• Hindi News
  • Bollywood
  • Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super 30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga

लाइफ जर्नी / सुपर-30 जैसी संघर्ष कहानी है ऋतिक की; 35 साल तक हकलाए, टूटे, डरे लेकिन हारे कभी नहीं



Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga
Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga
Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga
Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga
X
Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga
Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga
Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga
Hrithik Roshan Super 30: Story of Hrithik Roshan's struggle like Super-30; stammered for 35 yrs, broke down but never ga

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 07:02 PM IST

बॉलीवुड डेस्क.  ऋतिक रोशन की फिल्म 'सुपर 30' शुक्रवार को रिलीज हो गई। बिहार में गरीब बच्चों के आईआईटी में जाने के सपनों और संघर्षों पर आधारित इस फिल्म में वे गणित के शिक्षक आनंद कुमार के रोल में हैं। आनंद के जज़्बे और उनकी बदलाव की तड़प को पर्दे पर जी रहे ऋतिक की जिंदगी भी लगभग ऐसी ही है। आज भले ही लगता हो कि वह बेहद सफल, सक्षम और संपन्न हैं लेकिन परदे के पीछे कई ऐसी चौंकाने वाले कहानियां है जो बताती हैं कि जैसा दिखता है, हमेशा वही वास्तविक नहीं होता। 'सुपर-30' की थीम पर हमने ऋतिक की जिंदगी और उनके संघर्षों को खंगाला और चुनें 30 ऐसे वाकये और घटनाएं हैं  जिनसे सीख भी मिलती है।

30 वाकये जिन्होंने गढ़ा ऋतिक रोशन

  1. 6 साल की उम्र से थी हकलाने की समस्या

    ऋतिक जब 6 साल की उम्र के थे तो ठीक से बोल नहीं पाते थे। उनकी आवाज हकलाती थी। 2009 में उन्होंने फराह खान के शो 'तेरे मेरे बीच में' में बताया था कि वो इस समस्या से 35 साल की उम्र तक जूझते रहे। इसके चलते स्कूल में बच्चे मजाक उड़ाते थे और उन्हें बहुत बुरा लगता था। 

  2. बिना पंखे सो नहीं पाते थे तो रोती थी मां

    ऋतिक ने एक इंटरव्यू में याद करते हुए कहा कि, "मैंने 20 साल तक पिता का संघर्ष देखा है। पैसे की कीमत अच्छे से जानता हूं। मैंने चार रातें एक घर की फर्श पर सोकर काटी हैं, जहां न तो फर्नीचर था और न ही पंखा। याद है कि मां मुझे देखकर रोती थी, क्योंकि मैं पंखे के बगैर नहीं सो सकता था।" 

  3. मकान मालिक ने कर दिया था घर से बेदखल

    ऋतिक जब 9 साल के थे तो किराया न चुकाने के कारण मकान मालिक ने उनके पिता राकेश से घर खाली करा लिया था। तब 6 महीने वो अपनी नानी के घर में रहे थे। हालांकि, राकेश को इसमें शर्म महसूस होती थी। इसलिए उन्होंने दोस्तों के साथ रहकर वह दौर बिताया। बाद में उन्होंने कुछ पैसा कमाया और अपना घर ले लिया। 

  4. डुग्गु 6 साल की उम्र में जिम्मेदारी उठाने लगा

    ऋतिक (डुग्गु) ने एक्टिंग करियर की शुरुआत तब कर दी थी, जब वो महज 6 साल के थे। डायरेक्टर जय ओम प्रकाश की फिल्म 'आशा' (1980) में वो पहली बार एक्टिंग करते दिखे थे। हालांकि, इसमें उन्हें क्रेडिट नहीं दिया गया था। इसके बाद वो 'आपके दीवाने', 'आसपास' और 'आसरा प्यार दा' (पंजाबी ) में दिखाई दिए।

  5. पिता राकेश ने ही किया था हतोत्साहित

    जब जय ओम प्रकाश ने ऋतिक को फिल्म भगवान दादा के लिए कास्ट किया तो उनके दामाद और ऋतिक के पिता राकेश ने उन्हें हतोत्साहित किया था। राकेश ने एक इंटरव्यू कहा कि, उन्होंने ऋतिक की हकलाने की आदत के चलते ऐसा किया था। लेकिन जब उन्होंने उनका पहला शॉट देखा तो हैरान रह गए थे।  

     

    ऋतिक रोशन।

     

  6. जब श्रीदेवी के सामने हो गए थे नर्वस

    'भगवान दादा' में रजनीकांत के अलावा श्रीदेवी का भी अहम रोल था। फरवरी 2018 में जब एक्ट्रेस का निधन हुआ तो ऋतिक ने उनके साथ का अनुभव शेयर किया था। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा था, "मैं उन्हें बहुत पसंद करता था। उनसे प्रभावित था। मेरा पहला शॉट श्रीदेवी के साथ हुआ था। उनके सामने मैं  नर्वस था।"

  7. ओरल टेस्ट के दिन स्कूल से बंक मारते थे

    'तेरे मेरे बीच में' में ऋतिक ने बताया था कि हकलाने की आदत के चलते मौखिक (ओरल) परीक्षा में हिस्सा लेना उनके लिए सबसे ज्यादा मुश्किल काम था। बकौल ऋतिक, "ओरल टेस्ट वाले दिन मैं स्कूल से बंक मार देता था। कभी बीमार हो जाता था, कभी मेरा हाथ टूट जाता था तो कभी मुझे मोच आ जाती थी।" 
     

  8. हकलाहट दूर करने जोर-जोर से नॉवल पढ़ते थे

    ऋतिक ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्होंने हकलापन से छुटकारा पाने के लिए उन्होंने अपनी खुद की टेक्निक बनाई। वो नॉवल या कोई और किताब जोर-जोर से पढ़ने लगे। पेज-बाय-पेज, लाइन-बाय-लाइन और वर्ड-बाय-वर्ड जोर-जोर से पढ़ते थे ताकि उन्हें अपने शब्द खुद सुनाई दे और उनका आत्मविश्वास बना रहे। 

  9. बचपन में आदित्य चोपड़ा से डांस में हार गए

    ऋतिक जब बच्चे थे, तब अभिषेक बच्चन की बर्थडे पार्टी में एक डांस प्रतियोगिता हुई।  इस प्रतियोगिता में ऋतिक दूसरे नंबर पर आए थे। जबकि पहले नंबर पर आदित्य चोपड़ा और तीसरे नंबर पर एकता कपूर आई थीं। आज ऋतिक बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन डांसर्स में से एक हैं।

     

    ऋतिक रोशन।

     

  10. बीयर की बोतलें फेंकने पर पिता ने पीटा

    ऋतिक को उनके पिता राकेश रोशन ने सिर्फ एक बार पीटा था। वह भी तब, जब वो और उनके दोस्त बिना किसी हादसे की परवाह किए बीयर की खाली बोतलें छत से नीचे फेंक रहे थे। राकेश ने यह देखकर ऋतिक की पिटाई कर दी थी। 

  11. कार से नहीं, पैदल जाना पड़ता था क्लास

    ऋतिक और उदय चोपड़ा छठी क्लास में साथ पढ़ते थे और अच्छे दोस्त थे। दोनों को योगनेश शेट्टी (चीता) मार्शल आर्ट सिखाते थे।  शेट्टी स्टार्स के बच्चों को टफ बनाने के लिए उन्हें कार की बजाय पैदल चलाते थे। हालांकि, बीच रास्ते में उदय चोपड़ा ऑटो-रिक्शा ले लेते थे। दूसरे दिन आकर ऋतिक उनकी शिकायत शेट्टी से किया करते थे। 

  12. बच्चों का झगड़ा देख खूब रोती थी मां

    बचपन में ऋतिक बेहद दुबले-पतले थे, लेकिन अक्सर अपनी बहन सुनैना को डराया-धमकाया करते थे। इसको लेकर दोनों बच्चों में लड़ाई हो जाती थी। उनकी मां पिंकी रोशन बच्चों की ऐसी लड़ाई देखकर खूब रोया करती थीं। 

     

    ऋतिक रोशन।

     

  13. मैथ्स से लगता था सबसे ज्यादा डर

    2018 में सुपर-30 की शूटिंग के दौरान ऋतिक ने फेसबुक पर लिखा था, "मैंने सुना है कि सीबीएसई का गणित का प्रश्नपत्र इस बार आसान था। इसके लिए बोर्ड का धन्यवाद। गणित मेरे छात्र जीवन का सबसे डरावना विषय रहा है। वर्तमान में गणित के टीचर के रोल में मुझे मजा आ रहा है।" 

     

     

  14. कॉलेज में हकलाहट के कारण चुप रहते थे

    हकलाहट के कारण ऋतिक को कॉलेज में किसी से बात करने में डर लगता था। वे रिएक्शन देने के लिए आंखों का इस्तेमाल करते थे। बकौल ऋतिक, "सुजैन पहली लड़की थीं, जिसकी ओर मैंने देखा। जब मैं उनसे पहली बार मिला, उस दिन बुरी तरह हकला रहा था। हम होटल गए थे। मुझे वेटर को कुछ ऑर्डर देना था और मैं हकला रहा था। 

