ताज़ा मसाला

--Advertisement--

जिस टीवी ने बनाया स्टार, उसे छोड़ते ही करियर बर्बाद हो गया, 8 एक्टर्स की कहानी

एक ने तो 12 फिल्मों में किया काम लेकिन फिर भी नहीं मिली कामयाबी

Danik Bhaskar

Sep 12, 2018, 07:01 PM IST

मुंबई। पॉपुलर टीवी एक्ट्रेस प्राची देसाई 30 साल की हो चुकी हैं। 12 सितंबर, 1988 को सूरत, गुजरात में जन्मीं प्राची की गिनती उन टीवी स्टार्स में की जाती है, जिन्होंने बॉलीवुड फिल्मों में किस्मत आजमाई लेकिन फ्लॉप रहे। प्राची ने करियर की शुरुआत टीवी सीरियल 'कसम से' से की थी। 2006 में उन्हें एकता कपूर के इस शो में लीड रोल के लिए चुना गया था। 2008 में उन्हें अभिषेक कपूर की फिल्म 'रॉक ऑन' में लीड एक्ट्रेस का रोल ऑफर हुआ। फिल्म के लिए उन्होंने सीरियल 'कसम से' को अलविदा कह दिया। प्राची ने फिल्म में किया फरहान अख्तर की वाइफ का रोल...


फिल्म 'रॉक ऑन' में प्राची देसाई ने फरहान अख्तर की वाइफ का रोल प्ले किया था। इस फिल्म के अलावा उन्होंने 'लाइफ पार्टनर' (2009), 'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई' (2010), 'तेरी मेरी कहानी' (2012), 'बोल बच्चन' (2012), 'आई मी और मैं' (2013), 'पुलिसगिरी' (2013), 'एक विलेन' (2014), 'अजहर' (2016) जैसी फिल्मों में काम किया है। हालांकि, वे इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाबी हासिल नहीं कर पाईं।


करन सिंह ग्रोवर
बिपाशा बसु के पति करन सिंह ग्रोवर ने कई टीवी सीरियलों में काम किया है, लेकिन फिल्मों में उनका जादू नहीं चल पाया। उन्होंने 'भ्रम' (2008), 'आईएम' 24 (2012), 'अलोन' (2015), 'हेट स्टोरी 3' (2015) जैसी कई फिल्मों में काम किया, लेकिन टीवी की तरह फिल्मों में उनका जादू नहीं चला। करन ने 'कितनी मस्त हैं जिदंगी' (2005), 'कसौटी जिदंगी की' (2006), 'परिवार' (2007), 'दिल मिल गए' (2010), 'कुबूल है' (2013) सहित कई पॉपुलर टीवी सीरियलों में काम किया है।

श्वेता तिवारी ने जितनी पॉपुलैरिटी टीवी सीरियलों में हासिल उतनी वे फिल्मों में हासिल नहीं कर पाईं। श्वेता ने हिंदी के अलावा कई भाषाओं की 12 फिल्मों में काम किया, लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली। टीवी सीरियल की बात करें तो श्वेता ने 'कहीं किसी रोज' (2001), 'कसौटी जिदंगी की' (2008), 'जाने क्या बात हुई' (2008), 'नागिन' (2007), 'परवरिश' (2011), 'बालवीर' (2014) सहित अन्य में काम किया है। वहीं उनकी कुछ फिल्मों की बात करें तो इनमें 'मदहोशी' (2004), 'अपनी बोली अपना देस' (2009), 'बिन बुलाए बाराती' (2011), 'मिले ना मिले हम' (2011) जैसी फिल्में शामिल हैं।

पुलकित सम्राट ने 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' (2006) और 'कहो ना प्यार है' (2008) शो में काम किया और फेमस हुए। फिल्मों में काम करने के लिए उन्होंने टीवी को अलविदा कह दिया। हालांकि, वे फिल्मों में सफलता हासिल नहीं कर पाए। उन्होंने 'बिट्टू बॉस' (2012), 'फुकरे' (2013), 'जय हो' (2014), 'ओ तेरी' (2014), 'डॉली की डोली' (2015), 'सनम रे' (2016), सहित अन्य फिल्मों में काम किया है।

ग्रेसी सिंह ने टीवी सीरियल अमानत (1997) से अपना एक्टिंग करियर शुरू किया था। इसी के साथ उन्होंने पृथ्वीराज चौहान (1998), हूतूतू (1999) सीरियलों में काम किया। 2001 में उन्हें फिल्म 'लगान' में लीड रोल ऑफर हुआ और उन्होंने टीवी सीरियलों को अलविदा कहकर फिल्मों की ओर रूख किया। लगान के अलावा उन्होंने अरमान (2003), गंगाजल (2003), मुन्ना भाई एमबीबीएस (2004), मुस्कान (2004), ये है जिदंगी (2005) सहित कई फिल्मों में काम किया है। उन्होंने साउथ की फिल्मों में भी काम किया है। ग्रेसी भी फिल्मों में अपनी पहचान नहीं बना पाईं।

राजीव खंडेलवाल ने कई फेमस टीवी सीरियलों में काम किया, लेकिन बॉलीवुड में वे भी अपनी पहचान नहीं बना पाए। उन्होंने टीवी सीरियल 'क्या हादसा क्या हकीकत' (2002), 'कहीं तो होगा' (2005), 'डील या नो डील' (2006), 'लेफ्ट राइट लेफ्ट' (2007) में किया है। वहीं उन्होंने 'आमिर' (2008), 'टेबल नं. 21' (2013), 'फीवर' (2016), 'पीटर गया काम से' (2014) सहित अन्य में काम किया है।

आमना शरीफ ने भी टीवी के साथ ही फिल्मों में काम किया है। लेकिन टीवी में उन्हें जितनी पॉपुलैरिटी मिली उतनी उन्हें फिल्मों में नहीं मिल पाई। उन्होंने टीवी सीरियल 'कहीं तो होगा' (2007), 'होंगे जुदा ना हम' (2013), 'एक थी नायिका' (2013) में काम किया है। वहीं, उन्होंने 'आलू चाट' (2009), 'आओ विश करें' (2009), 'शक्ल पे मत जा' (2011), 'एक विलेन' (2014) फिल्मों में काम किया है।

गुरमीत चौधरी ने 'रामायण' (2008), 'गीत- हुई सबसे पराई' (2009), 'पुनर्विवाह' (2013) सीरियलों में काम कर पॉपुलैरिटी हासिल की। वहीं, उन्होंने फिल्म 'कोई आप सा' (2005), 'खामोशियां' (2015), 'मिस्टर एक्स' (2015), 'वजह तुम ही हो' (2016), 'लाली की शादी में लड्डू दीवाना' (2017) फिल्मों में काम किया। लेकिन सफलता हासिल नहीं कर पाए।

Click to listen..