विज्ञापन

सुई धागा : मेड इन इंडिया ट्रेलर- जिंदगी की साइकिल पर मारना पडे़गा पैडल, चाहे मिले या न मिले मेडल / सुई धागा : मेड इन इंडिया ट्रेलर- जिंदगी की साइकिल पर मारना पडे़गा पैडल, चाहे मिले या न मिले मेडल

DainikBhaskar.com

Aug 13, 2018, 12:40 PM IST

सुई धागा के डायरेक्टर शरत कटारिया हैं। फिल्म प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मेक इन इंडिया और स्टार्टअप कॉन्सेप्ट बेस्ड है

sui dhaaga made in india trailer release a story stitched with threads of India
  • comment

बॉलीवुड डेस्क. फिल्म मेकर्स इन दिनों देश का रंग-रूप, हुलिया बदलने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। भ्रष्टतंत्र को मिटाने, बेरोजगारी दूर करने और स्वदेशी आंदोलन को वापस लाने जैसे विषयों पर आ रही फिल्में एकदम नई हैं। हालिया रिलीज कुछ फिल्मों में इनकी बानगी देखने मिली है और 2018 के बाकी बचे महीने भी इसी तरह गुजर सकते हैं। बेरोजगारी पर चोट करती और आत्मनिर्भरता के साथ मेड इन इंडिया को बढ़ावा देती फिल्म सुई धागा का ट्रेलर रिलीज हो गया है। जहां वरुण धवन एक दर्जी की भूमिका में हैं, जिसे अपने असली हुनर का पता नहीं होता।

ऐसा है सुई-धागा का ट्रेलर : ट्रेलर की शुरुआत मौजी की आवाज से हाेती है, जहां वह अपने दादा छज्जूलाल के बारे में बताता है, जो सिलाई-बुनाई करते थे। दादा का बिजनेस ठप्प होने के कारण मौजी के परिवार को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है लेकिन तब भी वह कहता है- सब बढ़िया है।

- बाद में मौजी अपने और पत्नी ममता के बारे में भी बताता है। ममता की सास यानी मौजी की मां टिपिकल सास की तरह है, जो बहू के आने के बाद पूरी जिम्मेदारी उस पर ही थोप देती है।

- मौजी के पिता भी उसे कोसते हैं कि तेरे जैसी औलाद तो भगवान किसी को न दे।

- ट्रेलर के एक सीन में जब मौजी पैसे कमाने के लिए, किसी की शादी में डाॅग की तरह हरकतें करता है और लोग उस पर हंसते हैं। तब ममता बेहद दुखी होकर कहती है- इससे अच्छा तो कुछ और ही कर लेते। दो पैसे कम कमाते, पर ऐसी बेइज्जती तो न होती रोज-रोज।

डायलॉग भी असरदार - ममता की बात मौजी को पसंद आती है और वह अपना काम शुरू करने तैयार हो जाता है। तब वह कहता है- बढ़िया है, अगर गालियां ही खानी है तो कम से कम तालियाें की आवाज में तो पड़ें, बेवजह जूते खाने का क्या फायदा।

- रघुवीर यादव का रोल सख्त पिता का नजर आ रहा है, जो कॉमिक टच भी देगा। ट्रेलर के बीच में कुछ ऐसे कोट्स भी आते हैं जो कहानी का सबजेक्ट क्लीयर करते हैं। जैसे इम्पॉसिबल से अनस्टॉपेबल तक। आगे एक और लाइन लिखी आती है- डिस्कवर, वॉट इट टेक्स, टू बी सेल्फ मेड यानी खुद को बनाने में क्या लगता है यह जानो।

- एक और सीन में मौजी कहता है कि अपनी बनाई चीजों पर मेड इन चाइना क्याें लिखा है। अगले ही सीन में ममता कहती है- अपनी बनाई हुई चीजों पर अपनी मुहर लगाकर बेचेंगे।

- आखिर के एक सीन में वरुण कहते हैं- अब जिंदगी की साइकिल पर तो मारना पड़ेगा पैडल, चाहे मिले या न मिले मैडल, क्यूं जी सब बढ़िया है।

मेड नहीं मैड इन इंडिया : फिल्म का टाइटल भले ही सुई धागा : मेड इन इंडिया रखा गया है। लेकिन ट्रेलर में जब कंपनी का नाम रखने की बात आती है, तब जो लोगो दिखाई दे रहा है, उसमें मेड की जगह मैड का प्रयोग हुआ है।

अनुष्का ने कहा मुझे विश्वास को साबित करना था : अनुष्का शर्मा इसके पहले भी फिल्म रब ने बना दी जोड़ी में शाहरुख खान के साथ एक हाउस वाइफ का किरदार निभा चुकी हैं। हालांकि सुई-धागा के ट्रेलर लॉन्च के दौरान उन्होंने बताया - बहुत कम लोग चाहते थे कि मैं रब ने बना दी जोड़ी का हिस्सा बनूं, इसलिए मुझ पर किए गए उनके विश्वास का साबित करना पड़ा।

- अनुष्का ने सुई धागा में एक आम महिला किरदार निभाया है, जिसके सिर पर हमेशा पल्लू रहता है। वह आदर्श बहू की तरह नजर आ रही हैं, जो अपने पति की बेइज्जती बरदाश्त नहीं कर पाती और उसे अपने हुनर को पहचानने में मदद करती है। फिल्म की शूटिंग मध्यप्रदेश में हुई है।

X
sui dhaaga made in india trailer release a story stitched with threads of India
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन