वैलेंटाइन डे / माधुरी के सपनों को अपना ख्वाब बनाकर श्रीराम ने दी प्यार की सबसे बेहतर सौगात



valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
X
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene
valentine day special love story of madhuri dixit and shriram nene

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 01:19 PM IST

बॉलीवुड डेस्क. कहते हैं मोहब्बत का दस्तूर ही ऐसा है कि जब ये परवान चढ़ता है तो कुछ नजर नहीं आता...कुछ ऐसे ही 1999 में बॉलीवुड की धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित का दिल श्रीराम नेने के लिए धड़कने लगा। यहां माधुरी खुद सुना रहीं हैं अपनी प्रेमकहानी।

 

भा गई श्रीराम की संजीदगी: "मैं श्रीराम की जिस खूबी पर फिदा हुई थी, वह यह थी कि उन्हें एक्ट्रेस माधुरी नहीं, सिर्फ माधुरी से प्यार हुआ था। उन्हें तो यह तक पता नहीं था कि मैं इंडिया में कितनी पॉपुलर हूं। पहली मुलाकात उन्होंने मुझे एक सिंपल लड़की की तरह ही ट्रीट किया। उन्होंने जिस जुनून के साथ अपने प्रोफेशन और अपने मरीजों के बारे में बातें शेयर की थीं, वे मेरे दिल को छू गईं। उनकी संजीदगी मुझे भा गई।"

 

पहली डेट पर माउंटेन बाइकिंग पर ले गए थे श्रीराम: माधुरी बताती हैं कि पहली मुलाकात के बाद हम दोनों ने एक-दूसरे को कुछ समय तक डेट किया। वे अमेरिका में रहते थे, मैं यहां इंडिया में। हम लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशन में भी रहे, फिर भी एक-दूजे को बखूबी समझा। हमारी पसंद भी अलग थीं। पहली डेट पर वे मुझे माउंटेन बाइकिंग पर ले गए थे। यह मेरे लिए अजीबोगरीब अनुभव था। 

 

ड्रेसिंग पर मीठी नोकझोंक: माधुरी बताती हैं कि हम दोनों के ओपिनियन्स सेम नहीं हैं, पर हां गोल जरूर सेम हैं। ड्रेसिंग को लेकर हमारे बीच मीठी नोकझोंक होती रहती है। बच्चों के लिए डिसीजन को लेकर भी कभी कभार नोकझोंक होती रहती है। बहरहाल, मेरे कॅरिअर को लेकर वे इंडिया शिफ्ट हो गए। मेरे सपनों को अपना ख्वाब बनाया। उसे साकार करने में मेरा पूरा साथ दिया। मेरे लिए इससे बेहतर प्यार की सौगात और क्या हो सकती है?' लोग कहते हैं कि भला यह कैसे मुमकिन है कि नेने को मेरे बारे में पता तक नहीं था।

COMMENT