाइफ से मिलने जा पाए। उन्होंने डॉक्टरों से भी बात कि लेकिन सब बेकार रहा। ऋचा ने 10 दिसंबर, 1996 को दुनिया को अलविदा कह दिया।


'साजन' की शूटिंग के दौरान करीब आए थे संजय-माधुरी
- 1991 में 'साजन' की शूटिंग के दौरान संजय दत्त और माधुरी दीक्षित करीब आए। दोनों शादी भी करना चाहते थे। हालांकि, माधुरी के पिता इस रिश्ते के खिलाफ थे, क्योंकि संजय उस समय शादीशुदा थे और उनकी एक बेटी भी थे। कहा जाता है कि 1993 के बॉम्बे बम ब्लास्ट में जब संजय का नाम आया, तब माधुरी खुद उनसे अलग हो गईं थी। अलग होने के बाद दोनों ने कोई भी फिल्म साथ नहीं की। अब दोनों करन जौहर की फिल्म 'कलंक' में साथ नजर आने वाले हैं।


संजय-माधुरी की फिल्में
संजय दत्त और माधुरी दीक्षित ने 'खतरों के खिलाड़ी' (1988), 'इलाका' (1989), 'कानून अपना-अपना' (1989), 'थानेदार' (1990), 'साजन' (1991), 'खलनायक' (1993), 'साहिबान' (1993), 'महानता' (1997) जैसी फिल्मों में साथ काम किया है।​