--Advertisement--

Movie review: संजू में रणबीर ने दिखाई गजब की एक्टिंग, लेकिन फिल्म देख लगा संजय दत्त के प्रति सॉफ्ट हो गए राजू हिरानी

डायरेक्टर राजकुमार हिरानी की फिल्म संजू शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है।

Danik Bhaskar | Jun 29, 2018, 04:35 PM IST
क्रिटिक रेटिंग 3/5
स्टार कास्ट रणबीर कपूर, दीया मिर्जा, परेश रावल, अनुष्का शर्मा, सोनम कपूर
डायरेक्टर राजकुमार हिरानी
प्रोड्यूसर विधु विनोद चोपड़ा
जोनर बायोपिक
ड्यूरेशन 161 मिनट

'संजू' की कहानी- डायरेक्टर राजकुमार हिरानी की फिल्म 'संजू' की कहानी शुरू होती है जब संजय दत्त (रणबीर कपूर) को 5 साल की सजा सुनाई जाती है। अपनी जिंदगी पर किताब लिखने के लिए वे फेमस राइटर विनी (अनुष्का शर्मा) से मिलते हैं और अपनी कहानी बताना शुरू करते हैं। कहानी कुछ ऐसी है कि सुनील दत्त (परेश रावल) और नरगिस (मनीषा कोइराला) बेटे संजू को गलत रास्ते पर जाने से बचाने के लिए बोर्डिंग स्कूल भेज देते हैं। लेकिन वहां उसे नशे की लत लग जाती है। संजू, माता-पिता से कई बातें छुपाता है। इसी बीच नरगिस की तबीयत खराब हो जाती है। फिल्म में एक सीन है जिसमें संजू बता रहे हैं कि उन्हें नहीं मालूम है कि मां नरगिस दत्त के साथ उनके आखिरी पलों में वो होश में थे या नशे में धुत। ये सीन बेहद इमोशनल है और संजय के प्रति सहानुभूति पैदा करता है। ड्रग्स से छुटकारा पाने रिहैब सेंटर जाना, मुंबई बम धमाकों में नाम आना और कई बार जेल जाना और अफेयर्स। संजय दत्त के जीवन के इन सारे घटनाक्रमों को फिल्म में दिखाया गया है। राजू ने ये भी बताया है कि किस तरह से संजू का दोस्त कमलेश (विक्की कौशल) और पत्नी मान्यता (दीया मिर्जा) उनके साथ हमेशा खड़े रहे। ढाई घंटे की फिल्म में संजय दत्त की 37 साल की लाइफ को रणबीर कपूर ने बेहतरीन तरीके से निभाया है।

'संजू' का रिव्यू - अपनी कॉन्ट्रोवर्शियल लाइफ को परदे पर उतारने के लिए संजय दत्त ने अपने दोस्त राजू हिरानी पर भरोसा किया था। ऐसा लग रहा है कि राजू यहां डायरेक्टर के साथ दोस्त की भी भूमिका में रहे। संजय दत्त की लाइफ के सबसे विवादित हिस्से में राजू हिरानी संजय के प्रति कहीं न कहीं सॉफ्ट होते नजर आए। मुंबई बम धमाकों के बाद संजय की गिरफ्तारी के लिए राजू हिरानी ने मुख्य रूप से मीडिया को दोषी बता दिया। जबकि तथ्य कुछ और हैं। तथ्य ये है कि संजय के पास से हथियार मिले थे। और ये हथियार उन्हें अंडरवर्ल्ड के उन लोगों ने दिए थे जिनका नाम धमाकों में आया था। हालांकि फिल्म के शुरू में घोषित कर दिया गया है कि ये संजय दत्त की जिन्दगी पर आधी हकीकत औऱ आधा फसाना है। हां इस हिस्से को छोड़ दें तो राजू हिरानी ने कैरेक्टर के साथ इंसाफ किया है। राजू हिरानी ने संजय दत्त की कमजोरियों को भी फिल्म में बखूबी दिखाया है। अचानक गुस्सा आना, भावना में बह जाना और दोस्तों के चक्कर में ड्रग्स की लत का का शिकार हो जाना। ये सब फिल्म में दिखाया गया है। रणबीर कपूर ने फिल्म में संजू का किरदार बेहतरीन तरीके से निभाया है। रणबीर हंसाने के साथ-साथ ऑडियंस को रुलाते भी हैं। फिल्म देखकर ऐसा लगता है कि रणबीर-संजय एक ही पर्सन है। फिल्म में जितनी भी एक्ट्रेसेस है, वो सिर्फ शो पीस हैं। परेश रावल और मनीषा कोइराला ने अपने-अपने किरदार के साथ इंसाफ किया है। फिल्म में एक किरदार है जिसकी परफॉर्मेंस रणबीर कपूर के बराबर ही आंकी जा सकती है, वो है विक्की कौशल। जिम सरभ का किरदार काफी अनोखा है, जिससे शायद आप सिर्फ नफरत ही करेंगे। वे संजय के पहले दोस्त जुबिन मिस्त्री के रोल में हैं। जुबिन ही थे, जिसने संजय को ड्रग्स और शराब की लत लगाई थी। फिल्म को जरूर देखें क्योंकि इसमें एक स्टार की लाइफ की हकीकत को दिखाया गया है।