--Advertisement--

हाई ग्रेड कैंसर से जूझ रही सोनाली ने न्यूयॉर्क से पहली बार शेयर किए अपने फोटो और वीडियो

वीडियो में सोनाली एक सलून में हेयर कट करवा रही हैं, वहीं उनके साथ पति गोल्डी बहल भी हैं, जो उनका हौसला बढ़ा रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Jul 10, 2018, 01:41 PM IST
स्टारडस्ट टैलेंट सर्च में सिल स्टारडस्ट टैलेंट सर्च में सिल

बॉलीवुड डेस्क. पिछले हफ्ते जब से सोनाली बेन्द्रे ने हाई ग्रेड कैंसर होने की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की थी, तभी से हर कोई उनके जल्दी ठीक होने की दुआएं मांग रहा था। इन सबके बीच सोनाली ने कुछ फोटोज और एक वीडियाे शेयर किया है, जिसमें वे एक सैलून में हेयर कट करवाती नजर आ रही हैं। फोटो में उनके साथ पति गोल्डी बहल भी हैं। इस हेयर कट के बाद सोनाली का लुक एकदम चेंज नजर आ रहा है।

फिर लिखा स्पेशल कैप्शन : 43 साल की एक्ट्रेस सोनाली ने इन फोटोज के साथ एक बार फिर स्पेशल कैप्शन लिखा है- '' मेरे पसंदीदा लेखक इसाबेल एलेंडे कहते हैं कि जब तक हम अपने अंदर छिपी हुई ताकत को बाहर नहीं लाते, तब तक हमें भी यह पता नहीं होता कि हम कितने स्ट्राॅन्ग हैं। किसी दुर्घटना, जंग और जरूरत के समय इंसान अद्भुत काम करता है। जिंदगी जीने और उसे नया अंदाज देने की मानवीय क्षमता भी अकल्पनीय है....

पिछले कुछ दिनों से मिल रहे प्यार से मैं अभिभूत हूं और खासकर मैं उन सबकी शुक्रगुजार हूं जिन्होंने कैंसर से जूझने की अपनी या अपने करीबियों की कहानियां मुझसे शेयर कीं। आप सबकी कहानियों ने मुझे और ज्यादा ताकत और साहस दिया है और साथ ही यह आभास कराया है कि मैं अकेली नहीं हूं।

हर दिन एक नई चुनौती और जीत लेकर आता है तो मैं इसे #OneDayAtATime की तरह लेती हूं। इन दिनों मैं सिर्फ एक बात पर फोकस कर रही हूं और वो है सकारात्मक सोच और बीमारी से जूझने का यह मेरा तरीका है।मैं बस ये उम्मीद करती हूं कि इससे आप सबको ये अंदाजा होगा कि अभी सबकुछ खत्म नहीं हुआ है। ''

क्या होता है हाई ग्रेड कैंसर : कैंसर का ग्रेड क्या है ये तीन कंडीशन के आधार पर तय होता है। सबसे पहले डॉक्टर कैंसर से प्रभावित और स्वस्थ कोशिकाओं की तुलना करते हैं। स्वस्थ कोशिकाओं के ग्रुप में कई प्रकार के टिश्यू शामिल होते हैं, जबकि कैंसर होने पर भी इससे मिलती-जुलती लेकिन असामान्य कोशिकाओं का ग्रुप जांच में दिखाई देता है, इसे लो-ग्रेड कैंसर कहते हैं।

- जब कैंसर प्रभावित कोशिकाओं से स्वस्थ कोशिकाएं जांच में अलग दिखाई देने लगती हैं तो इसे हाई ग्रेड कहते हैं। कैंसर के ग्रेड के आधार पर डॉक्टर पता लगाते हैं कि यह कितनी तेजी से फैल सकता है।

X
स्टारडस्ट टैलेंट सर्च में सिलस्टारडस्ट टैलेंट सर्च में सिल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..