  15. पिता का तोहफा लेने से किया इनकार

    जब ऋतिक 21 साल के थे, तब उनके पिता ने मारुति कार गिफ्ट की थी। लेकिन उन्होंने लेने से इनकार कर दिया था। ऋतिक के दोस्त प्रशांत सिप्पी ने एक इंटरव्यू में यह खुलासा किया था। उनके मुताबिक, ऋतिक ने कहा था कि वो पिता के पैसों पर नहीं पलना चाहते। अपनी पहचान खुद बनाना चाहते हैं। 

     

    ऋतिक रोशन।

     

  16. स्पेशल इफेक्ट्स सीखना चाहते थे ऋतिक

    ऋतिक अपना करियर डायरेक्शन, प्रोडक्शन में तलाश रहे थे। उनकी इच्छा यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया या न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी में पढ़ने की थी। वे स्पेशल इफेक्ट्स सीखना चाहते थे। लेकिन कहो न प्यार है की सफलता के बाद उन्होंने एक्टिंग में ही आगे बढ़ने का फैसला कर लिया था। 

  17. 13 साल पुराना प्यार का रिश्ता अचानक टूटा

    20 दिसंबर, 2000 को ऋतिक और सुजैन ने शादी की थी। 2006 में वो बेटे ऋहान और 2008 में ऋदान के पेरेंट बने। 13वीं वेडिंग एनिवर्सरी से महज 7 दिन पहले 13 दिसंबर 2017 एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऋतिक ने सुजैन से अलग होने का अनाउंसमेंट किया। उन्होंने कहा था, "यह बेहद तनाव भरा समय है और मैं मीडिया से गुजारिश करता हूं कि वो हमारी प्राइवेसी में दखल न दें।"

  18. विदेशी एक्ट्रेस के साथ जोड़ा गया नाम

    2010 में रिलीज हुई फिल्म काइट की शूटिंग के दौरान खूब गॉसिप चलीं कि ऋतिक और  फिल्‍म की हीरोइन बारबरा मोरी बेहद करीब आ गए हैं। फिल्म में भी दोनों के बीच इंटिमेट सीन थे। इसके बाद से ही उनके और सुजैन के संबंधों में खटास की खबरें आने लगी थीं। 

  19. 'कहो न... प्यार है' किस्मत से ऋतिक को मिली

    राकेश रोशन ने 'कहो न प्यार है' की स्क्रिप्ट शाहरुख खान को ध्यान में रखकर लिखी थी। उन्होंने शाहरुख को अप्रोच किया। लेकिन वो रोल को लेकर कन्विंस नहीं हुए। आखिर में, उन्होंने अपने ही बेटे ऋतिक को इस डबल रोल वाली फिल्म में साइन किया जो सुपरहिट साबित हुई।

     

    ऋतिक रोशन।

     

  20. तैयारी को लेकर पिता के सामने अड़ गए थे

    जब ऋतिक को पता चला कि उन्हें कहो न प्यार है के लिए कास्ट किया गया है तो वो एक्साइटेड होकर पिता के पास गए और बोले, "आपने मुझे पहले क्यों नहीं बताया। मैं अभी तैयार नहीं हूं। मुझे तैयारी करने की जरूरत है।" इसके बाद राकेश रोशन ने उन्हें 6 महीने का वक्त दिया। 

  21. 6 महीने में बना ली मस्क्युलर बॉडी

    'कहो न प्यार है' के लिए ऋतिक ने खुद को पिता द्वारा दिए गए वक्त में ही ट्रांसफॉर्म किया। तब वो बहुत दुबले हुआ करते थे, लेकिन उन्होंने वर्कआउट कर मस्क्युलर बॉडी बनाई। डांस क्लास जॉइन की। घर पर तीन टीचर्स आते थे। एक हिंदी सिखाते थे, दूसरे उर्दू और तीसरे स्पष्ट रूप से सही उच्चारण करना सिखाते थे।

  22. रीढ़ की हड्‌डी की बीमारी ने निराश कर दिया

    जिस वक्त ऋतिक 'कहो न प्यार है' की तैयारी कर रहे थे, तब उन्हें रीढ़ की हड्‌डी की स्कोलियोसिस बीमारी हो गई थी। उस वक्त वो 21 साल के थे। उनकी रीढ़ की हड्डी में झुकाव आ गया था। डॉक्टर्स ने उन्हें डांस या स्टंट करने के लिए साफ मना कर दिया था। इस बात से ऋतिक का दिल टूट गया था और उन्होंने खुद को कमरे में लॉक कर लिया था। 

  23. जब ऋतिक ने डॉक्टर्स को झूठा साबित किया

    ऋतिक की बीमारी ऐसी थी कि डॉक्टरों ने उन्हें झुक कर पिन उठाने तक के लिए मना किया था लेकिन ऋतिक ने उन्हें अपने जज़्बे और मेहनत से झूठा साबित कर दिया। वे एक दिन जुहू बीच पर पहुंच कर वे ब्लेजर निकाल कर खूब दौड़े और उसके बाद उन्होंने खुद से कहा-  "कोई दर्द नहीं है, डॉक्टर गलत हैं।" इसे ऋतिक अपनी लाइफ का टर्निंग पॉइंट भी मानते हैं। 

     

    ऋतिक रोशन।

     

  24. सुजैन ने मीठा न खाने की मन्नत रखी

    उनकी पत्नी सुजैन को मीठा बहुत पसंद था। लेकिन ऋतिक की डेब्यू फिल्म कहो न प्यार है के लॉन्च से लेकर इसकी रिलीज होने तक उन्होंने मिठाई न खाने की मन्नत रखी थी। इस बात से ऋतिक काफी प्रभावित हुए। फिल्म के हिट होने के बाद उन्होंने बहन सुनैना से सुजैन के लिए चॉकलेट खरीदने के लिए कहा था। 

  25. जब क्रिकेटर्स पर भारी पड़ा नया सुपरस्टार

    प्रशांत सिप्पी तब से ऋतिक रोशन के दोस्त हैं, जब वो 12 साल के थे। उन्होंने एक बार बताया था, "हम ताज होटल गए थे, जहां इंडियन क्रिकेट टीम भी रुकी हुई थी। टीम को देखने लॉबी में भीड़ जमा थी। लेकिन जैसे ही हम डिनर के लिए पहुंचे, भीड़ ने सबको किनारे करके ऋतिक को घेर लिया था।"

  26. एक साथ मिले 30 हजार मैरिज प्रपोजल

    ऋतिक की पहली फिल्म 'कहो न प्यार है' के बाद से ही वे लड़कियों में चार्मिंग और माचो स्टार की तरह मशहूर हो गए थे। फिल्म की रिलीज के एक महीने बाद वेलेन्टाइन डे पर लड़कियों की इस दीवानगी का सबूत मिला। उस रोज ऋतिक के घर फीमेल फैन्स के करीब 30 हजार मैरिज प्रपोजल पहुंचे थे। 

  27. जोधा-अकबर के बाद डिप्रेशन में चले गए थे

    2010 में एक बातचीत में ऋतिक ने कहा था कि फिल्म जोधा अकबर के बाद वो डिप्रेशन में चले गए थे और उन्होंने करीब-करीब एक्टिंग छोड़ने का फैसला कर लिया था। शूटिंग के दौरान ऋतिक बुरी तरह घायल हो गए थे और उन्हें लगने लगा था कि वो फिर कभी एक्टिंग नहीं कर पाएंगे।वो सिंगिंग या डायरेक्शन में करियर तलाशने लगे थे। 

     

    ऋतिक रोशन।

     

  28. कोई मिल गया के बाद सब ठीक हुआ

    ऋतिक के मुताबिक, 'कृष' और 'धूम 2' के दौरान भी उन्हें घुटने में चोट लगी। 'काइट' के खिड़की तोड़ने वाले सीन में भी ऐसा ही हुआ। ऋतिक की मानें तो डायरेक्टर अनुराग बसु की इस फिल्म की स्क्रिप्ट इतनी मजबूत थी कि वो अपना सारा दर्द भूल गए थे। हफ्तेभर की शूटिंग के बाद उनका दर्द जाता रहा और कोई मिल गया के बाद से उनकी लाइफ पटरी पर आ गई। 

  29. बीमारियों से कभी नहीं हारे

    बचपन से ही शारीरिक परेशानियों से जूझ रहे ऋतिक के साथ कुछ न कुछ गड़बड़ हमेशा होती रही है। 'अग्निपथ' (2012) की शूटिंग के दौरान स्लिप डिस्क हुआ था। 'बैंग बैंग'(2014) की शूटिंग के वक्त क्रॉनिक सबड्यूरल हेमाटोमा (ब्रेन के निचले हिस्से में क्लॉटिंग) हुआ, बाद में उन्हें सर्जरी करानी पड़ी।

  30. परिवार को हमेशा महत्व दिया

    ऋतिक ने अपने परिवार से जुड़ी मुसीबतों को भी हमेशा हंसते हुए झेला।  बहन सुनैना के दो तलाक, एक टूटी सगाई, सर्वाइकल कैंसर, पिता के गले का कैंसर, परिवार के खिलाफ सुनैना की बगावत, तमाम तरह की समस्याओं और तनाव  को दरकिनार कर ऋतिक ने हमेशा अपने परिवार को महत्व दिया और साथ ही वे प्रोफेशनल लाइफ में भी अच्छा कर रहे हैं।

     

    ऋतिक रोशन।

     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना